कटिहार के शरीफनगर पंचायत में चपचपिया रोग का प्रकोप, लगातार हो रही पशुओं की मौत

बिहार के कटिहार जिले की शरीफनगर पंचायत में चपचपिया रोग का प्रकोप फैला हुआ है। पशुओं में होने वाले इस रोग ने इस कदर अपने पांव पसारे हैं कि यहां दर्जनों मवेशियों की मौत हो चुकी है। इसको लेकर पशुपालक चिंतित हो उठे हैं।

Shivam BajpaiSat, 27 Nov 2021 03:08 PM (IST)
कटिहार के शरीफनगर पंचायत का मामला, क्या है चपचपिया ?

संवाद सूत्र, बलरामपुर (कटिहार): बलरामपुर प्रखंड अंतर्गत शरीफ नगर पंचायत में चपचपिया रोग से पशुओं की मौत हो रही है। पंचायत के वार्ड नंबर 13 एवं 14 में दर्जनों पशुओं की मौत के बाद पशुपालकों में हड़कंप मच गया है। बता दें कि एफएमडी (चपचापिया) बीमारी की चपेट में आने से हो रही पशुओं की मौत से अगल बगल के पंचायतों के पशुपालकों में भी भय का माहौल दिख रहा है। शरीफनगर पंचायत के वार्ड संख्या 13 में लगभग 10 दिन पूर्व कटिहार से पशु चिकित्सक की टीम आई थी।

कुछ हद तक बीमारी पर भी काबू कर लिया गया था। लेकिन पिछले कुछ दिनों से वार्ड संख्या 14 में बीमारी का प्रकोप बढ़ गया है। स्थानीय ग्रामीण सह पशुपालक विनोद कुशवाहा, बैजनाथ महतो, अर्जुन महतो, शिबू महतो, सुरेंद्र महतो, मनोज महतो, शंकर महतो, राजेंद्र महतो, दिनेश महतो, मुकेश महतो आदि ने बताया कि चपचपिया बीमारी से पशुओं के खूर में घाव, मुंह से लगातार लार गिरना, भूख नहीं लगना आदि का लक्षण दिखाई दे रहा है। इस बीमारी की चपेट में आकर कई पशुओं की जान जा चुकी है। बताया कि सितमटोला एवं कुशियामारी गांव में पिछले दो वर्षों से विभाग द्वारा कभी भी पशुओं को एमएफडी का टीका नहीं लगाया गया है।

मवेशी पालकों ने पशु चिकित्सा विभाग से शिविर लगाकर बढ़ रही बीमारी पर काबू करने की मांग की है। प्रखंड भ्रमणशील पशु चिकित्सा पदाधिकारी डॉ संतोष कुमार ने बताया कि पूर्व में भी नौ एवं 13 नवंबर को शिविर लगाकर पशुओं के स्वास्थ्य की जांच की गई थी। वार्ड संख्या 13 में फैल रही बीमारी को लेकर कटिहार से भी टीम बुलायी गई थी। साथ ही सर्वे कराकर पशुपालकों को पशुओं को खिलाने के लिए दवा उपलब्ध करा दी गई है। विभाग की ओर से पिछले दो वर्षों से एफएमडी का वैक्सीन उपलब्ध नहीं कराए जाने से अब तक पशुओं को इसका टीका नहीं लग पाया है। चिकित्सकों की टीम लगातार प्रभावित गांव का दौरा कर रही है। जल्द ही स्थिति को नियंत्रण में कर लिया जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.