पुलिस अधिकारी को महंगी पड़ी रंगीनमिजाजी; लोगों ने उतारा था आशिकी का भूत, अब हुआ गिरफ्तार

मधेपुरा [जेएनएन]। बिहार में एक पुलिस अधिकारी की करतूत से फिर खाकी वर्दी शर्मसार हुई है। मामला मधेपुरा के चौसा थाना क्षेत्र के अंतर्गत फुलौत ओपी में पदस्थापित सहायक दारोगा (एएसआइ) के एक घर में आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ जाने का है। ग्रामीणों ने उसकी पिटाई कर इश्‍क का भूत उतार दिया। फिर, रात भर कमरे में बंधक बनाए रखा। शनिवार की सुबह में एसडीपओ व डीएसपी ने लोगों को समझाकर दारोगा को छुड़ाया। अब  प्रथमदृष्‍टया उसे दोषी मानते हुए उसे निलंबित करते हुए गिरफ्तार कर लिया गया है।

देर रात युवती के घर में घुस गया एएसआइ

बताया जाता है कि एएसआइ प्रभाकर राय रात में 11.15 बजे एक विधवा युवती के घर में घुस गया था। घर में युवती अपनी बेटी के साथ थी। जब काफी देर तक वह घर से नहीं निकला तो ग्रामीणों को शक हुआ। ग्रामीणों ने इसकी सूचना फुलौत ओपी प्रभारी को दी।

आपत्तिजनक स्थिति में देख ग्रामीणों ने की पिटाई

इसके बाद भी जब एएसआइ काफी देर तक बाहर नहीं आया तो ग्रामीण वहां पहुंच गए। ग्रामीणों के अनुसार उन्‍होंने एएसआइ को युवती के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देखकर उसकी पिटाई कर दी। साथ ही उसे बंधक बना लिया। घटना की जानकारी मिलने पर रात में पांच थानों की पुलिस के साथ डीएसपी सीपी यादव फुलौत पहुंचे। सुबह एसडीओ एसजेड हसन व डीएसपी सीपी यादव ने ग्रामीणों को समझाकर एएसआइ को छुड़ाया।

एएसआइ बोला: बुलावे पर खाना खाने गया था

घटना को लेकर बड़ी संख्या मे ग्रामीणों ने फुलौत ओपी प्रभारी को लिखित सूचना भी दी है। उधर, आरोपित एएसआइ का कहना है कि वह महिला के घर बुलावे पर खाना खाने गया था। उसने आपत्तिजनक हालत में होने की बात से इनकार किया है।

आरोपित निलंबित, गिरफ्तार

इस बाबत उदाकिशुनगंज के एसडीएम एसजेड हसन ग्रामीणों ने एक महिला के घर में एएसआइ प्रभाकर राय को पकड़ा। आरोपित दारोगा के खिलाफ ग्रामीणों की सूचना की जांच के आधार पर कार्रवाई की जा रही है। फिलहाल उसको निलंबित कर दिया गया है। लोगों की शिकायत पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। एसडीपीओ सीपी यादव ने कहा कि कानून सभी के लिए बराबर है।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.