छात्र अपहरण कांड लखीसराय : पुलिस ने मुख्य आरोपित को पटना से किया गिरफ्तार, पूछताछ में अपराधी ने उगले कई राज

छात्र अपहरण कांड के मुख्‍य आरोपी मुख्य आरोपित आशुतोष कुमार उर्फ गंगेश।

लखीसराय के बिलौरी गांव से गत 13 नवंबर की सुबह छात्र राजीव कुमार के अपहरण हुआ था। मुख्य आरोपित आशुतोष कुमार उर्फ गंगेश को लखीसराय पुलिस ने पटना के फतुहा से गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ की गई।

Dilip Kumar shuklaWed, 27 Jan 2021 09:39 AM (IST)

जागरण संवाददाता, लखीसराय। लखीसराय थाना क्षेत्र अंतर्गत बिलौरी गांव से गत 13 नवंबर की सुबह छात्र राजीव कुमार के अपहरण मामले में फरार मुख्य आरोपित आशुतोष कुमार उर्फ गंगेश को लखीसराय की पुलिस ने पटना जिला के फतुहा बाजार स्थित शिवम रेडीमेड दुकान से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपित आशुतोष वैशाली जिले के जुरावनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत चकसिंगार गांव का रहने वाला है। लखीसराय थाना में थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह और एसडीपीओ रंजन कुमार ने गिरफ्तार आरोपित से पूछताछ करके जेल भेजा जाएगा। छात्र राजीव के अपहरण कांड में गिरफ्तार आरोपित आशुतोष गंगेश ने अहम भूमिका निभाई थी। इसने ही अपने दोस्तों के साथ राजीव को चकसिंगार दियारा में छिपा कर रखा था। राजीव के मोबाइल सिम से ही उसके घर वालों को फोन कर 30 लाख की फिरौती देने नहीं तो राजीव की हत्या कर देने की धमकी दी थी।

कोचिंग जाने के दौरान राजीव का हुआ था अपहरण

बिलोरी निवासी छात्र राजीव रोज की तरह 13 नवंबर 2020 की सुबह अपने घर से साइकिल से कोचिंग के लिए निकला था। रास्ते में बिलौरी लखीसराय पथ पर पहले से घात लगाए चार पहिया वाहन पर सवार चार की संख्या में अपराधियों ने राजीव को हथियार के बल पर अगवा कर लिया था। अपहरण के बाद अपहर्ताओं ने राजीव को लखीसराय से सड़क मार्ग द्वारा पहले पटना जिले के बख्तियारपुर थाना क्षेत्र में रखा। इसके बाद वहां से उसे ऑटो द्वारा वैशाली जिले के सबसे दुर्गम क्षेत्र चकसिंगार दियारा क्षेत्र में छिपा कर रखा था। अपहर्ताओं ने राजीव के स्वजनों को मोबाइल पर फोन करके 30 लाख की फिरौती की मांग की थी।

फतुहा में रेडीमेड दुकान में काम कर रहा था आशुतोष

छात्र राजीव अपहरण कांड में एसपी सुशील कुमार और एसडीपीओ रंजन कुमार के नेतृत्व मे गठित पुलिस की एसआईटी ने वैज्ञानिक तरीके से अनुसंधान कर मात्र 24 घंटे के अंदर अपहृत राजीव को सकुशल वैशाली जिला अंतर्गत चकसिंगार दियारा से बरामद कर लिया था। पुलिस ने इस अपहरण कांड में कार के चालक सहित कुल 10 लोगों को अभियुक्त बनाया था। इसमें पुलिस ने अपहरण के मुख्य साजिश कर्ता बिलोरी गांव से रागिनी कुमारी और मिल्टन कुमार उर्फ रोहित राज एवं पटना जिले के बख्तियारपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत ददौर निवासी बादल कुमार को गिरफ्तार कर पहले ही जेल भेज चुकी है। गिरफ्तार आरोपित आशुतोष पुलिस से बचने के लिए फतुहा में एक रेडीमेड दुकान में काम करने लगा। लखीसराय थानाध्यक्ष संजय कुमार सिंह को गुप्त सूचना मिली कि आशुतोष फतुहा में रह रहा है। इसके बाद लखीसराय थाना के एसआई मुकेश कुमार वर्मा, देव कुमार के नेतृत्व में पुलिस की टीम मंगलवार को फतुहा जाकर आशुतोष उर्फ गंगेश को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में फरार वैशाली जिले के दीपक सिंह, पलटू सिंह, जितेंद्र सिंह, कार चालक के विरुद्ध कुर्की की कार्रवाई करने का आदेश एसडीपीओ रंजन कुमार ने कांड के जांच अधिकारी को दिया है। बताया जस रहा है कि संपत्ति विवाद में छात्र का अपहरण किया गया था। फिरौती की मांग एकमात्र बहाना था, उसकी हत्या कर देने की योजना थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.