जमुई में सनकी पति ने पत्नी एवं दो बच्चों की गला दबाकर कर दी हत्या

घटना के बाद ललटैया गांव में पसरा सन्नाटा, हर के जुबान पर घटना की चर्चा

जमुई जिले के खैरा थाना क्षेत्र के ललटैया गांव में एक सनकी पति ने सोमवार की रात अवैध संबंध का आरोप लगा अपनी पत्नी सहित दो बच्चे की गला दबा कर निर्मम हत्या कर दी। इस इस मामले की पड़ताल में जुट गई है।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 06:37 PM (IST) Author: Amrendra Tiwari

जमुई, जेएनएन। खैरा थाना क्षेत्र के ललदैया गांव में सोमवार की रात सनकी पति ने गला दबाकर अपनी पत्नी व दो मासूम बच्चों की निर्मम हत्या कर दी। घटना के बाद से इलाके में सनसनी फैल गई है। मृतकों में समुंद्री देवी 25, आठ वर्षीय पुत्र सौरभ कुमार एवं पांच वर्षीय पुत्री ज्योति कुमारी शामिल है। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पति प्रकाश यादव को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार प्रकाश ने हत्याकांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए पत्नी पर अवैध संबंध का आरोप लगाया है। बताया जाता है कि प्रकाश रात में खाना खाकर एक कमरे में पत्नी व बच्चों के साथ सोया था। तड़के सुबह तीन बजे वह अचानक उठा और सबसे पहले पत्नी सुमंद्री देवी की गला दबाकर हत्या कर दी। मां की चीख सुन पुत्र सौरभ जगा तो उसका भी गला दबा डाला। इसके बाद पुत्री ज्योति का भी गला घोंट दिया और फरार हो गया। मंगलवार की सुबह होने पर पड़ोस के लोगों ने देखा कि घर के सभी लोग देर तक सोए हैं तो लोगों ने कमरे जाकर देखा तो तीनों का शव एक ही खाट पर पड़ा था। ग्रामीणों द्वारा घटना की सूचना पुलिस को दी गई। इसी बीच ग्रामीणों ने घर के समीप धान के पुआल में छुपे आरोपी प्रकाश को पकड़ लिया और उसकी जमकर धुनाई शुरु कर दी। संयोग था कि समय रहते खैरा पुलिस मौके पर पहुंच गई और प्रकाश को अपने गिरफ्त में ले लिया नहीं तो वह लोगों के आक्रोश का शिकार हो जाता। इधर, घटना की सूचना पाकर दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे खैरा थानाध्यक्ष सीपी यादव ने मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज मामले की छानबीन शुरु कर दी है।

पत्नी का दूसरे से था अवैध संबंध, इसलिए वारदात को दिया अंजाम, जुर्म को किया स्वीकार

इस घटना के बाद से सभी स्तब्ध हैं। लोग यह कहते सुने गए कि आखिर क्या परिस्थिति हुई कि प्रकाश ने इतना बड़ा कदम उठाया। उसे पत्नी व बच्चों पर तनिक भी मोह नहीं हुआ। वैसे तो इस जघन्य वारदात के पीछे प्रकाश ने अपनी संलिप्तता स्वीकार करते हुए पत्नी पर किसी दूसरे के साथ अवैध संबंध का आरोप लगाया है। साथ ही वह यह कहकर दोनों बच्चे को अपना मानने को तैयार नहीं है कि जब उसमें मर्दानगी की कमी थी तो पत्नी ने दो बच्चे को जन्म कैसे दिया। हालांकि ग्रामीण इस तरह की बात से इनकार करते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि हाल के दिनों से प्रकाश का दिमाग कुछ ठीक नहीं चल रहा था। छोटी-छोटी बात पर अक्सर पत्नी से लड़ाई-झगड़ा करता था। सोमवार की रात भी किसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हुआ और उसने गुस्से में आकर पत्नी समुंद्री तथा पुत्र सौरभ एवं पुत्री ज्योति की गला दबाकर हत्या कर दी। इधर, मृतका की मां चनरवर निवासी बुधनी देवी परिवार वालों पर साजिश के तहत हत्या करने का आरोप लगा रही है।

शोक व मातम में डूबा ललदैया गांव

एक साथ मां, बेटे और बेटी की हत्या से ललदैया गांव शोक और मातम में डूब गया है। सभी हत्यारे प्रकाश को कोस रहे थे। घटना की खबर सुन ललदैया पहुंची मृतका समुंद्री की मां बुधनी देवी और भाई शव के पास विलाप कर रहे थे। रोते-रोते बुधनी बेहोश हो जा रही थी। पड़ोस के लोग पानी का छींटा मारकर उसे होश में ला रहे थे। मायके वालों की चीत्कार से पड़ोसियों की आंखें भी नम हो गई। सबके जेहन में बस एक ही सवाल था कि प्रकाश ने आखिर इतना बड़ा कदम कैसे उठा लिया।

घर के समीप धान के पुआल में छुपा था प्रकाश

पत्नी तथा दो बच्चों की हत्या करने के बाद प्रकाश घर के समीप धान के पुआल में छुपा था। मंगलवार की सुबह जब ग्रामीणों की नजर उस पर पड़ी तो वह भागने की कोशिश करने लगा लेकिन ग्रामीणों ने उसे धर-दबोचा। इसके बाद तो ग्रामीणों का गुस्सा उस पर टूट पड़ा। ग्रामीणों ने उसकी जमकर धुनाई शुरु कर दी। वह तो संयोग था कि समय रहते खैरा पुलिस मौके पर पहुंच गई अन्यथा प्रकाश ग्रामीणों के आक्रोश का शिकार हो जाता। ग्रामीण इतने आक्रोशित थे कि जब पुलिस प्रकाश को पकड़ कर ले जा रही थी तो लोग पुलिस को उसे ले जाने से रोक रहे थे। बाद में काफी समझाने पर लोग शांत हुए। तब जाकर पुलिस प्रकाश को जीप में बिठाकर थाने ले गई।

क्या कहते हैं जमुई के एसडभ्पीओ

जमुई के एसडीपीओ डॉ राकेश कुमार ने कहा कि पहली बार देखने से यह जानकारी मिली है कि पत्नी का किसी दूसरे के साथ अवैध संबंध के शक में घटना को अंजाम दिया गया है। इस बात को गिरफ्तार आरोपी पति प्रकाश ने स्वीकार भी किया है। स्वजन के बयान पर एफआइआर दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.