top menutop menutop menu

Coronavirus Munger Update : प्रवासियों ने आने से बढ़ रहे संक्रमित मरीजों की संख्‍या, डीएम पहुंचे क्वारंटाइन सेंटर

मुंगेर, जेएनएन। Coronavirus Munger News Update : मुंगेर कोरोना वायरस के संक्रमण मामले में हॉट स्पॉट बना हुआ है। प्रवासियों के आने से यह सिलसिला और बढ़ लिया। सोमवार को जिलाधिकारी राजेश मीणा क्वारंटाइन सेंटर पहुंचे। वह रह रहे प्रवासियों को दी जाने वाली सुविधा और हो रही परेशानियों के बारे में जानकारी ली। अधिकारियों को उन्होंने निर्देश दिए। 

डीएम राजेश मीणा ने कहा कि रविवार को कोरोना के सात नए मरीज मिले थे। आठ, 17, 20, 23, 25 और 35 वर्ष के पुरुष मरीज की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। सभी प्रवासी हैं। वहीं, 40 वर्षीय एक व्यक्ति की जांच रिपोर्ट जिला के लैब में जांच बाद पॉजिटिव पाया गया था। अब जिला में मात्र 30 एक्टिव केस हैं।

इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये जिला में प्रवासी श्रमिकों के लिए बनाए गए क्वारंटाइन कैंप की व्यवस्था का जायजा लिया। मुख्यमंत्री ने राजकीय अंबेडकर आवासीय बालिका उच्च विद्यालय सदर प्रखंड मुंगेर एवं कस्तूरबा आवासीय विद्यालय टेटिया बम्बर में रह रहे प्रवासी श्रमिक बंधुओं से न सिर्फ उनका हालचाल एवं उनके व्यवसाय के संबंध में फीडबैक भी लिया।

डीएम ने बताया कि जिले में अब तक 10 हजार 925 मजदूर दूसरे राज्यों से आए हैं। इनमें से 9 हजार 309 विभिन्न क्वारंटाइन कैंप में रह रहे है। 827 लोगों का जॉब कार्ड निर्गत किया गया है। जिन्हें क्वारंटाइन अवधि पूरा होने के बाद रोजगार दिया जाएगा। कार्पेंट्री, टाइल्स, ईट निर्माण, रेडीमेड गारमेंट, ब्लॉक टेलरिंग आदि के क्षेत्र में क्लस्टर विकास की योजना है।

कस्तूरबा आवासीय विद्यालय टेटिया बम्बर स्थित क्वारंटाइन कैंप उप उपलब्ध सुविधा का जायजा लेने के दौरान सीएम ने डीडीसी और प्रवासी मजदूरों से बातचीत की। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान उपलब्ध सुविधाओं, रसोई घर, भोजन, स्नानागार शौचालय, स्टोर रूम आदि का निरीक्षण किया तथा कुशल व्यवस्था पर संतोष प्रकट किया। इस अवसर पर एसपी लिपी सिंह, एडीएम विद्यानंद सिंह, निदेशक डीआरडीए राजेश कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी खगेश चंद्र झा आदि उपस्थित थे।

रोजगार की संभावनाओं के आधार पर बनाएं योजना

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान डीएम राजेश मीणा से बातचीत करते हुए कहा कि स्थानीय स्तर पर प्रवासी को रोजगार उपलब्ध कराएं। इसके लिए क्या आपने कोई योजना बनाई है। डीएम ने कहा कि प्रवासी में कई चालक हैं। ऐसे में अगर उन्हें मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना के तहत वाहन उपलब्ध कराई जाए, तो उनके लिए बेहतर होगा।

सात हुए संक्रमित तो 22 ने दिया कोरोना को मात

जीएनएम स्कूल में बने आइसोलेशन वार्ड सह ट्रीटमेंट सेंटर से 22 मरीज कोरोना को मात देकर घर लौट गए। डीएम ने कहा कि सभी स्वस्थ्य हुए लोगों को जीएनएम स्कूल से शाम में डिस्चार्ज कर दिया गया। डीएम ने कहा कि इसके साथ ही जिला में कुल स्वस्थ्य हुए लोगों की संख्या 116 हो गई है। अब जिला में मात्र 30 एक्टिव केस हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.