लालबाग के लाल डॉ. आनंद मोहन यूजीसी केयर लिस्टेड जर्नल के समीक्षक मनोनीत

लालबाग के लाल डॉ. आनंद मोहन यूजीसी केयर लिस्टेड जर्नल के समीक्षक मनोनीत

दरभंगा। दरभंगा शहर के लालबाग निवासी मिथिला विवि के पूर्व डीएसडब्लू प्रो. प्रभू नारायण झा के

JagranMon, 10 May 2021 11:26 PM (IST)

दरभंगा। दरभंगा शहर के लालबाग निवासी मिथिला विवि के पूर्व डीएसडब्लू प्रो. प्रभू नारायण झा के पुत्र डॉ. आंनद मोहन झा यूजीसी केयर लिस्टेड जर्नल के समीक्षक मनोनीत हुए हैं। आंनद मोहन भूपेंद्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा के अधीन मनोहरलाल टेकरीवाल महाविद्यालय सहरसा में रसायन विज्ञान के अतिथि सहायक प्राध्यापक के रूप में कार्यरत हैं। इन्हें यूजीसी केयर लिस्टेड जर्नल इंटरनेशनल जर्नल आफ लाइफसाइंस एंड फार्मा रिसर्च का समीक्षक मनोनीत किया गया है। समीक्षक मनोनयन के बाद उन्होंने अंतरराष्ट्रीय देशों के शोधकर्ताओं द्वारा भेजे गए शोध पत्रों की समीक्षा भी की है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ लाइफसाइंस एंड फार्मा रिसर्च एक शोध पत्रिका है। इस शोध पत्रिका का उद्देश्य एशिया एवं अन्य देशों में लाइफसाइंस और फार्मा के सभी क्षेत्रों में उच्च गुणवत्ता वाले शोध प्रकाशित करना है। चयन समिति ने इनकी प्रोफाइल, शिक्षण कार्य, शोध कार्य के आधार पर समीक्षक मनोनीत किया तथा एडिटोरियल बोर्ड का सदस्य भी बनाया है। समीक्षक मनोनीत होने पर ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के शिक्षकों में भी खुशी देखी जा रही है।

डॉ. आनंद मोहन झा के अब तक 17 से अधिक शोधपत्र प्रकाशित हुए हैं

डॉ. आनंद मोहन झा के 17 से अधिक शोधपत्र अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय जर्नल में प्रकाशित हुए हैं। इनमें प्रमुख टेलर एंड फ्रांसिस के सुप्रामोलीक्यूलर केमेस्ट्री जर्नल, हेटेरोसाइक्लिक लेटर्स, इंटरनेशनल जर्नल ऑफ लाइफसाइंस एंड फार्मा रिसर्च, जर्नल आफ बायोलॉजिकल एंड केमिकल क्रानिकल्स, एशियन जर्नल ऑफ केमेस्ट्री, इंडियन जर्नल ऑफ हेटरोसाइक्लिक केमेस्ट्री आदि प्रमुख है।

अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय सेमिनार में लिया भाग

प्राध्यापक डॉ. आनंद मोहन झा ने अब तक 15 से अधिक अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय सेमिनार में भाग ले चुके हैं। वहीं अब तक दो सौ से अधिक अंतरराष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय वेबीनार में भी भाग ले चुके हैं। शोध के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए 12 सितंबर 2020 को बेंगलुरू में एमटीसी ग्लोबल इंस्पायरिग टीचर अवार्ड रसायनशास्त्र से सम्मानित हो चुके हैं। इन्हें एकेडमिक एक्सीलेंस अवार्ड से भी नवाजा जा चुका है। ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय से स्नातक उत्तीर्ण डॉ. झा ने विश्वविद्यालय में रसायन शास्त्र में प्रथम स्थान प्राप्त किया था। वहीं स्नातकोत्तर में ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के वर्ष 2014 के पीजी के ओवरऑल टॉपर (बेस्ट पोस्टग्रेजुएट) तथा रसायन शास्त्र के टॉपर होने के कारण बिहार के तब के कुलाधिपति जो वर्तमान में भारत के राष्ट्रपति रामनाथ गोविद के द्वारा दो गोल्ड मेडल से सम्मानित हो चुके हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.