विज्ञान के सकारात्मक प्रयोग से ही समाज का कल्याण संभव, जानिए विशेषज्ञों का विचार

तीन दिवसीय राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर कार्यक्रम में उपस्थित छात्र-छात्राएं

विज्ञान हर नए अनुसंधान के साथ मानव जीवन को अधिक सरल बनाता चला जा रहा है। आज विज्ञान के बढ़ते चहुंओर विकास के कारण मानव दुनियां के हर क्षेत्र में अग्रसर दिखाई दे रहा है। विज्ञान की सहायता से ही हम गहरे पानी में सांस ले रहे हैं।

Amrendra kumar TiwariFri, 26 Feb 2021 04:22 PM (IST)

जागरण संवाददाता, मधेपुरा । बीपी मंडल अभियंत्रण महाविद्यालय में शुक्रवार से जिला स्तरीय राष्ट्रीय विज्ञान दिवस कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। तीन दिन तक चलने वाले कार्यक्रम का शुभारंभ प्राचार्य प्रो. अरविंद कुमार अकेला ने किया। मौके पर उन्होंने कहा कि विज्ञान हर नए अनुसंधान के साथ मानव जीवन को अधिक सरल बनाता चला जा रहा है। आज विज्ञान के बढ़ते चहुंओर विकास के कारण मानव दुनियां के हर क्षेत्र में अग्रसर दिखाई दे रहा है। मानव ने विज्ञान की सहायता से पृथ्वी पर उपलब्ध हर चीज को अपने काबू में कर लिया है। विज्ञान की सहायता से हम ऊंचे आसमान में उड़ सकते हैं व गहरे पानी में सांस ले सकते हैं।

कृषि के क्षेत्र में विज्ञान ने दिखाई प्रगति की राह

उन्होंने कहा कि चाहे चिकित्सा का क्षेत्र हो या कृषि या फिर इंजीनियरिंग विज्ञान ने हमें हर दिशा में प्रगति का राह दिखाई है। वहीं उन्होंने कहा कि विज्ञान का विकास है न की विनाश। उन्होंने कहा कि विज्ञान के नए नए शोधों के चलते मानव हर दिन एक नई मुसीबत से छुटकारा पा लेता है। 20 साल पहले मलेरिया जहां जानलेवा बीमारी मानी जाया करती अब विज्ञान की प्रगति के साथ मलेरिया एक आम बीमार बनकर रह गई है। उसी तरह यातायात के क्षेत्र को ही ले तो पाएंगे कि विज्ञान यातायात के क्षेत्र में दिन दूना और रात चौगुना तरक्की कर रहा है। कहां पहले एक जगह से दूसरे जगह जाने के लिए दिनों लग जाते थे। अब हवाई जहाज और तेज रफ्तार की ट्रेनों के दौर में पलक झपकते एक जगह से दूसरी जगह पहुंचा जा सकता है।

अब एक क्लिक पर मौजूद है खबरों का संसार

उसी तरह संचार के क्षेत्र में ऑनलाइन न्यूजपेपर, ऑनलाइन न्यूजसाइट पर एक क्लिक पर खबरों का संसार मौजूद है। वैश्वीकरण के इस दौर में दुनियां के चप्पे-चप्पे की खबर हम अपने मोबाइल की एक बटन दबाते ही जान लेते हैं। फेसबुक, ट्वि‍टर, वाट्सएप के सहारे चाहे हम अपने सगे संबंधियों से कितने ही दूर क्यों न हो। पर इन सबके माध्यम से अब हम उनसे 24 घंटे जुड़े रह सकते हैं।

संवाद दक्षता, चित्रांकण व क्विज प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

कार्यक्रम के नोडल पदाधिकारी प्रो. मुरलीधर प्रसाद सिंह ने बताया कि जिला स्तरीय कार्यक्रम में जिला के सभी सरकारी तथा निजी हाई स्कूल के 9 वीं से 12 वीं तक के छात्र व छात्राओं के लिए वैज्ञानिक व्याख्यान संस्थान के कर्मशाला व प्रयोगशाला का भ्रमण व उनके बीच संवाद दक्षता, चित्रांकण व क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम संयोजक प्रो. बिनोद कुमार व प्रो. रमेश कुमार ने बताया कि प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र- छात्राओ को क्रमश: 1000, 750 व 500 रुपया पुरस्कार दिए जाएंगे। सभी प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त छात्र-छात्राओं को पटना मुख्यालय के तारामंडल सभागार में पुरस्कृत किया जाएगा।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.