अभियान : तैयारी अधूरी, दो आक्सीजन प्लांट में से एक भी चालू नहीं

भोजपुर जिले के दो सरकारी अस्पतालों में आक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी है पर फिलहाल दोनों का निर्माण अधूरा पड़ा है। दोनों में से एक भी प्लांट अब तक चालू नहीं हो पाया है। जबकि दूसरी लहर के पिक पर होने के दौरान आक्सीजन की किल्लत से अधिकांश मौतें हुई थीं।

JagranSun, 01 Aug 2021 10:27 PM (IST)
अभियान : तैयारी अधूरी, दो आक्सीजन प्लांट में से एक भी चालू नहीं

जागरण संवाददाता, आरा: भोजपुर जिले के दो सरकारी अस्पतालों में आक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी है, पर फिलहाल दोनों का निर्माण अधूरा पड़ा है। दोनों में से एक भी प्लांट अब तक चालू नहीं हो पाया है। जबकि दूसरी लहर के पिक पर होने के दौरान आक्सीजन की किल्लत से अधिकांश मौतें हुई थीं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक महज तीन महीने में 110 लोग अपनी जानें गंवाई थीं। जबकि उस दौरान संक्रमितों के अलावा कई अन्य मरीजों की मौत भी आक्सीजन की कमी से हुई थी। ऐसे में तीसरी लहर से निबटने की तैयारियों के क्रम में निर्माणाधीन आक्सीजन प्लांटों में बेहतर विद्युत आपूर्ति के लिए दोनों जगह नया ट्रांसफार्मर लगाया गया है। इसके अलावा दोनों प्लांट में आटोमेटिक जेनरेटर भी लगाया जाएगा। ताकि आक्सीजन प्लांट का काम सुचारू ढंग से संचालित हो सके।

----

सदर अस्पताल में एसीएमओ कार्यालय के ठीक बगल में बन रहा प्लांट कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की तैयारियां इन दिनों जिला मुख्यालय स्थित सदर अस्पताल, आरा में जोरों पर है। यह प्लांट एसीएमओ कार्यालय के ठीक बगल में बनाया जा रहा है। जिसके आरंभ होने की अंतिम तिथि आगामी नौ सितंबर को निर्धारित की गई है। बता दें कि इन दिनों सदर अस्पताल के कोविड वार्ड में कोरोना से संबंधित भर्ती मरीजों की संख्या शून्य होने के बावजूद यहां 170 की संख्या में आक्सीजन सिलिडर उपलब्ध है, जिसमें से 100 सिलिडर को पूरी तरह से सुरक्षित रखा गया है। इसके अलावा अस्पताल में 160 आक्सीजन कंस्ट्रेटर भी उपलब्ध है, जिसमें 100 कंस्ट्रेटर को सुरक्षित रखा गया है। उपलब्ध 160 कंस्ट्रेटर में से 60 स्थानीय सांसद आरके सिंह के सहयोग से अस्पताल को उपलब्ध कराया गया था। सांसद के सहयोग से सदर अस्पताल में पर्याप्त मात्रा में मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स एवं और भी कई आवश्यक सामग्रियां उपलब्ध कराई गई है।

-- दुलौर में भी सबसे बड़े आक्सीजन प्लांट का चल रहा निर्माण

इधर जिला मुख्यालय स्थित सदर अस्पताल के अलावा जगदीशपुर अनुमंडल अस्पताल, का कार्य जोर शोर से चल रहा है। प्लांट में बेहतर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अलग से एक नया ट्रांसफर्मर लगाया जा चुका है। प्लांट के आरंभ होने की अंतिम तिथि आगामी नौ सितंबर को निर्धारित की गई है। बता दें कि इन दिनों जगदीशपुर के कोविड अस्पताल में कोरोना से संबंधित भर्ती मरीजों की संख्या शून्य होने के बावजूद यहां अनुमंडल अस्पताल में 20 बड़े तथा 10 की संख्या में छोटे आक्सीजन सिलिडर उपलब्ध है। इसके अलावा रेफरल अस्पताल जगदीशपुर में भी 10 छोटे आक्सीजन सिलिडर उपलब्ध है। ऐसे में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की तैयारियां फिलहाल संतोषजनक बताई जा रही है।

-------

कहते हैं सिविल सर्जन:

भोजपुर सिविल सर्जन डा. एलपी झा ने बताया कि आक्सीजन प्लांट के निर्माणाधीन भवन का निर्माण कार्य पूरा होते ही प्लांट से संबंधित सभी आवश्यक उपकरण राज्य मुख्यालय से मंगा लिया जाएगा। प्लांट चालू होने की अंतिम तिथि नौ अगस्त निर्धारित की गई है।

-- कहते हैं प्रबंधक

जगदीशपुर अनुमंडल अस्पताल के स्वास्थ्य प्रबंधक मनोज कुमार ने बताया कि कोरोना की तीसरी लहर की तैयारियों के क्रम में आक्सीजन प्लांट का निर्माण कार्य जोरों पर है। इसके लिए एक नया ट्रांसफार्मर लगाया गया है। फिलहाल अस्पताल में आक्सीजन सिलिडर भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

-----------

जानें, दूसरी लहर में कब हुई कितने संक्रमितों की मौत

माह मौत

अप्रैल 2021 14

मई 2021 40

जून 2021 56

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.