दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Pappu Yadav arrested: जेल जाते ही भूख हड़ताल पर बैठे पप्‍पू यादव, बाहर समर्थक कर रहे बवाल

जाप सुप्रीमो पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव।

जन अधिकारी पार्टी के अध्‍यक्ष सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव को मंगलवार की देर रात जेल भेज दिया गया था। गिरफ्तारी पटना में हुई। मधेपुरा कोर्ट ने न्यायिक अभिरक्षा में उप कारा बीरपुर सुपाल भेज दिया। वे वहां भूख हड़ताल पर हैं।

Dilip Kumar ShuklaWed, 12 May 2021 01:08 PM (IST)

जागरण संवाददाता, सुपौल। पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव ने जेल में भूख हड़ताल शुरू कर दी है। पप्पू यादव मंगलवार की देर रात पटना से मधेपुरा भेजे जाने के बाद सुपौल के वीरपुर जेल में शिफ्ट किए गए हैं। जहां उन्होंने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। पप्पू यादव ने कुछ ही दिन पहले बीमारी के बाद ऑपरेशन करवा कर स्वस्थ हुए हैं। उन्होंने जेल जाने से पहले भी कोर्ट के समक्ष अपनी बीमारी का हवाला दिया था। पप्पू ने ट्वीट कर जानकारी दी और लिखा है कि वीरपुर जेल में मैं भूख हड़ताल पर हूं। न पानी है, न वाशरूम है, मेरे पांव का ऑपरेशन हुआ था, नीचे बैठ नहीं सकता, कोमोड भी नहीं है। कोरोना मरीज की सेवा करना,उनकी जान बचाना, दवा माफिया, हॉस्पिटल माफिया, ऑक्सीजन माफिया, एम्बुलेंस माफिया को बेनकाब करना ही मेरा अपराध है। मेरी लड़ाई जारी है।

मंगलवार को जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और पूर्व सांसद पप्पू यादव को गिरफ्तारी के बाद 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पटना से हुई गिरफ्तारी के बाद पप्पू यादव के समर्थकों के भारी विरोध के बीच उन्हें मधेपुरा ले जाया गया। रात के लगभग 10:50 बजे 30 से अधिक गाड़ियों के काफिले के साथ पप्पू यादव को मधेपुरा कोर्ट लाया गया। रात 11 बजे मधेपुरा सिविल कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पप्पू की पेशी हुई। पेशी के दौरान उन्होंने कोर्ट के सामने अपनी बीमारी का भी हवाला देकर बेहतर स्वास्थ्य सुविधा की मांग की। पप्पू यादव की पेशी को लेकर बड़ी संख्या में जगह-जगह पुलिस बल की तैनाती की गयी थी, फिर भी सैकड़ों समर्थक रात के अंधेरे में भी जगह-जगह डटे दिखे।

पूर्व सांसद के जेल जाने के वक्त जाप के जिलाध्यक्ष नंदकुमार चौधरी,बसंतपुर प्रखंड अध्यक्ष शैलेंद्र प्रसाद यादव,अमित कुमार साह, मनोज कुमार मंडल,प्रेमचंद्र सिंह,धीरज रंजन,शलाउद्दीन अंसारी,मुकेश कुमार पप्पू, चंदन कुमार सिंह,बालकृष्ण यादव, गुड्डू, प्रवीण,शरद भगत सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद थे। इधर भूख हड़ताल की सूचना पर एसडीओ कुमार सत्येंद्र यादव, डीएसपी रामानंद कुमार कौशल, थानाध्यक्ष डीएन मंडल ने बुधवार की सुबह जेल पहुंचकर उनका हाल चाल लिया और चिकित्सक से उनके स्वास्थ्य की जांच करवाई। जेल में उन्हें सुविधा उपलब्ध कराने सहित अन्य कार्रवाई हेतु समाचार प्रेषण तक पदाधिकारीगण वहीं जमे थे।

पूर्व सांसद की नहीं हुई रिहाई तो सड़क पर होगा आंदोलन

जाप सुप्रीमो सह मधेपुरा के पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव की पटना में हुई गिरफ्तारी के विरोध में राजनीति तेज हो गई है। जाप सुपौल जिला उपाध्यक्ष सुभाष कुमार ने कहा कि यदि पप्पू यादव को तुरंत रिहा नहीं किया गया तो पार्टी कार्यकर्ता लॉकडाउन तोड़कर सड़क पर उतर आने को विवश होंगे। आरोप लगाया है कि सरकार द्वारा साजिश के तहत गिरफ्तार कर वीरपुर कारागार में रखा गया है जहां उनकी जान को खतरा है। वरना 32 साल पुराना अपहरण का मामला जिसमें अपहृत ने स्वयं अपहरण की घटना को झूठा बताया हो और मामला बंद हो चुका हो उसे पुनर्जीवित कर यूं गिरफ्तार नहीं किया जाता।

उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से लोग परेशान हैं। इस वैश्विक महामारी से अब तक हजारों जान जा चुकी। ऐसे में यदि कोई समाजसेवी नेता घर से निकलकर जरूरतमंदों की सेवा कर रहा है और सरकार की नाकामियों का खुला चिट्ठा सबके सामने ला रहा है तो सरकारी सिस्टम को यह नागवार गुजर रहा है। यदि उन्हें रिहा नहीं किया गया तो पार्टी कार्यकर्ता कोविड प्रोटोकॉल के तहत लगाए गए लॉकडाउन का नियम तोड़ देंगे और आंदोलन को विवश होंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.