top menutop menutop menu

प्रवासी मजदूर की संदेहास्पद स्थिति में मौत

आरा। भोजपुर जिले के कोईलवर स्थित क्वारंटाइन सेंटर से घर आए एक प्रवासी मजदूर की रविवार की देर रात संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई। बीमार प्रवासी ने कोईलवर पीएचसी में देर रात इलाज के दौरान दम तोड़ दिया । इस दौरान स्वजनों ने शव को घर ले जाना चाहा तो तो ग्रामीणों ने विरोध शुरू कर दिया। एम्बुलेंस से शव को नहीं उतरने दिया। इसके बाद शव को कोरोना जांच के लिए सदर अस्पताल, आरा लाया गया। मृतक 31 वर्षीय कमलेश कुमार कोईलवर के वार्ड संख्या -दो मुहल्ला का निवासी ललन प्रसाद का पुत्र था। शरीर में दर्द और कमजोरी की शिकायत थी। सोमवार को सदर अस्पताल, आरा में मृतक का सैंपल जांच के लिए गया। जिसे जांच के लिए एनएमसीएच,पटना भेजा जाएगा।

------

15 मई को गुजरात से आया था घर

बताया जा रहा कि कोईलवर नगर के वार्ड संख्या- दो निवासी युवक गुजरात के राजकोट स्थित एक निजी कंपनी में काम करता था। 15 मई को चेचेरे भाई के साथ ट्रेन से घर आया था। इसके बाद कोईलवर स्थित एक क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती कराया गया था। छोटे भाई के अनुसार जिस दिन उसका बड़ा भाई आया था उसी दिन क्वारंटाइन करा दिया गया था। बुखार,खांसी और सर्दी किसी तरह की शिकायत नहीं थी।

---------- एक रोज पहले क्वरंटाइन सेंटर से चला गया था घर

कोईलवर क्वारंटाइन सेंटर पर रह रहे युवक की रविवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई थी। इसके बाद क्वारंटाइन सेंटर से शौच के बहाने भागकर अपने घर चला गया था।बाद में स्वजनों ने रात में कोईलवर पीएचसी में भर्ती कराया था।जहां, देर रात 11बजे के बाद उसकी मौत हो गई। शरीर में दर्द और कमजोरी की शिकायत थी।

------

दो भाइयों में बड़ा था मृतक

बताया जा रहा कि कोईलवर निवासी मृतक कुल दो भाई था। जिसमें वह बड़ा था। शादी हो गई थी। लेकिन, कोई संतान नहीं था। गुजरात के राजकोट में मजदूरी कर अपने परिवार का जीवकोपार्जन चलाया करता था। लेकिन, होनी को कुछ और मंजूर था। मौत के बाद पत्नी और मां समेत छोटे भाई का रो-रोकर बुरा हाल था।

--------

बॉक्स

---

मुंबई से लौटे एक और प्रवासी मजदूर की संदेहास्पद मौत

-सदर अस्पताल में इलाज के लिए लाए जाने के बाद तोड़ा दम

जागरण संवाददाता, आरा: मुंबई से घर लौट रहे एक और प्रवासी मजदूर की सोमवार की दोपहर इलाज के दौरान मौत हो गई। सदर अस्पताल, आरा में इलाज के लिए लाए जाने के बाद उसने दम तोड़ दिया। जिसके बाद अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में खलबली मच गई। मृतक 30 वर्षीय जय प्रकाश शर्मा बड़हरा के शिवपुर गांव निवासी नंदजी शर्मा का पुत्र था। बताया जा रहा कि वह मुंबई में प्राइवेट नौकरी करता था। सोमवार की सुबह करीब 11 बजे के आसपास ट्रेन से आरा रेलवे स्टेशन पर उतरा था। इसके बाद थर्मल स्क्रीनिग के पश्चात उसे हर प्रसाद दास जैन कालेज सेंटर पर भेजा गया था। वहां से बड़हरा के क्वारंटाइन सेंटर पर जाने के लिए बस में सवार हुआ था कि अचानक हालत बिगड़ गई। जिसके बाद आनन-फानन में इलाज को सदर अस्पताल,आरा के इमरजेंसी कक्ष में लाया गया। जहां, उसने दम तोड़ दिया। मुंबई से आए प्रवासी की मौत के बाद खलबली मच गई। इससे पूर्व बड़हरा के बबुरा में पुणे से घर लौट रहे बक्सर जिले के प्रवासी मजदूर की मौत हो गई थी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.