Smart City Bhagalpur: दो दिनों से कई मोहल्लों में जलापूर्ति ठप, सफाई कर्मियों की हड़ताल के बाद कूड़े का भी नहीं हो रहा उठाव

भागलुपर में सफाई कर्मियों की हड़ताल के बाद जगह-जगह कूड़े बिखरे पड़े हैं। दो दिनों से कूड़े का उठाव नहीं हो रहा है। साथ ही कई मोहल्लों में जलापूर्ति भी ठप हो गई है। इससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

Abhishek KumarWed, 08 Sep 2021 10:23 PM (IST)
भागलुपर में सफाई कर्मियों की हड़ताल के बाद जगह-जगह कूड़े बिखरे पड़े हैं।

जागरण संवाददाता,भागलपुर। नगर निगम कर्मचारियों की हड़ताल बुधवार को भी जारी रही। हड़ताल की वजह से पूरे शहर की जलापूर्ति को निगम कर्मचारियों ने ठप कर दिया। दो दिनों से आपूर्ति ठप होने के कारण हाहाकार मच गया। वहीं दूसरी तरफ कूड़ा उठाव भी नहीं हुआ। इधर, हड़ताली कर्मियों ने नगर निगम के मुख्य द्वार पर ताला जड़ दिया और परिसर में धरना देकर बैठ गए। कुछ कर्मचारी निगम के तातारपुर गोदाम पर पहुंच गए। वहां पर भी जमकर हंगामा किया।

- वार्ड पार्षदों ने तोड़ा पंप हाउस का दरवाजा, जबरन चलाया पंप

- नगर निगम ने निजी गार्ड को सुरक्षा के लिए किया तैनात

- हड़ताल कर रहे कर्मचारियों ने निगम गेट पर जड़ा ताला

- तातारपुर गोदाम पर जाकर की जमकर नारेबाजी

- कूड़ा उठाव के लिए नहीं निकलने दिया गाडिय़ों को

इधर, बरारी वाटर वक्र्स में जलकल शाखा के कर्मियों ने पूरी तरह से जल शोधन के कामकाज को ठप करा दिया है। वहां की सुरक्षा को लेकर नगर आयुक्त ने निगम के गार्ड को सुरक्षा के लिए तैनात कर दिया। गार्ड को देखकर कर्मचारी और आक्रोशित हो गए। हालांकि, गार्ड सभी को समझाते रहे कि जनहित की समस्या को देखते जलापूर्ति को बहाल कर दीजिए। इसके बाद भी कर्मचारी मानने को तैयार नहीं हुए।

बाद में निगम ने जबरन आपूर्ति चालू की लेकिन फिर कर्मचारियों ने उसे बंद करा दिया। कर्मचारियों ने पंप चलाने आए अभियंताओं को खरीखोटी सुनाई। वार्ड 21 में जलापूर्ति समस्या को देखते हुए पार्षद संजय सिन्हा ने लाजपत पार्क स्थित डीप बोरिंग दरवाजे पर लगे ताले को तोड़ दिया और पंप को चालू कर दिया। इस बोरिंग से बूढ़ानाथ मोहल्ला और दीपनगर आदि मोहल्ले में पंप से सीधी आपूर्ति होती है। कुछ देर आपूर्ति हुई ही थी कर्मचारी यहां भी पहुंच गए।

उन लोगों ने फिर दरवाजे पर ताला जड़ दिया। वार्ड पार्षद संजय सिन्हा की पहल के बाद ïिवभिन्न मोहल्ले के पार्षदों ने भी अपने इलाके में लगी बोरिंग को जबरन चालू कर दिया। लेकिन कर्मचारियों के आगे किसी की नहीं चली। उन लोगों ने फिर पानी की आपूर्ति को बंद कर दिया। पार्षद संजय सिन्हा ने कहा कि पानी के बिना वार्ड की जनता को मरने नहीं देंगे चाहे जो भी कदम उठाना पड़ेगा वो करेंगे।

पानी संकट को देखते हुए पार्षद गोविंद बनर्जी कुछ लोगों के साथ वाटर वक्र्स पहुंचे। वहां संघ के कर्मचारियों से आग्रह किया कि सुबह 3 घंटे और शाम को 3 घंटे पानी की सप्लाई करें। ताकि लोगों को पानी के लिए एक मोहल्ले से दूसरे मोहल्ले में न जाना पड़े। लेकिन कर्मचारियों ने उनके आग्रह को भी ठुकरा दिया।

उधर, जलकल शाखा के इंजीनियर कृष्णा प्रसाद और नगर आयुक्त ने बताया कि शहर में पेयजल आपूर्ति को जल्द ही सामान्य कर दिया जाएगा। हर संभव प्रयास किया जा रहा है। वार्ड संख्या 25 के छोटी खंजरपुर मकबरा में स्थित अंबेडकर बोरिंग पर पंप चालक की व्यवस्था कर दी है, ताकि स्थानीय लोगों को पेयजल आपूर्ति की परेशानी ना करना पड़े।

12 सूत्री मांगों को मनवाने के लिए आंदोलन कर रहे कर्मचारियों ने सुबह नगर निगम के तातारपुर गोदाम में जाकर जोरदार प्रदर्शन किया। सभी गोदाम के प्रवेश द्वार पर खड़े हो गए और सफाई करने वाले मजदूरों को नहीं निकलने दिया। दो दिनों में करीब 500 एमटी कूड़ा शहर के विभिन्न इलाके में जमा हो गया। उठाव नहीं होने के कारण अब कूड़े से बदबू उठने लगी है। संघ के प्र्रदेश अध्यक्ष राजीव रंजन और प्रदेश सचिव गणपत राम ने दो टूक कहा, सरकार यदि मांगों को अविलंब पूरा करने का निर्णय नहीं लेगी तो आंदोलन और उग्र करेंगे।

सफाई कार्य ठप कराने में जिला के जिलाध्यक्ष राजेश हरि, जिला उपाध्यक्ष जीतन हरि, जिला सचिव नीरज हरि, राणा हरि, सुधीर हरि, निरंजन हरि, अच्छुत, विनय हरि,गुड्डु हरि,ललन ,चंदन हरि सहित कई सफाई कर्मी थे। बिहार राज्य स्थानीय निकाय कर्मचारी महासंघ के राज्य सचिव मनोज कृष्ण सहाय ने कहा कि पूरे शहर में सफाई कार्य को ठप कर दिया गया है।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.