केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से मिले सांसद संतोष कुशवाहा, की कोसी-सीमांचल की अधूरी रेल-परियोजनाओं के लिए राशि की आंवटन की मांग

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से सांसद संतोष कुशवाहा ने शिष्टाचार भेंट करते हुए बिहार की अधूरी रेल परियोजनाओं की चर्चा की। लंबे समय से राशि आंवटन न हो पाने के चलते अधूरी पड़ी इन योजनाओं को लेकर उन्होंने केंद्रीय मंत्री को मांग पत्र भी सौंपा।

Dilip Kumar ShuklaSun, 26 Sep 2021 05:42 PM (IST)
केंद्रीय मंत्री से मिले सांसद संतोष कुशवाहा।

जागरण संवाददाता, पूर्णिया। शुक्रवार को नई दिल्ली स्थित रेल भवन में केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव (Ashwini Vaishnaw) से सांसद संतोष कुशवाहा (Santosh Kushawaha) ने मुलाकात की। सांसद ने कोसी-सीमांचल से जुड़ी अधूरी रेल-परियोजना के लिए राशि आवंटित करने की मांग की। इसके साथ ही पूर्णिया कोर्ट स्टेशन पर वांशिग पीट का निर्माण कराने के साथ -साथ इस स्टेशन पर जानकी एक्सप्रेस और हाटे-बजारे एक्सप्रेस का ठहराव सुनिश्चित करने की मांग भी की।

सांसद कुशवाहा ने इस आशय का मांग पत्र भी रेल मंत्री को सौंपा। उन्होंने कहा कि हमारे इलाके को रेल मानचित्र पर समुचित स्थान मिलना चाहिए, ताकि इस क्षेत्र का सर्वांगीण विकास हो सके। सांसद कुशवाहा ने कुर्सेला-बिहारीगंज रेल परियोजना का जिक्र करते हुए कहा कि इस परियोजना की परिकल्पना तत्कालीन रेल मंत्री स्व ललित नारायण मिश्र ने किया था। इस परियोजना के तहत कुर्सेला से रुपौली, टीका पट्टी,धमदाहा होते हुए बिहारीगंज तक रेल लाइन बिछना था। स्व रामविलास के कार्यकाल में सर्वे के लिए बजट में प्रावधान कर कुर्सेला में शिलान्यास भी किया गया था।

वर्ष 2009 में तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद द्वारा रेल बजट में इस परियोजना को शामिल करते हुए 58.35 किमी लंबे रेल लाइन के लिए 192.56 करोड़ राशि को स्वीकृति भी प्रदान की गई थी। उंसके बाद ही 42 करोड़ का आवंटन भी प्रदान किया गया। लेकिन उसके बाद इस परियोजना के लिए कुछ खास नहीं किया गया। जिसका परिणाम है कि यह परियोजना आजतक अधूरी है। उन्होंने इस परियोजना की अहमियत का जिक्र करते हुए रेल मंत्री से परियोजना को पूरा करने के लिए आवश्यक धन राशि आवंटित करने का आग्रह किया। सांसद ने पूर्णिया कोर्ट स्टेशन में वाशिंग पीट के निर्माण की आवश्यक्ता बताते हुए कहा कि इस निर्माण के बाद यहां से लंबी दूरी की ट्रेनों का परिचालन सम्भव हो सकेगा ,जो अभी नही हो पा रहा है।

उन्होंने यह भी कहा कि वे यह मांग वर्ष 2014 से ही करते आ रहे हैं, लेकिन कोई सार्थक कार्रवाई नहीं हो रही है। इसके अलावा उन्होंने रेल मंत्री से हाटे -बजारे एक्सप्रेस और जानकी एक्सप्रेस का ठहराव पूर्णिया कोर्ट में भी सुनिश्चित कराने का आग्रह किया। कुशवाहा ने कहा कि रेलमंत्री ने उनकी मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुए त्वरित कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.