अनुसूचित महिलाओं से छेड़खानी, विरोध करने पर झोपड़ी में लगाई आग

अनुसूचित महिलाओं से छेड़खानी, विरोध करने पर झोपड़ी में लगाई आग

बक्सर नावानगर थाना क्षेत्र के सोनवर्षा ओपी क्षेत्र अंतर्गत रामनगर गांव के मुसहर टोली में मंगलवार

Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 04:57 PM (IST) Author: Jagran

बक्सर : नावानगर थाना क्षेत्र के सोनवर्षा ओपी क्षेत्र अंतर्गत रामनगर गांव के मुसहर टोली में मंगलवार की रात दबंगों ने जमकर उत्पात मचाया और कई झोपड़ियों में आग लगा दी। दबगों के साथ वारदात में शामिल स्थानीय चौकीदार ने टोले की महिलाओं के साथ छेड़खानी और अभद्रता की। आरोप यह भी है कि नशे में धुत्त दबंग चौकीदार और उसके साथियों ने हथियार के बल पर बस्ती के सारे लोगों को खदेड़ कर बाहर कर दिया। 40 से 50 की संख्या में महिलाओं और पुरुषों ने किसी तरह बच्चों के साथ भागकर अपनी जान बचाई और 40 किमी पैदल चलने के बाद अल सुबह जागरण कार्यालय पर फरियाद लेकर पहुंच गए।

जागरण की पहल पर एसपी ने पीड़ितों की फरियाद को सुना और सम्बन्धित थानाध्यक्ष को तत्काल आरोपित चौकीदार को गिरफ्तार करने का आदेश दिया। पुलिस अधीक्षक उपेंद्र नाथ वर्मा ने घटना की पुष्टि करते बताया कि प्रारंभिक जांच में सारे आरोप सही पाने के बाद चौकीदार को गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही उसके अन्य दो सहयोगियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की छापेमारी जारी है। एसपी ने बताया कि जांच में स्पष्ट हो गया है कि देर रात गांव का चौकीदार तेजनारायण अपने दो साथियों के साथ अनुसूचित बस्ती में पहुंचा था और उसने महिलाओं के साथ अभद्रता भी की है। एसडीपीओ डुमरांव तथा सोनवर्षा ओपी प्रभारी को घटना की जांच के लिए घटनास्थल पर भेजा गया था। इस मामले में पीड़ित परिवार के बयान पर सोनवर्षा ओपी में चौकीदार समेत दो अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। एसपी ने बताया कि दोषी चाहे कोई भी हो उसे किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जा सकता है।

बस्ती में मुर्गा लेने पहुंचा और करने लगा जबरदस्ती

अनुसूचित बस्ती की महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की यह घटना मंगलवार देर रात करीब 10 बजे की है। तब बस्ती के सारे लोग भोजन आदि से निवृत होकर सोने की तैयारी में थे। पूरी घटना की जानकारी देते मुसहरटोली निवासी फूलझारो देवी तथा मूसा मुसहर ने बताया कि जब सब लोग खा पीकर सोने की तैयारी कर रहे थे, उसी वक्त स्थानीय चौकीदार तेजनारायण अपने दो साथियों के साथ बाइक पर सवार होकर बस्ती में मुर्गा लेने पहुंच गए। तीनों के मुंह से शराब की दुर्गंध आ रही थी। बस्ती पहुंचते ही उनलोगों ने महिलाओं के साथ जबरदस्ती की कोशिश शुरू कर दी। इस दौरान दहशत फैलाने के उद्देश्य से उन्होंने 2 राउंड फायरिग भी की। छेड़खानी का विरोध करते मुसहर टोली के निवासियों ने आरोपित चौकीदार तथा उसके साथियों को पकड़ लिया तथा उनकी पिटाई करते हुए उसके पास से अवैध देसी कट्टा भी छीन लिया। बस्ती वालों की इस कार्रवाई के बाद चौकीदार अपने साथियों के साथ बाइक पर सवार होकर भाग गया, तथा कुछ ही देर बाद पुन: अपने कुछ अन्य साथियों के साथ पहुंचा और गोलीबारी करते बस्ती वालों को खदेड़ झोपड़ी में आग लगा दी। जान बचाकर किसी तरह वहां से भागे पीड़ितों ने रात भर पैदल चलकर जिला मुख्यालय पहुंचे। वहां किसी ने उन्हें दैनिक जागरण कार्यालय में पहुंच अपनी आपबीती सुनाने को कहा, जिसके बाद वे लोग सुबह में ही जागरण कार्यालय पहुंच गए। चौकीदार से छीनी गई पिस्टल भी वे लोग साथ लेकर पहुंचे थे।

दैनिक जागरण पर किया भरोसा

कहते हैं मुसीबत के समय किसी को भी सबसे पहले पुलिस की मदद लेने का ध्यान आता है। पर, जब चौकीदार ही भक्षक के रूप में नजर आने लगा तो मुसहर टोली के लोगों का विश्वास डगमगा गया और मदद की आस लिए दैनिक जागरण कार्यालय पहुंच गए। अपनी पीड़ा सुनाते हुए धर्मेद्र मुसहर, जेठू मुसहर और उषा देवी ने बताया कि उन लोगों ने रात में सोनवर्षा या नावानगर थाना जाने का प्रयास किया, लेकिन रास्ते में दबंग हथियार के साथ खड़े थे और थाना जाने पर जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद वे लोग पूरे कुनबे के साथ बक्सर के लिए चल पड़े।

नगर थाना ने लिया बयान

पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर नगर थाना की पुलिस त्वरित कार्रवाई करते सभी ग्रामीणों को जागरण कार्यालय से एकत्र कर नगर थाना ले गई। वहां उनकी पूरी बात सुनने के साथ ही पुलिस ने चौकीदार से छीनी गई पिस्टल कब्जे में लेते हुए एसपी को पूरी बात से अवगत कराया। एसपी ने डुमरांव डीएसपी और सोनवर्षा ओपी प्रभारी को तत्काल घटनास्थल की जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है। इस दौरान चौकीदार से छीनी गयी पिस्टल नगर थाना में जमा करा ली गई है।

एसपी के आदेश पर दर्ज हुई प्रथमिकी

पीड़ितों की पूरी बात सुनने और घटनास्थल की तस्दीक कराने के बाद पुलिस अधीक्षक उपेन्द्रनाथ वर्मा ने सभी को पुन: सोनवर्षा ओपी केस दर्ज करने के लिए भेज दिया। जहां पीड़ितों के बयान पर चौकीदार समेत तीन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर तत्काल पुलिस कार्रवाई शुरू कर दी गई। सोनवर्षा ओपी प्रभारी सुबोध कुमार ने बताया कि चौकीदार को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि उसके अन्य दो साथियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.