दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Lockdown in Bhagalpur: पुलिसिया ढील, 12 बजे तक बाजार में भीड़, दोपहर बाद दिखी सख्ती

लोहिया पुल पर सब्‍जी की खरीददारी करते लोग।

Lockdown in Bhagalpur चौक चौराहों पर दिखा हुजूम। लोगों की भीड़ देखकर नहीं लग रहा था की शहर में लॉकडाउन है। 12 बजे के बाद फॉर्म में दिखी पुलिस लोगों को खदेड़ा वाहनों के चालान भी काटे गए।

Dilip Kumar ShuklaFri, 07 May 2021 05:46 PM (IST)

जागरण संवाददाता, भागलपुर। जिले में इमरजेंसी लॉकडाउन शुरू हो गया। पहले दिन का आधा समय (दोपहर) तक लोग सड़क पर दिखे। कुछ चौक-चौराहों पर रोजाना की तरह हुजूम भी दिखा। चाय और नाश्ते की भी दुकानों पर लोगों की भीड़ दिखी। सुबह सात बजे से लेकर 12 बजे तक लोगों के चलने का सिलसिला जारी रहा। वाहनों का आना-जाना भी लगा रहा। फिर पुलिस की सख्ती से लोग घरों में कैद हो गए। किराना दुकानदारों ने प्रशासन के तय समय सुबह सात बजे दुकान खोल दी और 11 बजे बंद कर दी। बसों में निर्धारित 50 फीसद से ज्यादा लोग बैठे दिखे। पहले दिन जागरण की टीम पूरे शहर की प्रशासनिक व्यवस्था से रूबरू हुई।

8.30 बजे हड़िया पट्टी

उल्टा पुल के नीचे और वेरायटी चौक होकर लोग सब्जी और किराना दुकानों में खरीदारी करने पहुंचते रहे। कोई रोकने वाला नहीं था। दुकानदार भी शारीरिक दूरी बनाए रखने के बारे में रोकटोक नहीं करते दिखे। मार्केट में दर्जनों बाइक जहां-तहां खड़ी थी। स्टेशन चौराहा पर चाय और नाश्ते (भूंजा) की दुकानें खुली थी। पुलिस कर्मी आए तो दुकानें बंद हुई।

8.50 बजे, उल्टा पुल सब्जी मंडी

उल्टा पुल के नीचे मंडी और सड़क किनारे सब्जी बेचने वाले बैठे थे। ये लोग शारीरिक दूरी बनाकर नहीं थे। लेकिन, ग्राहकों बिना शारीरिक दूरी बनाकर सब्जियों की खरीदारी करते दिखे। पुलिस के जवान भी नजर नहीं आए। लोग कुछ समझने को तैयार नहीं थे। पुल पर वाहनों का आवागमन भी जारी रहा। जबकि परबती चौक पर जरूरत की ही दुकानें खुलीं थीं। चौराहे पर लोगों का हुजूम देखकर लग रहा था की इन्हें लॉकडाउन के बारे में जानकारी नहीं है। शारीरिक दूरी का पालन किए हुए सड़क किनारे लोग बातचीत करते दिखे।

9.20  बजे भीखनपुर त्रिमूर्ति चौक

भोला नाथ पुल से भीखनपुर के बीच सड़कों पर वाहन चलते दिखे। लेकिन जरूरत की छोड़कर सभी दुकानें बंद थी। त्रिमूर्ति चौक पर सब्जी मंडी में लोगों की भीड़ दिखी। गली में चाय और नाश्ते की दुकानें खुलीं थीं।

9.50 बजे घंटाघर से लेकर कचहरी चौक

घंटाघर से लेकर कचहरी चौक तक दवा की दुकानें, खुली थी। निजी क्लीनिक भी खुले रहे। दवा दुकान और निजी क्लीनिक के बाहर भी लोगों की भीड़ थी। कहीं पर किसी को रोका-टोका नहीं गया। इस कारण लोग बेतरतीब तरीके से आते-जाते रहे। कचहरी चौक पर पेट्रोल पंप पर वाहनों की भीड़ दिखी।

10.20 बजे, हटिया रोड

हटिया रोड में  किराना, दवा  और पान-सुपारी की दुकानें भी खुली थीं। लोगों के आने जाने का सिलसिला चलता रहा। भीड़ लगाकर लोग खरीदारी करते दिखे। तिलकामांझी चौक पर पुलिस की जीप खड़ी थी। जवान वाहनों की जांच करते दिखे।सुरखीकल रोड इलाके की नेवी मैं खुलने लगी थीं।

कचहरी चौक, 11 बजे

कचहरी चौक पर ई-रिक्शा, बाइक और का आवागमन जारी रहा। कुछ दुकानें खुली थी। लेकिन प्रशासन की ओर से निर्धारित समय पर 11 बजे दुकानों का शटर गिरने लगा। समाहरणालय गेट के पास पुलिस की जीप लगी थी।

एक बजे खलीफाबाग से स्टेशन चौक दो बजे

खलीफाबाग चौक से स्टेशन चौक तक कि सभी दुकानें बंद थी। बैरिकेडिंग की वजह से वाहन का प्रवेश तो नहीं हो सका। लेकिन, कुछ लोग सड़क पर थे। जिसे पुलिस के जवानों ने घर मे जाने की सलाह दी। इस दौरान कुछ लोग बिना मास्क लगाए थे। पुलिस ने वार्निंग और जुर्माना देकर छोड़ दिया।

1.50 बजे आलीगंज, मिरजान हाट रोड

अलीगंज और मिरजान हाट रोड में सड़कों पर वाहन कम दिखे। मोहल्लों में जरूरत की दुकानें खुली हुई थी। लोग सामानों की खरीदारी करते दिखे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.