अररिया में जर्जर पोल और तार दे रहे हादसे को आमंत्रण... दशकों बाद भी नहीं बदले जा रहे तार

अररिया में जर्जर पोल और तार हादसे को आमंत्रण दे रहे हैं। नरपतगंज के फुलकाहा और अमरोरी गांव में बिजली तार काफी जर्जर हो चुका हैं और पोल भी झुके हुए हैं। आये दिन तार टूटकर गिरते रहते हैं। लेकिन इस और जरा भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

Abhishek KumarMon, 14 Jun 2021 05:09 PM (IST)
अररिया में जर्जर पोल और तार हादसे को आमंत्रण दे रहे हैं।

संवाद सूत्र, फुलकाहा (अररिया)। नरपतगंज प्रखंड क्षेत्र के अधिकांश गांव में दशकों पूर्व लगाए गए बिजली के पोल और तार जर्जर हो चुके हैं। हल्की सी हवा में आपस में टकराती तारे कभी भी किसी बड़ी दुघर्टना का कारण बन सकती हैं। नरपतगंज के फुलकाहा और अमरोरी गांव में बिजली तार काफी जर्जर हो चुका हैं और पोल भी झुके हुए हैं। आये दिन तार टूटकर गिरते रहते हैं। पोल भी काफी दूर दूर लगाए गए हैं जिस कारण तार झूलता रहता हैं। ग्रामीणों का कहना है कि कई बार विभाग से शिकायत के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई है।

तारों के आपस में टकराने से ङ्क्षचगारियां निकल रही है जिससे हमेशा दुघर्टना का भय बना रहता है। ग्रामीणों ने कहा कि गत दिनों बरसात के दौरान लोगों को हर समय बिजली के पोलों के गिरने का भय बना रहता था। स्कूली बच्चोंं भी इन्हीं तारों के नीचे से गुजकर स्कूल जाते हैं। ऐसे में कभी तार टूटने से बड़ी दुघर्टना हो सकती है। बिजली विभाग की लापरवाही के चलते जर्जर तार आए दिन हादसों का कारण बने हुए है। स्थिति यह है कि आए दिन किसी न किसी क्षेत्र से हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से हादसे हो रहे है। कई गांव में तार इतने जर्जर है कि आए दिन टूटते है, जिससे जहां एक ओर गांवों की सप्लाई बाधित होती है वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों को बिजली तारों से होने वाले हादसों से जूझना पड़ता है।

सब कुछ जानने के बाद भी बिजली विभाग के अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं और किसी बड़े हादसे का इंतजार कर रहे हैं। तार इतने जर्जर व नीचे हैं कि आए दिन टूटते हैं। इसके साथ ही नीचे होने की वजह से कई बार इन तारों की चपेट में आकर जानवर मौत के शिकार बन चुके हैं। कई बार ग्रामीणों ने इन जर्जर तारों को बदलवाने की मांग की, पर किसी ने भी सुध नहीं ली।

अमरोरी में जर्जर तार के कारण जानवर की मृत्यु और फसल में लग चुके हैं आग

नरपतगंज प्रखंड के अमरोरी गांव में जर्जर तार के गिरने से परमेश्वर यादव का एक भैंस भी मर गया। वही राम प्रसाद यादव ट्रेक्टर से फसल को लेकर घर जा रहे थे तो जर्जर व झुका तार के कारण फसल में आग लग गई।

फुलकाहा के मानिकपुर स्थित अमरोरी के मुख्य मार्ग की गलियों में खंभों पर झूलते तारों का सबसे ज्यादा बोझ दिखाई देता है। तेज हवा के झोंके से ङ्क्षचगारी फूटना आम बात हो गई है। कई घर तो ऐसे हैं, जिनसे सटे हुए तारों का मकडज़ाल है। आये दिन तार टूटकर घर पर गिरते रहते हैं।

पिछले एक माह से बिजली जाने की बारम्बारता में वृद्धि हुई है। बिजली है भी तो वोल्टेज लो होने से उसका कोई खास उपयोग नही हो पाता है। इसका समस्या का सामना ग्रामीण कर रहे हैं। दोपहर के वक्त कटौती और शाम के वक्त लो वोल्टेज की समस्या से लोग परेशान हो उठे हैं

क्या कहते हैं ग्रामीण

अमरोरी निवासी नीतीश कुमार का कहना हैं थोड़ा बारिश में भी भरदिन बिजली गायब रहती हैं। जर्जर तार व पोल के कारण हमेशा लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं।

मनीष कुमार ने बताया की जर्जर तार व पोल के कारण किसानों को सबसे ज्यादा परेशानी होती हैं।

अमरोरी वार्ड 15 निवासी चंदन यादव ने कहा कि मैं भारतीय सैनिक हूं। मेरे घर के ऊपर से 11 हजार वाल्ट तार गुजरा हुआ हैं। तार काफी जर्जर हैं जिनके कारण गिरने का खतरा हैं।

क्या कहते एसडीओ

इस संबंध में विद्युत विभाग के फारबिसगंज एसडीओ कोमल कुमारी ने बताया कि क्षेत्र में जहां भी झूलते तार से लोगों की परेशानी हो रही है और जो खंभा झुका हुआ है इसको लेकर प्रयास कर रहे हैं। बाकी जर्जर तार की जो समस्या है इसका विभाग अररिया में है और उन्हें पत्र भी लिखा गया है और बिजली की जितनी भी समस्याएं हैं बहुत जल्द दूर हो जाएगी।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.