कटिहार का साइबर ठग 15 लाख के जेवर के साथ भागलपुर से गिरफ्तार

कटिहार का साइबर ठग 15 लाख के जेवर के साथ भागलपुर से गिरफ्तार
Publish Date:Sun, 09 Aug 2020 03:42 PM (IST) Author: Dilip Shukla

भागलपुर, जेएनएन। कटिहार जिले के मिर्चाबाड़ी इलाके के शातिर साइबर ठग श्रीधर झा को कोतवाली पुलिस ने डीएन सिंह रोड स्थित तनिष्क शो रूम से रविवार को गिरफ्तार किया है। उसके पास से पुलिस ने 15 लाख रुपये का सोने का जेवर भी बरामद किया है। शो रूम में उसके मौजूदगी की जानकारी मिलते ही कोतवाली इंस्पेक्टर अमर विश्वास दल बल के साथ पहुंचे। उन्होंने श्रीधर को गिरफ्तार कर लिया। इंस्पेक्टर ने उससे घटना के बारे में सारी जानकारी ली। आरोपित से प्रशिक्षु डीएसपी दिवेश तिवारी, विपिन बिहारी और डॉ. गौरव मिश्रा ने भी पूछताछ की।

एचडीएफसी के खाते से निकले थे रुपये

बता दें कि नौशाबा बानो ने नगर थाना कटिहार में शुक्रवार को खाते से करीब 15 लाख 71 हजार रुपये गायब होने का केस दर्ज कराया था। वे  कटिहार जिले के न्यू ऑफिसर्स कॉलोनी, बुद्धचक निवासी मु. जाहिद हैदर की पत्नी हैं। जाहिद कटिहार व्यवहार न्यायालय के कर्मी हैं। उनके एचडीएफसी बैंक खाते से चार अगस्त को रुपये निकले थे। रुपये भागलपुर स्थित एमपी सर्राफ और एसडी सर्राफ सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के खाते में ट्रांसफर हुआ था। नौशाबा ने केस में शाखा प्रबंधक मुकेश मोहन एवं अन्य अज्ञात बैंककर्मियों को आरोपित किया था। उन्होंने अपनी बेटी की शादी के लिए रुपये रखे थे।

तनिष्क शो रूम के संचालक के खाते में ट्रांसफर हुए थे रुपये

पुलिस ने मामले की जांच के दौरान एमपी सर्राफ और एसडी सर्राफ सर्विस प्राइवेट लिमिटेड से संपर्क किया। यही तनिष्क शो रूम के संचालक हैं। उन्होंने बताया कि उनकी दुकान से तीन अगस्त की शाम 4.00 बजे तिलकामांझी के अंकित कुमार नाम के लड़के ने सोने का जेवर लिया है। इसमें एक गले का सेट, दो जोड़ा कान का, दो चेन, नथ, मांग टीका, दो जोड़ा चूड़ी सभी सोने का खरीदा है। इसके लिए उसने अपने पैन कार्ड का फोटो कॉपी भी दिया था। जांच के दौरान पता चला कि पैन कार्ड और आइडी फर्जी थी। पुलिस ने शो रूम में लगे सीसीटीवी कैमरे का फुटेज मांगा। उसमें दिख रहा चेहरा श्रीधर झा का था। इसके बाद शो रूम कर्मियों ने ठग को फोन कर बिल में कुछ तकनीकी गड़बड़ी का हवाला देकर आने को कहा।

 

जेवर लौटाने की बात कह पहुंचा था शोरूम

लेकिन तब तक उसे केस की जानकारी हो गई थी। यह पता चलते ही वह रविवार को जेवर लौटाने शोरूम अपनी मां के साथ पहुंच गया। वहां बेटे को पुलिस वालों से घिरा देख उसकी मां बेहोश हो गई। शो रूम के मैनेजर मसाकचक निवासी अमित तिवारी ने बताया कि दो को ही उसने जेवर का एस्टीमेट बनवाया था। शनिवार को श्रीधर जैसे ही शो रूम आया। उन लोगों ने पुलिस को इसकी जानकारी दे दी। कोतवाली पुलिस ने नगर थाना कटिहार के थानेदार रंजन कुमार को इसकी जानकारी दी। वहां से पुलिस भागलपुर पहुंची। जरूरी प्रक्रिया के बाद आरोपित को कटिहार ले जाया गया।

किसी अपने के मिलीभगत की आशंका

पुलिस को आशंका है कि इस घटना में शिकायतकर्ता का कोई अपना आरोपित से मिला है। तभी उनके बैंक की सारी गोपनीय जानकारी उसके पास पहुंची। इस वजह से उसने आसानी से खरीददारी कर ली है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.