सुधा दूध टैंकर तेजाब कांड: पटना से कहलगांव पहुंची CID टीम ने की जांच, पीड़ित परिजनों ने सुनाई पूरी दास्तां

सुधा दूध टैंकर तेजाब कांड को पांच साल हो गए हैं। मामले की जांच के लिए CID टीम पटना से भागलपुर के कहलगांव पहुंची। टीम ने पीड़ितों और उनके परिजनों से मुलाकात की और उनका बयान लिया। पूरी जांच रिपोर्ट मानवाधिकार आयोग को भेजी जाएगी।

Shivam BajpaiPublish:Sat, 27 Nov 2021 10:20 AM (IST) Updated:Sat, 27 Nov 2021 10:20 AM (IST)
सुधा दूध टैंकर तेजाब कांड: पटना से कहलगांव पहुंची CID टीम ने की जांच, पीड़ित परिजनों ने सुनाई पूरी दास्तां
सुधा दूध टैंकर तेजाब कांड: पटना से कहलगांव पहुंची CID टीम ने की जांच, पीड़ित परिजनों ने सुनाई पूरी दास्तां

संवाद सूत्र, कहलगांव : सुधा दूध टैंकर तेजाब कांड - मानवाधिकार आयोग के आदेश पर पांच साल पहले कहलगांव में शारदा पाठशाला के निकट एनएच 80 पर सुधा दूध टैंकर से गिरे तेजाब से एक ही परिवार के चार लोग झुलस गए थे। इनमें से एक की मौत हो गई थी। मामले की जांच पटना से आई सीआईडी टीम एवं उनके एसपी ने घटना स्थल पर पहुंचकर की। ये जांच रिपोर्ट आयोग को भेजी जाएगी।

टीम में एसपी तौहीद परवेज, इंस्पेक्टर के एन ङ्क्षसह एवं राजेश कुमार थे। इंस्पेक्टर  ने कहलगांव थाना परिसर में तेजाब पीडि़त घोघा बाजार निवासी निशिकांत ठाकुर, पत्नी रेखा देवी एवं मां चिंतामणि देवी से अलग-अलग बुलाकर घटना की जानकारी ली बाद में लिखित और रिकार्डिंग बयान लिया। इस मामले में हुए मुकदमा के एफआइआर एवं आज तक हुई कार्रवाई का भी अवलोकन किया। बाद में एसपी आए। उन्होंने ने भी तीनों तेजाब पीडि़तों को बुलाकर पूछताछ की।

मुकदमा के आइओ से जानकारी ली। घटनास्थल पर जाकर निरीक्षण किए तथा चोधरीटोला निवासी दुकानदार प्रभात कुमार एवं पठानपुरा निवासी टायर मरम्मत दुकानदार गुफरान से घटना के बारे में जानकारी ली। एसपी ने इस संबंध में कुछ भी बोलने से इंकार किया। कहा कि जांच रिपोर्ट मानवाधिकार आयोग को भेजी जाएगी।

खरीक में तीन फरार आरोपितों के घर की पुलिस ने की कुर्की-जब्ती

संवाद सूत्र, खरीक : खरीक पुलिस ने शुक्रवार को हत्या के आरोप में दो वर्षों से फरार चल रहे नया टोला भवनपुरा के गौरव यादव, बिंदेश्वरी राम एवं दिनेश राम के घर कुर्की-जब्ती की कार्रवाई थानाध्यक्ष पंकज कुमार के नेतृत्व में पूरा किया। इस दौरान पुलिस ने तीनों आरोपियों के घर को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया। साथ ही घर के समानों को जब्त कर थाना लाया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि तीनों गाँव के ही सुनीता देवी की रेलवे स्टेशन पर ही गोली मारकर हत्या करने मामले का नामजद आरोपी है। दो वर्षों से फरार चल रहा है।इस घटना में शामिल अन्य अपराधियों को पूर्व मेंं गिरफ्तार कर जेल भेजी जा चुकी है।