तीन साल की बेटी के हत्यारे पिता को उम्रकैद, मामूली बात पर इस तरह कर दी थी हत्या

तीन साल की पुत्री की हत्‍या मामले में पिता को उम्रकैद की सजा दी गई है।

बाथ थाना क्षेत्र के हल्कराचक गांव में 27 अगस्त 2019 की रात रोशन ने अपनी तीन साल की पुत्री को कुआं में फेंक दिया था। इस मामले में उसे उम्रकैद की सजा दी गई है। साथ ही 50 हजार रुपये का जुर्माना भी देना होगा।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 06:57 PM (IST) Author: Abhishek Kumar

 जागरण संवाददाता, भागलपुर। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश-11 अतुल वीर सिंह ने शुक्रवार को तीन साल की बेटी की हत्या में पिता रोशन यादव को उम्र कैद दे दी है। न्यायाधीश ने अपने फैसले में अभियुक्त पिता को भारतीय दंड विधान संहिता की धारा 302 में उम्र कैद और 50 हजार रुपये का अर्थ दण्ड देने की सजा सुनाई है। जुर्माना राशि नहीं देने की सूरत में अभियुक्त को छह माह की अतिरिक्त कारावास काटनी होगी। न्यायाधीश ने साक्ष्य छुपाने के जुर्म में धारा 201 में तीन साल की सश्रम कारावास और दस हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। जुर्माने की रकम नहीं देने की सूरत में छह माह की अतिरिक्त सश्रम कारावास उसे काटनी होगी। न्यायाधीश ने अप ने फैसले में सभी सजाएं साथ-साथ चलाए जाने की बात कही है।

बाथ थाना क्षेत्र के हल्कराचक गांव में हुई थी वारदात

बाथ थाना क्षेत्र के हल्कराचक गांव में 27 अगस्त 2019 की रात रोशन ने अपनी तीन साल की पुत्री को कुआं में फेंक दिया था। बेटी का शव नया गांव के चुटिया बहियार स्थित कुएं से बरामद की गई थी। घटना की बाबत रोशन की पत्नी रूणा देवी ने केस दर्ज कराया था। दर्ज केस में रूणा ने जानकारी दी थी कि वह 27 अगस्त की रात अपने पति और बच्चे के साथ सोई थी। सुबह उठने पर देखा कि उसकी बच्ची घर पर नहीं है। खोजबीन की तो पता नहीं चला। बाद में उसका शव कुआं से बरामद किया गया था।

रूणा ने जानकारी दी थी कि कि उसकी बेटी करुणा कुमारी जन्म के एक साल बाद से ही काफी बीमार हो गई थी। उसे पाइल्स, लीवर की बीमारी और कान बहने लगा था। उसका उपचार कराने में काफी पैसा खर्च होने लगा था। इस बात को लेकर उसके पति को बच्ची पर काफी गुस्सा आता था। कर्ज भी काफी हो गया था। पति को जब उसकी ज्यादा तबियत बिगडऩे पर उपचार कराने बोलने पर पति गुस्सा करने लगे थे। बोलने लगे थे कि उसे मारकर फेंक देते हैं। इस बात को लेकर पति से उसका झगड़ा भी हुआ था। वह बार-बार उसे मारकर फेंक देने की बात कहते थे। रूणा ने दर्ज केस में दावा किया था कि उसे पूर्ण विश्वास है कि उसके पति रोशन यादव ही बेटी को घर से ले जाकर कुआं में फेंक कर मार डाला होगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.