चुनाव से पहले पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी

चुनाव से पहले पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी
Publish Date:Sun, 27 Sep 2020 09:12 PM (IST) Author: Jagran

बक्सर : राज्य में आसन्न विधान सभा चुनाव के पूर्व पुलिस लगातार अपराधियों के खिलाफ अभियान चला रही है। इस दिशा में शनिवार की रात पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार सिंह ने इसका खुलासा करते हुए बताया कि हथियारों और चोरी के पांच वाहनों के साथ पुलिस ने सात अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

एसपी ने बताया कि जिले में शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए पुलिस लगातार चुनावी कार्य में बाधा पहुंचाने वालों की धर पकड़ में लगी है। इसके लिए पुलिस द्वारा लगातार विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इस बीच शनिवार की रात चलाए गए विशेष अभियान के दौरान कृष्णाब्रह्मा थाना क्षेत्र के कृतसागर से सटे एनएच 84 पर विगत 24 सितम्बर को एक एलआइसी एजेंट से अपराधियों ने उसकी बाइक और बैग लूट ली थी। घटना की जानकारी मिलते ही कृष्णाब्रह्मा थाना में केस दर्ज करते हुए पुलिस अपराधियों की तलाश में लग गई थी। मामले के त्वरित अनुसंधान के लिए डुमरांव डीएसपी केके सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन करते हुए अनुसंधान शुरू कर दिया गया। तकनीकी आधार पर कांड का अनुसंधान के क्रम में मिली सूचना के आधार पर छतनवार गांव में छापेमारी करते हुए पुलिस ने चौगाई निवासी मनीष कुमार उर्फ मंगरू कमकर को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में अपराध स्वीकारोक्ति के साथ ही प्राप्त सूचना के आलोक में छापेमारी करते हुए चौगाई निवासी मनोज यादव को गिरफ्तार कर लिया गया। इनके पास से पुलिस ने एलआइसी एजेंट से लूटी गई बाइक और दो मोबाइल के अलावा एक देशी कट्टा, 6 जिदा कारतूस तथा 1600 ग्राम गांजा बरामद किया गया। एसपी ने बताया कि त्वरित अनुसंधान करते हुए अपराधियों की गिरफ्तारी में मिली सफलता के लिए छापेमारी टीम में शामिल कृष्णाब्रह्मा थानाध्यक्ष मनोरंजन प्रसाद राय, डीआइयू टीम के एसआइ आलोक कुमार, एएसआई राधामोहन सिंह तथा अन्य सभी पुलिस कर्मियों को पुरस्कृत किया जाएगा।

गिरफ्तार अपराधी का पूर्व से भी आपराधिक इतिहास

एसपी ने बताया कि बाइक लूट में गिरफ्तार मनीष कुमार के पूर्व से भी आपराधिक इतिहास की जानकारी मिली है। इसके पूर्व भी उसे कृष्णाब्रह्मा पुलिस द्वारा चोरी के इलजाम में जेल भेजा गया था, जहां से महज तीन दिन पहले छूट कर बाहर आने के साथ ही दुबारा अपराध में लग गया था।

चोरी के वाहनों की खरीद-बिक्री करते दो गिरफ्तार

जिले में चल रहे विशेष अभियान के तहत इटाढ़ी थाना द्वारा चोरी की दो बाइकों तथा एक ट्रैक्टर के साथ दो व्यक्तियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इसकी जानकारी देते पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस की डीआइयू टीम तथा इटाढ़ी थानाध्यक्ष को गुप्त सूचना मिली थी कि थाना क्षेत्र के जलवासी मोड़ पर चोरी के वाहनों की खरीद बिक्री चल रही है। सूचना के आलोक में जिला सूचना इकाई के प्रभारी एसआइ उदय प्रताप सिंह के नेतृत्व में तत्काल टीम गठित कर इटाढ़ी बसांव रोड पर जलवासी मोड़ के समीप छापेमारी की गई। जहां मौके से एक चोरी का महिद्रा ट्रैक्टर, एक लाल रंग की अपाचे बाइक तथा एक काले रंग की स्प्लेंडर बाइक बरामद किया गया। इस दौरान पुलिस ने घटनास्थल पर मौजूद इटाढ़ी निवासी आशीष चौहान तथा राहुल भर को गिरफ्तार कर लिया। जबकि पुलिस को देखते ही चार अपराधी घटनास्थल से फरार होने में कामयाब रहे। एसपी ने बताया कि सभी अपराधी उक्त स्थान पर चोरी का ट्रैक्टर बेचने के लिए आए थे तथा ग्राहक के आने का इंतजार कर रहे थे। इसके पहले कि वे लोग डील पूरी कर पाते पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के क्रम में फरार चारों अभियुक्तों के बारे में जानकारी मिलने के बाद उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छापेमारी जारी है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार आशीष चौहान का पूर्व से आपराधिक इतिहास रहा है तथा मुफ्फसिल थाना में उसके विरूद्ध आ‌र्म्स एक्ट में केस दर्ज है। अन्य अपराधियों के आपराधिक इतिहास के बारे में पता लगाया जा रहा है।

चार हथियारों के साथ तीन हथियार तस्कर गिरफ्तार

जिले में जारी विशेष अभियान के दौरान हथियारों के एक बड़े तस्कर गिरोह का पुलिस ने खुलासा किया है। इसकी जानकारी देते पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि औद्योगिक थाना क्षेत्र अंतर्गत बड़कागांव-सिमरी मुख्य पथ पर बेसरडीह स्थित मंदिर के पास हथियारों की अवैध खरीद बिक्री का बड़ा उील होने वाला है। सूचना के आलोक में सदर डीएसपी गोरख राम के नेतृत्व में पुलिस इंसपेक्टर मुकेश कुमार के साथ तत्काल टीम का गठन करते हुए छापेमारी की गई। शिव मंदिर के पास पहुंचने पर एक व्यक्ति हाथों में प्लास्टिक का थैला लिए दिखाई दिया, जो पुलिस को देखते ही भागने लगा। पुलिस बल के सहयोग से भाग रहे व्यक्ति को पकड़ने के बाद उसकी तलाशी के क्रम में प्लास्टिक के थैले से चार देशी कट्टा के अलावा पांच जिदा कारतूस बरामद किया गया। पूछताछ के दौरान उसकी पहचान सिमरी के रामोपट्टी निवासी गोलू पांडेय के रूप में की गई। गिरफ्तार युवक की निशानदेही पर पुलिस ने डुमरांव थाना के कुल्हवा निवासी मैनेजर शर्मा तथा प्रताप सागर निवासी सोनु यादव को गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार तीनों अपराधी लंबे समय से हथियारों की तस्करी में लगे हुए थे। एसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान पता चला है कि मनेजर शर्मा का एक बड़ा भाई लम्बे समय से हथियारों के निर्माण में लगा हुआ है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छापेमारी चल रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.