जमुई में नवनिर्वाचित मुखिया को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, विरोध में आगजनी, हंगामा, प्रदर्शन व सड़क जाम

जमुई में दरघा पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया जयप्रकाश प्रसाद उर्फ प्रकाश महतो को अपराधियों ने गोली मार दी। इलाज के लिए ले जाने के क्रम में उसकी मौत हो गई। हत्‍या के विरोध में आगजनी हंगामा प्रदर्शन व सड़क जाम किया गया।

Dilip Kumar ShuklaFri, 03 Dec 2021 10:02 PM (IST)
जमुई में नवनिर्वाचित मुखिया की हत्या के विरोध में आगजनी करते लोग।

संवाद सहयोगी, जमुई। जमुई जिले के नवसृजित लछुआड़ थाना क्षेत्र की दरखा पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया जयप्रकाश प्रसाद उर्फ प्रकाश महतो को शुक्रवार की शाम को अज्ञात हमलावरों ने गोलियों से भून डाला। उन्हें चार गोलियां लगीं। स्थानीय अस्पताल में प्राथमिक चिकित्सा के बाद पटना ले जाने के क्रम में नवादा और बिहारशरीफ के बीच उनकी सांसें थम गईं। तीन की संख्या में आए अपराधियों ने इस घटना को तब अंजाम दिया जब मुखिया अपने समर्थकों के साथ बालडा मोड़ स्थित लाइन होटल के पास बैठे थे। इधर, मुखिया की हत्या से आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस की जिप्सी तथा बोलेरो को आग के हवाले कर दिया। दोनों तरफ से फायर‍िंंग की भी बातें सामने आ रही हैं। इस संबंध में जमुई के एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने कहा कि फिलहाल स्वजन की ओर से कोई बयान नहीं आया है। प्रथम दृष्टया हत्या का कारण चुनावी प्रतिद्वंद्विता प्रतीत हो रहा है। आक्रोशित ग्रामीणों को पुलिस द्वारा समझा-बुझाकर शांत करा लिया गया है। फायरिंग जैसी बातें सिर्फ अफवाह है।

- जमुई के एक लाइन होटल पर अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम - तीन की संख्या में थे हमलावर - आक्रोशित ग्रामीणों ने दो पुलिस वाहनों को किया आग के हवाले - पुलिस ने आत्मरक्षा में चलाई गोली, भीड़ से भी फायर‍िंग करने की आ रही बात -घटनास्थल पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात - 2011 में मृतक की पत्नी भी चुनी गई थी मुखिया

जानकारी के अनुसार शुक्रवार की शाम को अलीगंज प्रखंड अंतर्गत दरखा पंचायत के नवनिर्वाचित मुखिया प्रकाश महतो सिकंदरा-नवादा मुख्य सड़क किनारे बालडा मोड़ के समीप अपनी जमीन पर निर्मित लाइन होटल के पास बैठे थे। उसी दौरान बाइक सवार तीन हमलावरों ने मुखिया पर ताबड़तोड़ फायरि‍ंंग  शुरू कर दी। गोलियां बरसने से घटना स्थल पर अफरा-तफरी मच गई और इलाके में सनसनी फैल गई। मौके पर उपस्थित लोगों ने मुखिया को गंभीर रूप से जख्मी अवस्था में अलीगंज अस्पताल पहुंचाया। वहां उसकी स्थिति नाजुक बताते हुए चिकित्सकों ने उन्हें जमुई रेफर कर दिया। हालांकि मुखिया के स्वजन उसे जमुई ले जाने के बजाय पटना के लिए निकल पड़े। लेकिन बिहारशरीफ पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गई। घटना के पीछे का कारण अबतक स्पष्ट नहीं हो सका है। लेकिन स्थानीय लोगों के बीच चुनावी रंजिश में मुखिया की हत्या किए जाने की चर्चा है। इनसे पहले 2011 में इनकी पत्नी निर्मला देवी भी उस पंचायत की मुखिया चुनी जा चुकी हैं। इस्लामनगर अलीगंज प्रखंड में जयप्रकाश ने सबसे कम 35 मतों के अंतर से जीत हासिल की थी। फिलहाल घटनास्थल पर भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती कर दी गई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.