मुख्य सड़क से नहीं जुड़ पाया माधोपुर करहर महादलित टोला

मुख्य सड़क से नहीं जुड़ पाया माधोपुर करहर महादलित टोला

कहलगाव (भागलपुर)। कहलगाव प्रखंड नंदलालपुर पंचायत के माधोपुर करहर महादलित टोला आजादी के बाद स

JagranThu, 25 Feb 2021 05:23 AM (IST)

कहलगाव (भागलपुर)। कहलगाव प्रखंड नंदलालपुर पंचायत के माधोपुर करहर महादलित टोला आजादी के बाद से आजतक मुख्य सड़क से नहीं जुड़ पाया है। लाचार बीमार एवं प्रसव पीड़ा से परेशान महिलाओं को गाव से खाट पर लादकर मुख्य सड़क पर लाते हैं। उसके बाद वाहन से अस्पताल या चिकित्सक के पास ले जाते हैं।

मुख्यमंत्री की घोषणा सड़क विहीन हर गाव और टोला को मुख्य सड़क से जोड़ने की योजना का लाभ प्रशासन की लापरवाही के चलते इस महादलित टोला को नहीं मिल पाया है, जबकि ग्रामीण अधिकारियों के पास फरियाद करते-करते थक चुके हैं। गाव में करीब 100 से ऊपर महादलित परिवारों का घर है। मुख्य सड़क से नहीं जुड़ने के चलते बदतर जिंदगी गुजार रहे हैं। गाव में शादी के लिए आने वाली बरात गाड़ी को मुख्य सड़क पर ही छोड़कर पैदल ही गाव आना पड़ता है। अबतक कोई भी सासद गाव नहीं आया है। यही नहीं विधायक अमन कुमार को छोड़ कोई विधायक भी नहीं आया है ग्रामीणों का दुख दर्द सुनने। गाव में पीसीसी सड़क बनी है। बिजली और पेयजल की भी व्यवस्था है। गाव के अधिकाश लोग मजदूर हैं। ग्रामीण पारण दास ने मुख्य सड़क से गाव को जोड़ने के लिए दी गई आवेदनों का पुलिंदा दिखाते हुए कहा कि कोई सुनने वाला नहीं है। विधानसभा क्षेत्र महादलित के लिए आरक्षित होने के बाद आशा जगी थी कि कम से कम जात और समाज के लोग सड़क की समस्याओं का समाधान जरूर कर देंगे परंतु 10 साल गुजर जाने के बाद भी सड़क नसीब नहीं हो सका है। कहलगाव-बाराहाट मुख्य सड़क से वनस्पति के पास जोड़ना होगा। गाव और मुख्य सड़क के बीच एक तरफ निजी आम बगान है तो दूसरी तरफ खेत है। गोबर्धन दास ने कहा कि गाव और सड़क के बीच आधा दूरी तक सरकारी नाला कई फिट चौड़ा है, जिसके अतिक्रमण कर खेत मे मिला लिया गया है। इस नाले से बरसात का पानी बहता था। यदि इसे मुक्त करा दिया जाय तो बहुत ही कम जमीन सड़क के लिए भू अर्जन करना पड़ेगा। आम के मौसम में बगान मालिक रास्ता बंद कर देते हैं। दूसरी तरफ खेत मालिक मेढ़ पर काटा लगा देते हैं। आने जाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। सड़क के अभाव में गाव का विकास कार्य भी अवरुद्ध है। पंचायत के मुखिया प्रभा देवी ने बताया कि पंचायत फंड से सड़क के लिए जमीन अर्जन संभव नही है। अनेको बार अंचल, अनुमंडल कार्यालय को लिख कर दिया गया है। पंचायत के फंड से गाव में विकास कार्य कराए गए हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.