top menutop menutop menu

Lockdown in Bhagalpur : सिल्क सिटी की राहों ने फिर सुना सन्नाटे का शोर

भागलपुर [अभिषेक कुमार]। सिल्क सिटी की राहों ने फिर से सन्नाटे का शोर सुना। गुरुवार को लॉकडाउन पूरी तरह प्रभावी दिखा। गुरुवार की दोपहर शहर की सड़कें सूनी थीं। दुकानें बंद थीं। इक्का-दुक्का लोग नजर आ रहे थे। यहां कुछ बिक रहा था तो मास्क और सैनिटाइजर। सड़क किनारे सब्जी की दुकानें आम दिनों की तरह सजी थीं, लेकिन खरीदार नहीं पहुंच रहे थे। कल तक जो टमाटर 80 रुपये प्रति किलो में इठला रहा था, आज उसकी कीमत गिर कर 60 हो गई थी। हालांकि, गली-मोहल्लों में राशन आदि की दुकानों के शटर आधे खुले थे। ग्राहकों के अनुरोध पर गली-मोहल्ले के दुकानदार शटर उठा कर सामान दे रहे थे। ऐसा नहीं था कि इस सबके लिए पुलिस-प्रशासन को खूब मशक्कत करनी पड़ी है। यह सब स्वत: स्फूर्त था। कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या और दवा दुकान पर एक मरीज की अचानक मौत ने मानों लोगों की जेहन में ऐसा प्रभाव डाला हो कि लोग खुद रिक्शवाला, ठेलावाला, सब्जी बेचने वाला सब के सब उदास बैठे थे। 

कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या का दहशत लोगों के माथे पर इस कदर सवार है कि बिना प्रशासनिक मशक्कत के लोगों ने खुद अपने घर में लॉकडाउन कर लिया। शहर के एक प्रसिद्ध दवा दुकान पर एक पॉजिटिव मरीज के मरने की घटना ने लोगों के जेहन पर इस कदर असर डाला कि अब जरूरी काम के लिए भी लोग घर से बाहर निकलने के पहले दस बार सोचते हैं। 

बरारी रोड, समय : 02:00 बजे - रोड पर चहल-पहल न के बराबर है। हां, कुछ एक बाइक सवार थोड़े अंतराल पर आते-जाते जरूर दिख रहे हैं। हाउसिंग बोर्ड चौराहे पर भी लगभग दुकानें बंद हैं। माउंट कार्मेल के सामने एक औरत टोकरी में आम लिए एक औरत बैठी है, लेकिन वहां कोई भी खरीदार नहीं है। सरकारी बस डीपो के अंदर विरानगी छाई है। यहां केवल एक टेंपो लगी है। 

तिलकामांझी चौक, समय : 02:05 बजे -यहां कुछ बिहार पुलिस और रैप के जवान दिख रहे हैं। लेकिन, तेज धूप होने के कारण सभी पेड़ के नीचे खड़े हैं। यहां स्टेशन की ओर से एक ई-रिक्शा आती दिख रही है, लेकिन उसपर केवल एक सवारी बैठा है। बेरोक-टोक चौराहे से होते हुए ई-रिक्शा जीरोमाइल की ओर बढ़ जाती है। मेडिकल कॉलेज रोड में थोड़ी दूर आगे बढऩे पर कुछ सब्जी की दुकानें सजी हैं, लेकिन ग्राहक नहीं पहुंच रहे हैं। 

रानी लक्ष्मीबाई चौक 02:10 बजे  - आम दिन तो यहां हमेशा पुलिस के जवान तैनात रहते दिखते हैं, लेकिन आज यहां एक भी जवान नहीं हैं। चौक से कुछ दूर साइकिल पर मास्क की दुकान सजाए एक-दो युवक दिख रहे हैं। लोगों की चहल-पहल यहां न के बराबर है। 

आदमपुर चौक, समय : 02:15 बजे -यहां पर कुछ लोग आते-जाते दिख रहे हैं। साथ ही चौक के पास सब्जी मंड़ी में कुछ दुकानदार ग्राहकों का इंतजार करते दिख रहे हैं। हालांकि, गिनती के एक-दो खरीदार ही यहां दिख रहे हैं। यहां पुलिस के जवान नहीं दिख रहे हैं। 

