दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Jamui News: अचानक DDC पहुंच गए डेडिकेटेड हेल्थ सेंटर, अब यहां होगी मजिस्ट्रेट की तैनाती

सेंटर में 144 बेड बनाया गया है।

उपविकास आयुक्त आरिफ अहसन ने डेडिकेटेड हेल्थ सेंटर बेड ऑक्सीजन और दवा के स्टॉक की जानकारी ली। वहीं डीएम ने कहा है कि कोरोना जांच तथा टीकाकरण में पिछड़ने वाले चिकित्सा पदाधिकारियों व संबंधित कर्मियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Dilip Kumar ShuklaWed, 12 May 2021 01:56 PM (IST)

जागरण संवाददाता, जमुई। उपविकास आयुक्त आरिफ अहसन मंगलवार को सदर अस्पताल परिसर संचालित डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर व आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया। साथ ही ऑक्सीजन और दवा स्टॉक की विस्तारपूर्वक जानकारी ली। उन्होंने बताया कि वर्तमान में उक्त सेंटर में 144 बेड बनाया गया है जहां आवश्यक संसाधन के साथ-साथ रोस्टरवाइज चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी की तैनाती की गई है। बुधवार से मजिस्ट्रेट की भी तैनाती हो जाएगी। डीडीसी ने ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन सिलेंडर, बेड, दवा, सुरक्षा को लेकर किए गए उपाय सहित अन्य आवश्यक चीजों का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि प्रबंधन में कुछ कमी है, इसे लेकर मौजूद सिविल सर्जन डॉ. विनय कुमार शर्मा एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुधांशु नारायण लाल को आवश्यक निर्देश दिया गया। वर्तमान में कोरोना की दूसरे लहर का भयावह चक्र चल रहा है। हम सबों को धैर्य और सजगता से रहने की जरूरत है। सभी लोग मिलकर अपनी सहभागिता दिखाते हुए सरकारी निर्देश को माने।

लक्ष्य प्राप्ति में पिछड़ने वालों पर होगी कार्रवाई

डीएम अवनीश कुमार सिंह ने कहा है कि कोरोना जांच तथा टीकाकरण में पिछड़ने वाले चिकित्सा पदाधिकारियों व संबंधित कर्मियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। वे प्रखंडों के मेंटर पदाधिकारियों एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों के साथ टीकाकरण अभियान एवं कोरोना टेस्टिंग की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान जिला पदाधिकारी ने झाझा एवं गिद्धौर प्रखंड में और अधिक टेस्टिंग बढाने का निर्देश संबंधित मेंटर पदाधिकारी एवं चिकित्सा पदाधिकारी को दिया। जिलाधिकारी ने जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर 18 से 44 वर्ष के व्यक्तियों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने का भी टास्क अधिकारियों को दिया ताकि कोरोना के संक्रमण से बचाव हो सके। जिलाधिकारी ने पदाधिकारियों को सावधान करते हुए कहा कि आपदा के समय में जिस भी पदाधिकारी को जो लक्ष्य दिया जा रहा है उसे वह ईमानदारी के साथ पूरा करें। उन्‍होंने कहा कि लगातार इसकी मॉनिटरिंग की जा रही है। इसलिए सभी गंभीरता से कार्य करें।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.