स्‍मार्ट सिटी भागलपुर: सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के लिए नाथनगर और अलीगंज में सर्वे का काम पूरा, साहेबगंज सीवरेज प्लांट का काम भी होगा शुरू

भागलपुर में सीवरेज ट्रीटमेंट प्‍लांट को लेकर सर्वे का काम तेजी से चल रहा है। नाथनगर और अलीगंज के आसपास के इलाके का काम लगभग पूरा हो गया है। साथ ही इसी माह के अंत तक साहेबगंज के सीवरेज ट्रीटमेंट प्‍लांट का काम शुरू हो जाएगा।

Abhishek KumarWed, 01 Dec 2021 11:26 AM (IST)
भागलपुर में सीवरेज ट्रीटमेंट प्‍लांट को लेकर सर्वे का काम तेजी से चल रहा है।

जागरण संवाददाता, भागलपुर।  शहर के साहेबगंज में पुराने सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट को तोड़कर नए ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण होगा। दिसंबर के अंतिम सप्ताह में प्लांट स्थापित करने का कार्य शुरू हो जाएगा। इसके लिए शहर में नाले का निर्माण होगा। कंपनी का सर्वे कार्य अब अंतिम चरण में है। दो दिनों में सर्वे कार्य पूर्ण होने पर प्लाट की डिजाइन आदि तैयार किया जाएगा।

सर्वेयर सीएल दास ने बताया कि नाथनगर साहेबगंज और दक्षिणी क्षेत्र के सर्वे का कार्य पूरा हो गया है। मंगलवार को बरारी क्षेत्र में सर्वे कार्य किया जा रहा था। इसे गुरुवार तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

ये है सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट की योजना

नमामि गंगे योजना से सीवरेज प्लांट स्थापित करने के लिए दिसंबर 2020 में निविदा हुई थी, जबकि सितंबर माह में कार्य शुरू करने के लिए कंपनी के साथ बुडको का एग्रीमेंट हुआ था। 385 करोड़ नौ लाख रुपये की लागत से प्लांट का निर्माण किया जाना है। ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता 45 एमएलडी की होगी। वहीं, 10 इंटरमीडिएट पंङ्क्षपग स्टेशन का निर्माण होगा। प्लांट तक नाले का पानी पहुंचाने के लिए 43 नाले का निर्माण किया जाना है। 13.7 किलोमीटर राइङ्क्षजग मेन पाइप बिछाया जाना है, जबकि 10.1 किलोमीटर ट्रंक सीवर लाइन का कार्य होगा। कंपनी को 24 माह में योजना पूर्ण करना होगा।

43 नाले का बनेगा नेटवर्क

नगर निगम क्षेत्र के 43 छोटे-बड़े नालों का पानी गंगा में सीधे प्रवाहित किया जाता है। गंगा में गिरने वाले नाले के मुहाने को मोड़ा जाएगा। सभी नालों को एक चैनल से जोडऩे की योजना है। बरारी से नाथनगर के बीच चैनल को साहेबगंज सीवरेज ट्रीटमेंट से जोड़ा जाएगा। पूरे शहर के नालों का पानी अंडरग्राउंड आरसीसी पाइप के माध्यम से 10 पंङ्क्षपग स्टेशन तक पहुंचेगा। कोयला घाट, महाराज घाट, सीएमएस स्कूल और नया बाजार के पंङ्क्षपग स्टेशन को तोड़कर बनाया जाएगा। इन पंङ्क्षपग हाउस को 21 बड़े मास्टर नाले का निर्माण कराया जाएगा। इसमें शहर के सभी छोटे-बड़े नालों को जोड़कर गंदे पानी को सीवरेज प्लांट तक पहुंचाने की व्यवस्था होगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.