रसोइया और नाविकों का भुगतान प्राथमिकता के आधार पर कराएं : डीएम

जिले में चलाए जा रहे बाढ़ राहत कार्य एवं सामुदायिक किचन की सभी पंजियों का संधारण अच्छी तरह से करना सुनिश्चित करें। क्योंकि भविष्य में पंजी के आधार पर ही भुगतान किया जाता है। इसलिए सभी पंजी का सही तरीके से संधारण आवश्यक है।

JagranSun, 25 Jul 2021 12:39 AM (IST)
रसोइया और नाविकों का भुगतान प्राथमिकता के आधार पर कराएं : डीएम

दरभंगा । जिले में चलाए जा रहे बाढ़ राहत कार्य एवं सामुदायिक किचन की सभी पंजियों का संधारण अच्छी तरह से करना सुनिश्चित करें। क्योंकि भविष्य में पंजी के आधार पर ही भुगतान किया जाता है। इसलिए सभी पंजी का सही तरीके से संधारण आवश्यक है। उपरोक्त बातें जिलाधिकारी डा. त्यागराजन एसएम ने कही। वे शनिवार को आंबेडकर सभागार में जिले में बाढ़ की स्थिति एवं चलाए जा रहे बाढ़ राहत कार्य की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। कहा- कई स्थानों पर निरीक्षण के क्रम में पाया गया है कि कई जगहों पर सामुदायिक रसोई में पंजियां ठीक से संधारित नहीं की जा रही है। उन्होंने बेनीपुर के जरिसो पंचायत का उदाहरण दिया। कहा कि एक जगह पंजी ठीक से संधारित नहीं था, जबकि उसी पंचायत में दूसरी जगह लवानी में पंजी बिल्कुल सही तरीके से संधारित किया गया था, जिसे जिले का मॉडल भी बनाया जा सकता है। उन्होंने डीपीओ (मध्याह्न भोजन) को निर्देशित किया गया कि शिक्षा विभाग, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी एवं संकुल केंद्र प्रभारी की टीम बनाकर सभी सामुदायिक रसोई का भ्रमण करवाए एवं सभी पंजियों का ठीक से संधारण करवाएं।

जिलाधिकारी ने कहा कि सामुदायिक रसोई के प्रभारी शिक्षक का पंजी के सभी पन्नों पर हस्ताक्षर रहनी चाहिए। इसके साथ ही अंचलाधिकारी का भी समय अंतराल पर प्रतिहस्ताक्षर होना चाहिए। कुछ जगहों पर रसोइयों का भुगतान नहीं होने की शिकायत मिल रही है। मध्याह्न भोजन के खाते में बाढ़ संबंधित राशि, जो वर्ष 2020 के लिए भेजी गई है, उस राशि की निकासी कर बाढ़ मद के बकाये राशि की भुगतान किया जा सकता है। कहा कि रसोइया का भुगतान साप्ताहिक रूप से कराया जाए। इसके लिए सभी अंचलाधिकारी को राशि उपलब्ध कराई गई है। नाविकों के भुगतान भी प्राथमिकता के आधार पर किया जाए। उन्होंने सभी वरीय प्रभारी पदाधिकारी को 26 जुलाई को अपने-अपने प्रखंड में भ्रमण कर उपलब्ध कराई गई चेक लिस्ट के अनुसार जांच प्रतिवेदन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पॉलीथीन, पशुचारा, सामुदायिक किचन की जहां भी आवश्यकता हो, वहां उपलब्ध कराया जाए। बाढ़ प्रभावित गांवों के लाभुकों की सूची पीएफएमएस पर अद्यतन कर लेने का निर्देश दिया। सभी संबंधित अंचलाधिकारी को बाढ़ प्रभावित गांवों को प्रतिदिन चिन्हित करते रहने का निर्देश दिया। कहा कि प्रतिदिन पानी बढ़ता और घटता है। नए-नए गांवों में प्रवेश करता है और निकलता रहता है। इसके बाद डीएम ने बारी-बारी से बाढ़ प्रभावित अंचलों के अंचलाधिकारियों से फीडबैक लिया।

कुशेश्वरस्थान के पांच पंचायत पूर्णरूप से वहीं छह आंशिक रूप से बाढ़ प्रभावित

कुशेश्वरस्थान के अंचलाधिकारी ने बताया कि उनके अंचल के पांच पंचायत पूरी तरह एवं छह पंचायत आंशिक रूप से बाढ़ प्रभावित हैं। वर्तमान में तीन पंचायतों में पानी बढ़ रहा है। छह स्थानों पर सामुदायिक किचन चलाया जा रहा है। आवागमन के लिए 23 सरकारी नाव का परिचालन कराया जा रहा है। किरतपुर के अंचलाधिकारी ने बताया कि किरतपुर की तीन पंचायत आंशिक रूप से बाढ़ प्रभावित है। पांच नाव चल रहे हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि उन स्थलों पर कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की जाए, जहां से नाव का परिचालन किया जाता है, ताकि कहीं भी नाव दुर्घटना नहीं हो सके। गौड़ाबौराम के संबंध में बताया गया कि तीन पंचायत के चार गांव आंशिक रूप से बाढ़ प्रभावित हैं। बहादुरपुर सीओ ने बताया कि बहादुरपुर में पानी घट रहा है। वर्तमान में वहां 21 सामुदायिक किचन चलाया जा रहा है। हनुमाननगर सीओ ने बताया कि उनकी दो पंचायत पूरी तरह एवं तीन आंशिक बाढ़ प्रभावित हैं।

जिलाधिकारी ने बैठक में बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल के अभियंताओं को बांध पर निगरानी रखने, कार्यपालक अभियता, पीएचइडी को संबंधित अंचलाधिकारियों से समन्वय स्थापित कर आवश्यकतानुसार चापाकल गड़वाने, ग्रामीण कार्य विभाग को क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत करवाने को कहा। वहीं, सिविल सर्जन डा. संजीव कुमार सिन्हा को निर्देशित किया कि जिन गांवों से पानी निकल गया है, वहां ब्लीचिग पाउडर का छिड़काव कराएं। साथ ही जहां भी सामुदायिक किचन चल रहा है, वहां ब्लीचिग पाउडर का छिड़काव कराया जाए तथा बाढ़ आश्रय स्थलों पर कोविड-19 टेस्टिग एवं कोविड-19 टीकाकरण करवाया जाए। मौके पर सहायक समाहत्र्ता अभिषेक पलासिया, अपर समाहत्र्ता विभूति रंजन चौधरी, उप निदेशक, जन संपर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, अनुमंडल पदाधिकारी सदर राकेश कुमार गुप्ता, जिला परिवहन पदाधिकारी रवि कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

-------------

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.