दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

काजीकैरी खानकाह रहमानिया: कैरीशरीफ के गद्दीनशीं हसनैन रजा कादरी हुए सुपुर्द-ए-खाक

काजीकैरी खानकाह रहमानिया के गद्दीनशीं सैयद अब्दुल हसनैन रजा।

काजीकैरी खानकाह रहमानिया के गद्दीनशीं सैयद अब्दुल हसनैन रजा कादरी के निधन के बाद शोक की लहर है। आज सुपुर्द ए खाक की गई। खानकाहे रहमानिया गद्दीनशीं की मौत की खबर सुनकर सुपुर्द ए खाक के मौके पर कई प्रांतों के लोग शामिल हुए थे।

Dilip Kumar ShuklaThu, 06 May 2021 05:52 PM (IST)

जागरण संवादाता, बांका। कैरी शरीफ खानकाह (बौंसी, बांका) के गद्दीनशीं सैयद हसनैन राजा कादरी का मंगलवार की रात सिलीगुड़ी में इन्तेकाल हो गया था। कोरोना होने के बाद वो इलाज के लिए सिलीगुड़ी गए हुए थे। बुधवार की सुबह उनका शव बौंसी लाया गया। गुरुवार को उन्हें सिपुरर्दे खाक कर दिया गया। वो मूल रूप से भागलपुर जिले के मुल्लाचक मुहल्ले के रहने वाले थे। स्व हसनैन रजा के पुत्र अमीन मियां खानकाह के वलीअहद हैं।

काजीकैरी खानकाह रहमानिया के गद्दीनशीं सैयद अब्दुल हसनैन रजा कादरी के निधन पर गुरुवार को नमाजे जनाजा के बाद सुपुर्द ए खाक की गई। हजरत रजा कादरी के वारिसानों में सज्जादा मु मुफ्ती सैय्यद शाहिद रजा कादरी ने अपने बड़े भाई सैयद मामून कादरी सहित सैयद शाहबाज, आफीफ, वासीफ और नौशाद कादरी की मौजूदगी में नमाजे जनाजा के साथ हुस्ल कराए। शाहिद रजा ने हजरत से मुस्तदीन को ज्यादा से ज्यादा सब्र जमील अता फरमाने की दुआ की। खानकाहे रहमानिया गद्दीनशीं की मौत की खबर सुनकर सुपुर्द ए खाक के मौके पर कई प्रांतों के लोग शामिल हुए थे।

इस क्रम में दो गज की दूरी की धज्जियां उड़ गई। इधर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी उनके निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए परिवार वालों को दुख सहने की प्रार्थना की है। वहीं, ग्रामीण विकास मंत्री जयंत राज कुशवाहा एवं सांसद गिरिधारी यादव ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि इनके निधन से आसपास क्षेत्र ही नहीं बिहार को अपूरणीय क्षति हुई है।

पूर्व विधायक भोला प्रसाद यादव, जनार्दन मांझी, स्वीटी सीमा हेंब्रम आदि ने शोक प्रकट किया है। इदारे सरिया गुलाम रसूल बलियावी, मुफ्ती सैयद अहमद रजा, खानकाह मोहम्मदिया अफताना अमझर शरीफ, खानकाह शाहबादिया भागलपुर व दीगर खानकाह के साथ मौलाना मुफ्ती मुजीबुर्रहमान छत्तीसगढ़ के साथ मुफ्ती नेहाल कैरी शरीफ, फारूक रहमानी, फैजुल रहमानी, मौलाना जैनुल आबेदीन, हाफिज सावेद, सैयद सफी कादरी अमझरी हाफिज औरंगजेब व खादीम मु. मोकीम सहित अन्य थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.