कोविड-19 का टीका लगाए जाने के 43 दिनों बाद होता असर : मुख्य सचिव

कोविड-19 का टीका लगाए जाने के 43 दिनों बाद होता असर : मुख्य सचिव

दरभंगा। कोविड-19 के टीके का असर टीका लगाए जाने के 43 दिनों के बाद होता है। किसी व्यक्ति

JagranTue, 12 Jan 2021 12:38 AM (IST)

दरभंगा। कोविड-19 के टीके का असर टीका लगाए जाने के 43 दिनों के बाद होता है। किसी व्यक्ति को पहले दिन के टीका लगाने के 28वें दिन पुन: टीका लगाया जाएगा और उसके 15 दिनों के बाद उसके शरीर में एंटीबॉडी यानि प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। इसलिए जिन्हें भी टीका लगाया जाएगा, उन्हें 45 दिनों तक कोविड-19 से बचाव के लिए निर्धारित गाइडलाइन का पालन करना होगा। उपरोक्त बातें सूबे के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहीं। वे सोमवार को कोविड-19 टीकाकरण को लेकर अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेसिग के माध्यम से संबोधित कर रहे थे। कहा- बड़े पैमाने पर टीकाकरण की शुरुआत होने वाली है। हो सकता है कि एक दो लोगों में कुछ विपरीत शारीरिक प्रतिक्रिया देखने को मिले। लेकिन, इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है। अमूमन व्यापक पैमाने के सभी टीकाकरण में इस तरह के मामले देखने को मिलते है। पोलियो के टीकाकरण में भी कभी-कभी किसी बच्चे में विपरीत प्रतिक्रिया दिखती रही है और अभी भी यह ²श्य सामने आता है। इसका मतलब यह नहीं है कि टीका में किसी प्रकार की कोई खराबी है। उन्होंने इस कार्यक्रम से इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, रोटरी क्लब, लायंस क्लब, एनएसएस, एनवाइके सहित सभी संस्थाओं को जोड़ने का निर्देश दिया। बैठक को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने जिलाधिकारी को 16 जनवरी से किए जाने वाले पहले चरण के टीकाकरण की पूरी तैयारी कर लेने के निर्देश दिए। ऑनलाइन बैठक में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम, डीएमसीएच के प्राचार्य डॉ. एसएन झा, सिविल सर्जन डॉ. संजीव कुमार सिन्हा, डीएमसीएच अधीक्षक डॉ. मणिभूषण शर्मा, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अमरेंद्र कुमार मिश्र, डब्ल्यूएचओ के डॉ. वासव राज, केयर इंडिया की जिला समन्वयक श्रद्धा झा, यूएनडीपी के पंकज कुमार, यूनिसेफ के ओमकार चंद्र एवं जिला स्वास्थ्य प्रबंधक विशाल कुमार मौजूद थे।

--------

जिले में कोविड टीकाकरण की व्यापक तैयारी करने का डीएम ने दिया निर्देश

जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने ऑनलाइन बैठक के बाद जिला स्वास्थ्य समिति को कोविड-19 के पहले चरण के टीकाकरण के लिए व्यापक पैमाने पर तैयारी करने का निर्देश दिया। कहा- हर-हाल में टीकाकरण को ले पुख्ता इंतजाम करें। उन्होंने चिकित्सा पदाधिकारी सहित स्वास्थ्य समिति के तमाम अधिकारियों को कई आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

--------

पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को लगाया जाएगा टीका

कोविड-19 के विरुद्ध शरीर में प्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न करने के लिए सभी व्यक्तियों को टीका लगाया जाएगा। पहले चरण के टीकाकरण की शुरुआत 16 जनवरी से की जाएगी। पहले चरण के टीकाकरण में स्वास्थ्य कार्य से जुड़े लोगों का टीकाकरण (वैक्सीनेशन) होगा। जिनमें सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों, निजी क्लिनिकों व नर्सिंग होम, निजी हॉस्पिटल में कार्य करने वाले सभी चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मियों, आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका एवं आशा कार्यकर्ता शामिल हैं।

------------

केवल पंजीकृत स्वास्थ्यकर्मियों को लगाया जाएगा टीका

पहले चरण में कोविड टीकाकरण केवल पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों को ही लगाया जाएगा। इसके लिए जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा स्वास्थ्य विभाग के पोर्टल पर सरकारी एवं निजी स्वास्थ्य कर्मियों चिकित्सकों के नाम एवं बायोडाटा संकलित कर डाटा अपलोड किया जा रहा है। निजी क्लिनिक व नर्सिंग होम के स्वास्थ्य कर्मियों के लिए डाटा अपलोड करने की अंतिम तिथि 12 जनवरी है।

यदि अभी तक किसी निजी चिकित्सक या निजी स्वास्थ्य कर्मी ने अपना नाम और डाटा अपलोड नहीं कराया है तो जिला स्वास्थ्य समिति के डीएमइओ ब्रजेश कुमार के मोबाइल नंबर 94710 07351 पर संपर्क कर अपना नाम व डाटा अपलोड करवा सकते हैं। वैसे सीधे स्टेट हेल्थ सोसाइटी के वेबसाइट पर भी अपने नाम की प्रविष्टि कर सकते हैं।

--------

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.