ठंड व कोहरे के आगोश में जनजीवन

ठंड व कोहरे के आगोश में जनजीवन

ठंड व घने कोहरे से लोगों को निजात नहीं मिल रही है। पिछले एक सप्ताह से यह सिलसिला जारी है।

Publish Date:Sun, 31 Dec 2017 01:31 AM (IST) Author: Jagran

दरभंगा। ठंड व घने कोहरे से लोगों को निजात नहीं मिल रही है। पिछले एक सप्ताह से यह सिलसिला जारी है। लोगों का जनजीवन पूरी तरह से अस्तव्यस्त हो गया है। दोपहर में एक-दो घंटे के लिए धूप निकलती है। इससे कुछ देर से लिए लोगों व मवेशियों को राहत मिलती है। फिर शाम ढलते ही ठंड व कोहरे पूरे वातावरण को अपने आगोश में ले लेता है। सड़कों पर से लोगों का घर जाना शुरू हो जाता है। कोहरे के कारण ट्रेनों की लेटलतीफी से जारी है। इसके कारण लोगों को ठंड भरी रातों में घंटों ट्रेनों का इंतजार करना पड़ता है। ठंड के कारण अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ गई है। यहां ठंड से रबी फसलों में थोड़ी जान आई है।

केवटी से संस के मुताबिक कड़ाके की ठंड और कोहरे का कहर जारी है। शनिवार को पूरा प्रखंड अस्त - वयस्त रहा । अहले सुबह से ही कोहरे की घनी चादर ने प्रखंड को अपने आगोश में छिपा लिया ।बर्फीले पछुआ हवा के झोंके घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं दे रहे थे। दोपहर में घूप निकली तो लोगों ने राहत महसूस की। शाम ढलते ही कोहरे की चादर ने पूरे वातावरण को अपने आगोश में ले लिया। ठंड के कारण रोज कमाने - खाने वाले रिक्शा, ठेला, चालक एवं दैनिक मजदूरों की आर्थिक स्थिति दयनीय हो गई है। घर चलाना मुश्किल हो गया है। उन्हें मजदूरी नहीं मिल रही है। ठंड से बचाव के लिए लोग अलाव सेकते नजर आए। अल्हे सुबह कोहरे के चलते दरभंगा - जयनगर राष्ट्रीय राजमार्ग 105 , मब्बी - कमतौल एसएच 75 , रनवे - रैयाम, मुहम्मदपुर - शिवघारा, हाजीपुर - छतवन, रैयाम - छतवन, छतवन - मुरिया , मुहम्मदपुर - कोठिया आदि मार्गों पर वाहनों की रफ्तार थमी रही।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.