करंट से युवक और महिला की मौत, विरोध में जाम

जिले के कुशेश्वरस्थान और बहेड़ी थाने क्षेत्र में रविवार को विद्युत स्पर्शाघात की अलग-अलग घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गई।

JagranPublish:Mon, 25 Mar 2019 12:44 AM (IST) Updated:Mon, 25 Mar 2019 12:44 AM (IST)
करंट से युवक और महिला की मौत, विरोध में जाम
करंट से युवक और महिला की मौत, विरोध में जाम

दरभंगा । जिले के कुशेश्वरस्थान और बहेड़ी थाने क्षेत्र में रविवार को विद्युत स्पर्शाघात की अलग-अलग घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गई। इसके बाद लोगों ने जमकर बवाल किया। सड़क जामकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। पहली घटना कुशेश्वरस्थान थाने क्षेत्र के नारायणपुर गांव में घटी। 11 केवीए के तार में चपेट में आने से स्थानीय निवासी कुंदन मुखिया (25) की मौत हो गई। जबकि, उसकी पत्नी चुनचुन देवी बुरी तरह से झुलस गई। उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना के विरोध में लोगों ने सतीघाट चौक पर शव रखकर स्टेट हाइवे-56 का यातायात ठप कर दिया। बताया जाता है कि कुंदन अपनी खेत में मकई का पटवन कर रहा था। इसी बीच खेत के ऊपर से गुजर रहे जर्जर 11 केवीए का तार टूट कर गिर गया। जिसके चपेट में आने से पति की मौत हो गई। जबकि, पत्नी झुलस गई। काफी देर तक सड़क जाम रहने की सूचना पर सीओ मनोज कुमार श्रीवास्तव और थानाध्यक्ष मनीष कुमार मौके पर पहुंच कर लोगों को समझाने की कोशिश की। लेकिन, कोई मानने को तैयार नहीं हुए। सभी मुआवजा की मांग पर अड़े थे। इसके बाद बड़गांव पंचायत के पूर्व मुखिया बादल सिंह ने पहल कर लोगों को समझाया और विद्युत विभाग के सहायक अभियंता से बात कराया। विभाग ने चार लाख रुपये मुआवजा का आश्वासन दिया। इसके बाद लोग जाम हटाने को राजी हो गए। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजन को शव सौंप दिया। इधर, बहेड़ी के पघारी गांव स्थित पंचायत भवन परिसर में विद्युत स्पर्शाघात से स्व. जामुन यादव की पत्नी ठकनी देवी (60) की मौत हो गई। बताया जाता है कि वह एलटी तार के नीचे बैठकर गोईठा ठोंक रही थी। इसी बीच जर्जर एलटी तार टूटकर नीचे गिर गया और उसके चपेट में ठकनी देवी आ गई। घटना के विरोध में आक्रोशित लोगों ने शव को सड़क पर रखकर बहेड़ी-लहेरियासराय मार्ग को जाम कर दिया। अंचलाधिकारी विमल कुमार कर्ण ने लोगों को समझाने की काफी मशक्कत की। इसके बाद परिजनों को उन्होंने परिवारिक लाभ योजना से 20 हजार और कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत 3 हजार रुपये का चेक प्रदान किया। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना से मकान उपलब्ध कराने तथा विद्युत विभाग की ओर से 4 लाख रुपये मुआवजा दिलवाने का आश्वासन दिया। सीओ ने वार्ता दौरान गांव के सभी जर्जर तार को बदलवाने का भी आश्वासन दिया। समझौता में सामाजिक कार्यकर्ता प्रदीप कुमार चौधरी, गुडु सिंह आदि लोग शामिल थे।