मैं सिर्फ तुम्हारी हूं.. और तुम्हारी ही रहूंगी... आई लव यू... सॉरी जानू! ... और नाबालिग छात्रा ने कह दिया अलविदा

आत्‍महत्‍या के बाद सदमे में नाबालिग लड़की के स्‍वजन।

बिहार के भागलपुर सुल्‍तानगंज में प्रेम प्रसंग में एक नाबालिग लड़की ने आत्‍महत्‍या कर ली। लड़की ने एक सुसाइड नोट लिखा है। जिससे यह साबित हो रहा है वह किसी से प्रेम करती थी और अपने प्‍यार में असफल हो गई थी।

Dilip Kumar ShuklaSat, 15 May 2021 06:10 AM (IST)

भागलपुर [बॉबी मिश्रा]। जान... मैं कहीं बिजी नहीं थी। मेरा फोन अपने बॉयफ्रेंड से बात करने के लिए लिया था। मैं सिर्फ तुम्हारी हूं.. और तुम्हारी रहूंगी... आई लव यू! सॉरी जानू। इसके बाद एक नाबालिग छात्रा ने फंदे से लटककर जान दे दी। सुसाइड नोट लिखा यह पंक्ति सभी को झकझोर रहा है। बदलते दौर रिश्ते कितने कमजोर होते जा रहे हैं। 17 सालों से परवरिश करने वाले स्वजनों को छोड़ बस छोटी सी बात पर एक नाबालिग छात्रा ने अपनी जिंदगी खत्म कर दी।

यह घटना भागलपुर जिले के सुल्‍तानगंज का है। छात्रों ने अपने सुसाइड नोट पर तीन अलग-अलग दिनों का जिक्र किया है, जिसे उसने अपने जिंदगी का सबसे खराब दिन बताया है। सुसाइड नोट के अनुसार 16 फरवरी, 23 फरवरी और 12 मार्च का दिन उसके लिए काफी खराब था। आखिर इन तीनों दिनों के बारे में मृत छात्रा के स्‍वजन कुछ भी नहीं बता रहे। सुसाइड नोट में लिखी बातों की जानकारी स्‍वजनों ने मांगी तो तो सभी ने बोलने से इंकार कर दिया।

सुसाइड नोट की माने तो नाबालिग लड़की किसी लड़का से प्‍यार करती थी। लेकिन किसी अन्‍य छात्रा ने उसका ब्रेकअप करा दिया था। इसके बाद वे वे काफी सदमे में थी। पिछले कई दिनों से नाराज चल रही थी। किसी से ज्यादा बातें नहीं करती थी। छात्रा ने उस लड़की का नाम सुसाइड नोट में लिखते हुए लिखा है कि आज मैं सिर्फ तुम्हारी वजह से अपने प्यार और परिवार से दूर जा रही हूं। सब मुझे सिर्फ तुम्हारी वजह से शक कर रहे थे।

अपने स्‍वजनों को संबोधित करते हुए सुसाइड नोट में उसने अपने बॉयफ्रेंड का जिक्र करते हुए लिखा है कि मैं उस लड़के से काफी प्यार करती थी और आप लोग मुझे उससे बात करने नहीं देते थे। मैं अपनी पूरी जिंदगी उसी के साथ बिताना चाहती थी। लेकिन आप लोगों ने उसे बहुत परेशान किया, अब मैं जा रही हूं, सब कोई खुश रहना।

स्‍वजनों में शोक

छात्रा की मां का रो-रो कर बुरा हाल है। उन्होंने कहा कि अगर उसने सब कुछ घर में बता दिया होता तो इतना बड़ा कदम उठाने की जरूरत नहीं पड़ती। पूरा परिवार उसके साथ था। वह जो भी चाहती थी, परिवार के लोग पूरा करते थे। कभी भी किसी से वह ज्यादा बातें नहीं करती थी। छात्रा की मां ने बताया कि उसका एक छोटा भाई और बहन है। वही इन लोगों के लिए जीने का सहारा थी। अब वह छोड़ कर चली गई तो इन छोटे भाई-बहनों को कौन संभालेगा। अगर वह किसी चीज से परेशान थी तो घर में इसकी जानकारी दे सकती थी। हम लोग मदद करते। लेकिन बेवजह हो इतना बड़ा कदम उठा कर के हम लोगों को छोड़कर चली गई। वहीं छात्रा के भाई-बहनों ने बताया कि दीदी हम लोगों से कुछ भी बातें नहीं करती थी। हमेशा अकेले रहना चाहती थी। लेकिन किसे पता था कि वह एक दिन हम लोगों को यूं अकेला छोड़कर चली जाएगी।

परिजनों के बयान पर यूडी केस दर्ज

नाबालिग छात्रा ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली थी। छात्रा बेगूसराय के एक कॉलेज में 12वीं की छात्रा थी। स्‍वजनों ने बताया कि छात्रा नहाने के लिए थर्ड फ्लोर पर गई थी। जिसके बाद काफी देर तक हुआ जब नीचे नहीं उतरी तो उसके भाई उसे बुलाने के लिए छत पर गया।  देखा कि उसकी बहन फंदे से लटकी हुई है। पार्षद नवीन कुमार बन्नी को घटना की जानकारी दी। थाने को सूचना दी गई।  प्रभारी थाना अध्यक्ष सह सर्किल इंस्पेक्टर रतन लाल ठाकुर पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। शव को फंदे से नीचे उतरवाया। थानाध्यक्ष रतन लाल ठाकुर ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का ही लग रहा है। घटना की जांच की जाएगी। सुसाइट नोट का अध्‍यन किया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.