Jamui Coronavirus News : यहां कोविड नियमों की हो रही अनदेखी, अपील का नहीं दिख रहा असर

Jamui Coronavirus News : जमुई में कोरोना संक्रमण का मामला तेजी से बढ़ता जा रहा है।

Jamui Coronavirus News जमुई में कोरोना संक्रमण का मामला तेजी से बढ़ता जा रहा है। इसके बाद भी कोविड नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है। इससे आने वाले समय में संक्रमण दर और भी बढ़ सकता है।

Abhishek KumarFri, 16 Apr 2021 10:12 AM (IST)

संवाद सहयोगी, जमुई! देहाती शब्द है बलधुमकी यानी बेवजह उलझना। जिले में लोग कुछ ऐसी ही बलधुमकी कोरोना संक्रमण के साथ कर रहे हैं। टीवी पर खबर देखने के दौरान ङ्क्षचता व्यक्त करने वाले सड़क पर आते ही खुद बेपरवाह बन जाते हैं। टोकने पर बस, अरे कोरोना से क्या डरना और हमको कुछ नहीं होगा कह बलधुमकी दिखा देना। ना संक्रमित होने का डर और ना ही अपने परिवार व समाज के स्वास्थ्य की ङ्क्षचता। बस अपने झूठे गरुर में मगरुर। जी हां कोरोना संक्रमण के रफ्तार पकडऩे के बावजूद जिले में कोरोना से बचाव के उपाय अपनाने को लेकर लोग उदासीन बने हैं। बाजार में लोग भीड़ की शक्ल में बेखौफ है तो मास्क मुंह से नदारत। जिन्होंने मास्क पहना भी उनका मास्क मुंह-नाक की जगह गले में माला की तरह लटकता रहता है।

अब सवाल यह उठता है कि ऐसे कृत्य से ही हम कोरोना से बच सकेंगे। क्या हर चीज के लिए शासन व प्रशासन पर निर्भर रहे। अपनी कोई जिम्मेवारी नहीं। ये सवाल यूं नहीं बल्कि शहर के हालात को देखकर हर संवेदनशील के मन में उठ रहा है। गुरुवार को शहर के महाराजगंज व कचहरी चौक सहित शहर में बेपरवाह व लापरवाह का ही नजारा दिख रहा था। कचहरी चौक पर लोगों की भीड़ थी तो लोगों ने मास्क तक नहीं लगाया था। कई के मास्क मुंह के बजाए गला में माला बना था। महाराजगंज सड़क पर ट्रैफिक बेफ्रिक था। वाहनों की कतार लगी थी तो शारीरिक दूरी के मानक की धज्जियां उड़ रही थी। लोग गाइडलाइन के पालन को लेकर बेपरवाह बने थे। जानकार बताते हैं कि अगर लोग खुद सचेत हो जाए।

गाइडलाइन का पालन करते हुए अपने कार्य करें तो फिर लॉकडाउन की जरुरत ही क्यों पड़ेगी। पहले के समय में लोग विशेष काम होने पर या चार-पांच काम होने के बाद शहर की ओर मुंह करते थे। ङ्क्षकतु अब तो लोग पान खाने और मटरगश्ती करने शहर की दौड़ लगा देते हैं। एक दिन में चार से पांच बार बाजार पहुंचते हैं। यह स्थिति कोरोना से जंग के लिहाज से सही नहीं है। लोगों को खुद जागरुक होकर सचेत होना पड़ेगा तभी इस अ²श्य वायरस रुपी शत्रु से लड़ा जा सकता है। इधर सिविल सर्जन डा विनय कुमार शर्मा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा गाइडलाइन नहीं मानने वालों पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। मुंह पर मास्क व दो गज की दूरी बहुत ही जरुरी है। इससे कोरोना को चेन टूटेगा। चेन टूटने के बाद ही इससे निपटा जा सकता है।

एक सप्ताह में 119 संक्रमित की हुई पहचान

कोरोना की रफ्तार को समझने के लिए एक सप्ताह का आंकड़ा काफी है। 8 अप्रैल से 14 अप्रैल तक जिले में 119 नए संक्रमित की पहचान हुई है। एक अप्रैल से 14 अप्रैल तक 155 नए संक्रमितों की पहचान हुई। हर दिन संक्रमितों की संख्या में इजाफा हो रहा है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.