Khagaria: पहली कक्षा के छात्र ने की महिला से छेड़खानी, गिरफ्तारी का आदेश, मामला पहुंचा एसपी के पास तो

खगडि़या में पहली कक्षा के छात्र पर एससी-एसटी एक्ट व छेड़खानी का केस दर्ज किया गया है। मामला संज्ञान में आने पर एसपी ने दिया मामले की जांच का आदेश। इससे पूर्व बच्चे की गिरफ्तारी का दे दिया गया था आदेश।

Dilip Kumar ShuklaPublish:Thu, 02 Dec 2021 07:50 PM (IST) Updated:Thu, 02 Dec 2021 07:50 PM (IST)
Khagaria: पहली कक्षा के छात्र ने की महिला से छेड़खानी, गिरफ्तारी का आदेश, मामला पहुंचा एसपी के पास तो
Khagaria: पहली कक्षा के छात्र ने की महिला से छेड़खानी, गिरफ्तारी का आदेश, मामला पहुंचा एसपी के पास तो

खगडिय़ा [मुकेश]। पुलिस के कुछ कारनामे चर्चा में आ ही जाते हैं। ऐसे ही एक मामले के कारण गोगरी पुलिस चर्चा में है। यहां पहली कक्षा में पढऩे वाले एक बच्चे पर एससी-एसटी एक्ट व छेडख़ानी का केस दर्ज हुआ। केस का पर्यवेक्षण करने वाले पुलिस के वरीय अधिकारी ने बैठे-बैठे उसकी गिरफ्तारी का आदेश जारी भी कर दिया। मामला जब एसपी अमितेश कुमार के संज्ञान में आया, तो उन्होंने इसे गंभीरता से लेते हुए दोबारा मामले की गहन जांच के आदेश दिए हैं।

गोगरी के शिशवा गांव की अनोखा देवी ने एसपी को दिए आवेदन में कहा है कि फतेहपुर की एक महिला ने उधार लिए रुपये नहीं लौटाने की मंशा से गोगरी थाना में केस दर्ज कराया। इसमें छेडख़ानी, एससी-एसटी एक्ट, चोरी समेत अन्य धाराएं लगाते हुए पुलिस द्वारा केस दर्ज कर लिया गया। केस में एक महिला समेत चार को आरोपित किया गया। एक आरोपित पहली कक्षा का छात्र है।

एक अन्य आरोपित अरविंद यादव कोरोना के बाद परदेस से लौटे ही नहीं। केस में फतेहपुर की दो महिलाओं शोभा देवी और मीरा देवी को प्रत्यक्षदर्शी गवाह बनाया गया है, लेकिन दोनों ने कोर्ट के समक्ष शपथपत्र के माध्यम से घटना के संदर्भ में किसी भी जानकारी से इन्कार किया है। मुख्यालय डीएसपी रंजीत सिंह को पर्यवेक्षण का जिम्मा सौंपा गया था। आरोप लगाया गया है कि मुख्यालय डीएसपी ने बिना गहन जांच किए कार्यालय में बैठे-बैठे घटना को सही करार दिया और बालक की भी गिरफ्तारी का आदेश दे दिया। इस घटना की चर्चा हर ओर हो रही है। लोग कर रहे हैं कि एक वर्ष का बच्‍चे का आरोप लगाना हास्‍यास्‍पद है।

शिकायत मिलने पर मामले की दोबारा जांच के आदेश दिए गए हैं। हर हाल में निर्दोष को न्याय मिलेगा। मामले को गंभीरता से नहीं लेकर जांच करने वाले अधिकारियों पर भी रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई होगी। - अमितेश कुमार, एसपी, खगडिय़ा