बूढ़ानाथ मंदिर रोड, समय : 02:25 बजे  - बूढ़ानाथ मंदिर की ओर जाने वाली सड़क सूनी दिखी। साथ ही चौक पर सन्नाटा पसरा हुआ है। हालांकि, गली में कुछ दुकानें खुली है। दुकानदारों ने आधे शटर को खोल कर रखा है। ग्राहकों के आने पर वे शटर को पूरा खोलते हैं और सामन देने के बाद शटर को फिर से नीचे सरका देते हैं। यहां मोहल्ले के एक-दो युवक घर के बाहर टहलते दिख रहे हैं। 

गोलाघाट रोड, समय : 02:30 बजे  - यहां लॉकडाउन का असर सबसे अधिक दिख रहा है। सड़क पर सन्नाटा पसरा है। एक भी लोग यहां आते-जाते नहीं दिख रहे हैं। दुकानों के शटर भी बंद हैं। थोड़े अंतराल पर यहां से सन्नाटे के चीरते हुए गाडिय़ां यहां से केवल गुजर रही हैं। 

सराय चौक, समय : 02:45 बजे -चौराहे पर दो रिक्शा चालक सवारियों का इंतजार करते दिख रहे हैं। लोगों की आवाजाही न के बराबर है। महादेव सिंह कॉलेज की ओर जाने वाली सड़क पर पूरा सन्नाटा पसरा हुआ है। हां, एक दो मोबाइल की दुकानें खुली हैं। पर, खरीदार यहां भी नहीं दिख रहे हैं। 

विवि गेट, समय : 03:00 बजे  - सालों भर विद्यार्थियों से गुलजार रहने वाला इस इलाके में विरानगी छाई हुई है। विवि गेट के सामने की सभी चाय और नाश्ते की दुकानें बंद हैं। आगे बढऩे पर विवि स्टेडियम के पास के चौराहे पर कुछ जवान तैनात हैं। पर, यहां भी कोई आदमी नहीं दिख रहे हैं। यहीं स्थिति मारवाड़ी कॉलेज के सामने भी है। 

टीएनबी कॉलेज गेट 03:10 बजे  -विवि थाने का गश्ती दल यहां पुलिस गाड़ी लगा कर खड़ी है। नाथनगर की ओर से स्टेशन की ओर कुछ बाइक सवार आते-जाते दिख रहे हैं। आगे बढऩे पर परबत्ती चौक के पास कुछ लोग रोड किनारे खड़े होकर बातचीत करते दिख रहे हैं। यहां कुछ चाय-पान की दुकानें खुलीं हैं। 

तातारपुर चौक, समय : 03:15 बजे - लॉकडाउन का असर यहां पर कम दिख रहा है। अन्य चौक-चौराहे की तुलना में यहां लोगों का चहल-पहल ज्यादा है। चौक के पास पुलिस की गाड़ी लगी है। सभी जवान गाड़ी में बैठे हैं। यहां एक दो राशन की और कुछ चाय की दुकानें खुली हैं। 

स्टेशन चौक, समय : 03:30 बजे - यहां तातारपुर की तरफ स्टेशन गेट के सामने करीब दस रिक्शा चालक खड़े हैं, लेकिन लोग यहां नहीं दिख रहे हैं। गेट के सामने चाय-पान की तीन दुकानें खुली हैं। दुकान के सामने एक-दो लोग चाय पीते दिख रहे हैं। आगे बढऩे पर एक फल की दुकान खुली है। पर, ग्राहक यहां नहीं है। लोहिया पुल के नीचे लोगों सब्जी और राशन खरीदते दिख रहे हैं। 

कोला डिपो बस स्टैंड, समय : 03:35 बजे  - यहां रोड किनारे करीब आधा दर्जन सब्जी की दुकान लगी है। पास ही कुछ रिक्शा चालक भी सवारी का इंतजार करते दिख रहे हैं। चौक पर ही दो-तीन बीज भंडार भी खुले हैं। बस स्टैंड में कुछ गाडिय़ां खड़ी हैं, लेकिन न तो वहां एक भी ड्राइवर दिख रहे हैं और न ही कोई और। 

त्रिमूर्ति चौक, समय : 03:40 बजे -  स्टेशन की तरफ से आगे बढऩे पर चौक से पहले एक निजी क्लिनिक के बार दो एंबुलेंस खड़ी है। एंबुलेंस को कुछ लोग घेरे खड़े हैं। पास पहुंचने पर पता चला कि सड़क दुर्घटना में घायल एक गंभीर मरीज को लाया गया है। क्लिनिक के पास की मेडिकल दुकानें खुली हैं। चौके से आगे बढऩे पर मीट की अधिकांश दुकानें खुली दिख रही हैं। पर, खरीदार यहां भी नहीं दिख रहे हैं। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.