भोजपुर में तेज हवा, बारिश और वज्रपात से दो की मौत

आरा। भोजपुर में यास चक्रवात के कारण पिछले चार दिनों से जारी तेज हवा के साथ बारिश और वज्रपात के कारण अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि जिले के अलग-अलग अंचलों में एक दर्जन से अधिक मिट्टी खपड़पोस और झोपड़ीनुमा घर ध्वस्त हो गया है। शुक्रवार को जगदीशपुर अंचल के संगम टोला जंगलमहल में एक मिट्टी के घर के ध्वस्त हो जाने के कारण दबकर एक व्यक्ति की मौत हो गई थी।

JagranSat, 29 May 2021 11:49 PM (IST)
भोजपुर में तेज हवा, बारिश और वज्रपात से दो की मौत

आरा। भोजपुर में यास चक्रवात के कारण पिछले चार दिनों से जारी तेज हवा के साथ बारिश और वज्रपात के कारण अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि जिले के अलग-अलग अंचलों में एक दर्जन से अधिक मिट्टी, खपड़पोस और झोपड़ीनुमा घर ध्वस्त हो गया है। शुक्रवार को जगदीशपुर अंचल के संगम टोला, जंगलमहल में एक मिट्टी के घर के ध्वस्त हो जाने के कारण दबकर एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। जबकि, शनिवार को संदेश के खुटियारी में वज्रपात से एक युवक की मौत हो गई है। जिले भर में अलग-अलग स्थानों पर एक दर्जन से अधिक पेड़ उखड़ कर गिर गए हैं। शनिवार की सुबह 10 बजे रिमझिम बारिश हुई और दोपहर में आसमान साफ हो गया और धूप निकली। वहीं शाम में घंटे भर तेज हवा, वज्रपात के साथ मूसलाधार बारिश हुई। जिले में शनिवार की सुबह तक मामूली वर्षापात दर्ज किया गया है। हवा के साथ बारिश के कारण जिले के किसानों को आम, मूंग समेत सब्जी की फसल को भारी क्षति हुई है। जिले में सर्वाधिक वर्षापात सहार, कोईलवर और संदेश प्रखंड में दर्ज किया गया है, जबकि पीरो और जगदीशपुर प्रखंड में सबसे कम बारिश हुई है। पिछले चार दिनों से जारी बारिश के कारण आम जनजीवन प्रभावित हो गया है। राज्य सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग के आदेश पर भोजपुर में जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा के द्वारा जारी अलर्ट के बाद सामान्यत: लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकले, जिसके कारण सड़कों पर भी इस दौरान भीड़-भाड़ नहीं रहा। यास चक्रवात को लेकर जिला प्रशासन द्वारा जारी अलर्ट के बाद संबंधित विभागों के पदाधिकारी एवं कर्मी आपात स्थिति से निपटने के लिए मुस्तैद रहे। जिले में 30 मई तक यास चक्रवात का प्रभाव रहने और आंधी तूफान के साथ वज्रपात एवं बारिश होने की चेतावनी जारी की गई है। लोगों को खेतों एवं खुले मैदानों में जाने से भी परहेज करने की चेतावनी आपदा प्रबंधन विभाग ने जारी किया है।

------

सुबह में रुकी बारिश पर चेतावनी के कारण नहीं निकले लोग

जिले में यास चक्रवात को लेकर जारी अलर्ट और सुबह में बारिश रूकने के बाद भी लोग अपने अपने घरों से निकलने में परहेज किए, जिसके कारण सड़कें वीरान रहीं और सामान्य जनजीवन पूरी तरह प्रभावित रहा। इस दौरान लोग अपने-अपने घरों में रहना ही बेहद सुरक्षित समझे। फलस्वरूप शहर की सड़कों पर सन्नाटा का नजारा रहा तथा दुकानें भी पूरी तरह प्रभावित रही। इस दौरान जरूरी सेवाओं की दुकानें ही खुली रही।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.