अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला 2021: बिहार को 6वीं बार मिला गोल्ड, भागलपुर की मंजूषा कला ने छोड़ी अपनी छाप

अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला 2021 में एक दफा फिर बिहार को गोल्ड मिला है। व्यापार मेले में भागलपुर की मंजूषा कला हो या कतरनी चावल दोनों ने अपनी छाप छोड़ी। इसे सफल बनाने में कई लोगों ने महत्वपूर्ण योगदान दिया।

Shivam BajpaiSun, 28 Nov 2021 06:51 AM (IST)
अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला 2021: भागलपुर की मंजूषा पेंटिंग और कतरनी ने बिखेरे जलवे

जागरण संवाददाता, भागलपुर : दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में बिहार को छठी बार गोल्ड मेडल मिला। पद्मश्री दुधारी देवी, मंजूषा कलाकार मनोज कुमार पंडित, नाजदा खातून व जगदीश पंडित ने भागलपुर की मंजूषा कला का प्रदर्शन किया। बिहार के बुनकरों, कलाकारों व शिल्पकारों के प्रदर्शन पर केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने गोल्ड मेडल प्रदान किए। भागलपुर के मंजूषा कलाकार मनोज पंडित ने बिहार पवेलियन में दिल्ली के बच्चों को मंजूषा कला की बारीकियों की जानकारी दी। मेले में अंग प्रदेश की मंजूषा कला की काफी डिमांड रही।

-अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में बिहार को छठी बार गोल्ड मेडल -भागलपुर की मंजूषा कला का मेले में किया गया प्रदर्शन -केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्री ने कलाकारों को प्रदान किए मेडल

मनोज पंडित ने बताया कि राज्य की कालाओं को अंतरराष्ट्रीय मंच तक पहुंचाने में उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन व उपेंद्र महारथी शिल्प अनुसंधान संस्थान के निर्देशक अशोक सिन्हा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस अवसर पर अशोक सिन्हा ने कहा, यह गोल्ड मेडल बिहार की कला संस्कृति और कलाकारों का है। मेल में लोगों को कला व संस्कृति को जानने व समझने का अवसर मिला। इस मौके पर बिहार भवन की स्थानिक आयुक्त फलका साहनी, सहायक उद्योग निदेशक, पवेलियन निदेशक आदि मौजूद थे।

भागलपुर समाचार : 

दिसंबर के पहले सप्ताह से सड़क पर दौड़ेगी परिवहन निगम की पांच अतिरिक्त बसें

जागरण संवाददाता, भागलपुर : परमिट के इंतजार में पथ परिवहन निगम की पांच बसें अभी तिलकामांझी स्थित बस डिपो में खड़ी है। अब इन बसों का जल्द परिचालन शुरू होगा। क्षेत्रीय प्रबंधक पवन कुमार शाडिल्य ने कहा कि यह बसें लाभकारी मार्गों पर चलेगी, जो कमिश्नरी मुख्यालय को जोड़ती हैं। अमरपुर, सुल्तानगंज, कटिहार आदि जगहों के लिए बसें दिसंबर प्रथम सप्ताह से चलेगी। विभाग के वरीय पदाधिकारियों से परमिट जल्द उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया है। परमिट मिलते ही बसों का संचालन शुरू हो जाएगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.