चिराग तले अंधेरा : भागलपुर में जहां से होती है बिजली की सप्‍लाई, वहीं 36 घंटे से आपूर्ति ठप

Power crisis Bhagalpur भागलपुर के कहलगांव इलाके में शिवनारायणपुर फीडर वन से जुड़े क्षेत्रों में शाम पांच बजे आई बिजली। कहलगांव नगर के फीडर में भदेर पीएसएस से की जा रही थी बिजली आपूर्ति। पकड़तल्ला पीएसएस में लगाया गया ब्रेकर।

Dilip Kumar ShuklaMon, 21 Jun 2021 11:51 AM (IST)
भागलपुर के कहलगांव क्षेत्र में बिजली संकट जारी है।

संवाद सूत्र, कहलगांव (भागलपुर)। कहलगांव के पकड़तल्ला पावर सब स्टेशन से जुड़े शिवनारायणपुर फीडर वन में 36 घंटे से विद्युत आपूर्ति ठप रही। करीब साढ़े पांच बजे शाम में बिजली आई। ऐसे में उपभोक्ताओं को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। इसी पीएसएस से जुड़े कहलगांव नगर के फीडर में भी विद्युत आपूर्ति ठप थी। वहां भदेर पीएसएस से बिजली आपूर्ति की जा रही थी। शिवनारायणपुर फीडर वन में कई दिनों से बिजली की स्थिति बदतर बनी हुई है। ब्रेकडाउन, शट डाउन, जंफर कटने और फाल्ट होने के चलते शिवनारायणपुर फीडर से जुड़े 50 गांवों के उपभोक्ता परेशान हैं। वे बिजली के लिए त्राहिमाम कर रहे हैं।

शुक्रवार को कई घंटे बिजली गुल रही। शनिवार के अल सुबह से बिजली आपूर्ति बंद थी। पकड़तल्ला पीएसएस में ब्रेकर बदलने के चलते शनिवार को दिन के ग्यारह बजे से आपूर्ति बंद थी। रात करीब साढ़े आठ बजे जैसे ही बिजली दी गई पीएसएस का सारा जंफर उड़ गया था, जिससे रात भर बिजली गुल रही। दिन में दस मिनट के लिए बिजली आई थी उसके बाद जो गई शाम में आई है। आधा घंटा के बाद फिर चली गई है। देर रात तक बिजली गुल रही। एकचारी फीडर की भी स्थिति बदतर बनी हुई है। 36 घंटे बिजली गुल रहने के चलते पेयजलापूर्ति ठप रही। बच्चों का पठन-पाठन बाधित रहा।

बारिश के मौसम में अंधकार में रहना पड़ा है। शिवनारायणपुर फीडर वन का क्षेत्र काफी लंबा है। कहीं भी फाल्ट होने पर समूचे फीडर की बिजली बंद हो जाती है। उपभोक्ता रणवीर सिंह, अमीन मंडल ने कहा कि विद्युत विभाग की अकर्मण्यता के चलते उपभोक्ताओं को बिजली संकट का सामना करना पड़ रहा है। उपभोक्ताओं में विद्युत विभाग के प्रति काफी रोष है। कहलगांव पूरब टोला के युवा समाजसेवी छोटू पांडेय ने विद्युत विभाग से विद्युत आपूॢत व्यवस्था में सुधार करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बिजली के लिए ही कहलगांव में बिजली आंदोलन हुआ था और लोग इसमें मारे भी गए थे। फिर ऐसी नौबत नहीं आए, इसलिए विभाग को सजग रहना चाहिए।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.