Acid attack : वाराणसी में डॉक्टरों ने कहा कि पीड़ित छात्रा के बारे में कुछ भी कहना मुश्किल

भागलपुर [जेएनएन]। एसिड अटैक की पीड़ित छात्रा की हालत में कोई खास सुधार नहीं हो सका है। वाराणसी में इलाजरत छात्रा ने पिता ने बताया कि वह ठीक से बोल नहीं पा रही है। इस संबंध में चिकित्‍सक ने कहा कि अभी एक माह तक स्थिति देखने के बाद ही कुछ बताया जा सकता है।

छात्रा के कुछ करीबियों से की पुलिस ने पूछताछ

एसिड हमले में घायल छात्रा के कुछ करीबियों से पुलिस ने पूछताछ की है। पुलिस इस मामले में कुछ ऐसी बातें पता करना चाह रही है पुलिस की जांच को अलग दिशा दे सकती है। वहीं घटना के बाद से इलाके में लगातार पुलिस की गश्ती होती है। छात्रा के घर के समीप जहां शाम ढलते ही अड्डेबाजी शुरू हो जाती थी। वहां कोई दिखता नहीं है। बाइक गश्ती शाम के बाद कई बार अलीगंज मोहल्ले में घूमती है। वहीं डीआइजी विकास वैभव के निर्देश पर सुरक्षाकर्मी छात्रा के घर पर 24 घंटे तैनात हैं।

कई संदिग्धों का मोबाइल हो गया है बंद

अलीगंज इलाके के कई संदिग्धों का मोबाइल नंबर घटना के दिन से ही बंद हो गया है। पुलिस ने कुछ प्रिंस और राजा के कुछ करीबियों पर भी नजर रख रही है। उनकी निगरानी में भी पुलिस को कई बातें पता चला है। जो इस मामले में आगे की जांच में जरूरी बिंदु है। तकनीकी अनुसंधान में अब तक पुलिस को बहुत अधिक सफलता नहीं मिली है। जिन मोबाइल नंबर की जांच की जा रही है। उन नंबरों से घटना के दिन और समय एक दूसरे से कई बार बातचीत हुई है। लेकिन घटना के बाद से मोबाइल बंद है। ऐसे में पुलिस का उन संदिग्धों को लेकर शक और गहरा गया है।

पुलिस के डर से शहर छोड़कर भागे कई संदिग्ध

पुलिस ने जिन संदिग्धों को राडार पर लिया है। वे लोग घटना के बाद से ही इलाका छोड़कर भाग निकले हैं। पुलिस उनके करीबियों पर भी निगरानी रख रही है। रिश्तेदारों के यहां शरण लेने की सूचना पर पुलिस वहां दबिश भी दे रही है। दो दिन पहले ऐसी ही सूचना पर सिटी डीएसपी राजवंश सिंह के नेतृत्व में एसआइटी ने चंपानगर के विषहरी स्थान और बाइस बिग्घी के पास छापेमारी की थी। पुलिस की एक टीम बांका भी गई थी। लेकिन पुलिस को कुछ सफलता हाथ नहीं लगी।

एसिड मामले को सुपरवाइज करेंगे एसएसपी

अलीगंज में छात्रा पर हुए एसिड हमले की जांच एसएसपी आशीष भारती भी करेंगे। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए आइजी विनोद कुमार ने एसएसपी को निर्देश दिया है। 19 अप्रैल की रात तीन हथियारबंद नकाबपोश अपराधियों ने एक छात्रा को एसिड से नहला दिया था। उसे गंभीर हालत में मायागंज अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से बेहतर इलाज के लिए चिकित्सकों ने छात्रा को वाराणसी रेफर कर दिया। परिजन उसका इलाज वहीं के समयन अस्पताल में करा रहे हैं। इस मामले में छात्रा के पिता ने बबरगंज चौकी में केस दर्ज कराया था। जिसमें पड़ोसी प्रिंस समेत तीन अज्ञात को आरोपित बनाया गया था। इस मामले में अब तक प्रिंस और गंगटी के राजा यादव की गिरफ्तारी हुई है। इस घटना के बाद शहर में जगह जगह आंदोलन और प्रदर्शन हो रहे हैं। इस मामले में मुख्यालय की नजर है।

वाराणसी में एसिड हमले में घायल पीडि़ता से मिले शाहनवाज

वाराणसी के समयन अस्पताल में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन अलीगंज में हुए एसिड हमले में घायल छात्रा से मिले। उन्होंने छात्रा की स्थिति देखी और मां-पिता से बात की। श्री हुसैन ने बताया कि वे छात्रा के पिता और मां से मिले। इसके बाद घटना की जानकारी ली। उनको छात्रा की मां ने पूरी घटना बताई। इसके बाद उन्होंने अस्पताल में छात्रा का इलाज कर रहे चिकित्सकों से भी बात की। श्री हुसैन ने कहा कि उन्होंने चिकित्सकों को कहा है कि छात्रा को बेहतर से बेहतर इलाज मिले। उसके इलाज में किसी प्रकार की कमी नहीं हो। बता दें कि शाहनवाज वाराणसी में प्रधानमंत्री के रोड शो में हिस्सा लेने पहुंचे थे। वहां से निकलने के बाद वे छात्रा का हाल चाल जानने सीधे अस्पताल पहुंच गए।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.