Share market: युवाओं का बढ़ रहा रुझान, इस तरह करें खरीद-बिक्री, जानिए और समझ‍िए इसकी पूरी प्रक्रिया

युवाओं का Share Market के प्रति द‍िन प्रति द‍िन रुझान बढ़ रहा है। कम धनराश‍ि के माध्‍यम से युवावर्ग अच्‍छी धनराश‍ि कमा सकते हैं। हालांकि यह भी ध्‍यान रखने की जरुरत है कि शेयर बाजार जोख‍िमों के अधीन है। इसके लिए आप खुद सतर्क रहें।

Dilip Kumar ShuklaThu, 23 Sep 2021 06:38 AM (IST)
आजकल युवाओं रुझान शेयर बाजार की तरफ बढ़ रहा है।

आनलाइन डेस्‍क, भागलपुर। शेयर बाजार में युवाओं का रुझान काफी बढ़ रहा है। युवा वर्ग इसमें रुपया लगाते हैं और निकलाते हैं। इसके माध्‍यम से वह रोज कुछ ना कुछ कमाई करते हैं। आइए बताते हैं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और मुंबई स्टॉक एक्सचेंज के बारे में। साथ ही आप यह भी जानें कि डीमैट अकाउंट क्‍या है। 

भागलपुर की रहने वाली आर्थिक व‍िशेषज्ञ ममता शुक्‍ला ने कहा कि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की स्थापना 1992 में हुई थी। जिसमें आप किसी कंपनी का स्टेटस चेक कर सकते हैं। मुंबई स्टॉक एक्सचेंज की स्थापना 1875 में हुई थी। यह सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है। उन्‍होंने कहा कि जिस जगह कंपनी को लिस्ट किया जाता है शेयर को खरीदा बेचा जाता है, उसे स्टॉक एक्सचेंज कहते हैं।

आप अलग-अलग कंपनियों का भी स्टेटस चेक कर सकते हैं। मुंबई स्टॉक एक्सचेंज हो या नेशनल स्टॉक एक्सचेंज दोनों जगह शेयर की खरीद-बिक्री की जा सकती है। निफ़्टी फिफ्टी का नाम तो आप लोगों ने सुना ही होगा। यह 50 कंपनियों को रिप्रेजेंट करता है।

जिस प्रकार सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट में आपके पैसे रहते हैं, उसी प्रकार डीमैट अकाउंट में आपके शेयर होते हैं, जिसके जरिए आप खुद ही खरीद देखकर खुद ही खरीद बेच सकते हैं। डीमैट अकाउंट खोलने के लिए सर्वप्रथम आपको ब्लॉक कर से जोड़ना होगा, ऐसे कई ब्रोकर है जो डीमैट अकाउंट खुलवाने का काम करते हैं।

आपको बता दें डीमैट अकाउंट को आपके सेविंग अकाउंट से लिंक होना चाहिए, ताकि जब आप शेयर बेचे तो आपके सेविंग अकाउंट में पैसा आ जाए, इसके लिए आपको आपका नाम मोबाइल नंबर पर ओटीपी आता है। फिर आपका डेट ऑफ बर्थ, पैन कार्ड नंबर, पैन कार्ड का स्टैंड इमेज की आवश्यकता होती है। मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए। हालांकि इसमें लोगों को सतर्कता की भी जरुरत है।

आज के समय में युवाओं में निवेश करने की इच्छा जागृत हो गई है। यहां तक कि अपना पॉकेट खर्च बचाकर वह पैसा शेयर मार्केट में लगा देते हैं। छोटी-छोटी धनराश‍ि से वे शेयर की खरीद-बि‍क्री करते हैं। जिससे कुछ राशि की प्राप्ति हो जाती है।

ममता शुक्‍ला ने सलाह देते हुए कहा कि किसी की बातों में आकर पैसा ना लगाए, बल्कि खुद से कंपनी का बैकग्राउंड चेक करें। इसके ल‍िए आप एनएसई और बीएसई के वेबसाइट पर जाकर देखें। बहुत सलाहकार अपने लाभ के लिए झूठ बोलकर ग्रीवेंस करा देते हैं। इससे आप बचें। आप पहले खुद को योग्‍य बताएं। फ‍िर इस खेल में बहुत मजा है। आप आसानी से रुपया कमा लेंगे। इस खेल को आप पूरी एकाग्रता के साथ खेलें। इंटरनेट की बेहतर व्‍यवस्‍था रखें। मोबाइल से बेहतर होगा कि आप इसके लिए कंप्‍यूटर का इस्‍तेमाल करें। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.