अगले महीने पीडीएस की दुकान पर नहीं बटेगा सरकारी राशन, हड़ताल पर चले जाएंगे राज्य के 35 हजार डीलर

अगले महीने सरकारी राशन का वितरण प्रभावित हो सकता है।

अगले महीने सरकारी राशन का वितरण प्रभावित हो सकता है। विभिन्‍न मांगों को लेकर राज्‍य के करीब 35000 डीलर अप्रैल से हड़ताल पर जा सकते हैं। इससे पीडीएस के माध्‍यम से सरकारी राशन का वितरण नहीं हो सकेगा।

Abhishek KumarMon, 22 Mar 2021 03:20 PM (IST)

संवाद सूत्र, छातापुर(सुपौल)। अगले महीने जन वितरण प्रणाली यानी पीडीएस के माध्यम से अनाज का वितरण प्रभावित हो सकता है। विभिन्न मांगों को लेकर राज्य के सभी डीलर हड़ताल पर जा सकते हैं। इसको लेकर मुख्यालय स्थित केरोसिन तेल डिपो पर फेयर प्राईस डीलर्स एसोसिएशन की जिला स्तरीय बैठक हुई। अध्यक्षता जिलाध्यक्ष सियालाल यादव ने की। बैठक में जिला व प्रखंडों के संघ कमेटी सदस्य के अलावा सैकड़ों जविप्र विक्रेता शामिल हुए। पिछले बैठक की संपुष्टि पश्चात जविप्र विक्रेताओं के आठ सूत्री मांगों पर चर्चा हुई। साथ ही समस्याओं के निदान तथा अपने हक व अधिकार सहित विभिन्न ङ्क्षबदुओं को लेकर डीलरों ने अपनी बातों को रखा।

जिलाध्यक्ष ने कहा कि अपने आठ सूत्री मांगों को लेकर एसोसिएशन के द्वारा लंबी लडाई लड़ी गई। परंतु सरकार के टाल-मटोल रवैये के कारण अबतक मांगों को पूरा नहीं किया जा सका है। अब एसोसिएशन के द्वारा एकजुटता के साथ नये सिरे से आंदोलन की शुरूआत की जाएगी। जिसके तहत सुपौल जिले में एसोसिएशन का राज्य स्तरीय सम्मेलन का आयोजन किया जाना है जिसमें विभागीय मंत्री व बड़े, जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाएगा। सम्मेलन कब और कहां होगा इसका निर्णय आगामी चार अप्रैल को त्रिवेणीगंज में आयोजित होने वाले जिला स्तरीय बैठक में लिया जाएगा।

कहा कि आठ सूत्री मांगों में तीन प्रमुख मांगों को लेकर मजबूती के साथ लड़ाई लड़ी जाएगी। जिसमें डीलरों को 30 हजार रुपये मानदेय, प्रति क्विंटल खाद्यान्न वितरण पर तीन सौ रुपये कमीशन, साप्ताहिक छुट्टी व आश्रितों को अनुकंपा पर नौकरी देने की मांग प्रमुख है। तीन प्रमुख मांगों को लेकर महासंघ के आह्वान पर अप्रैल माह में ही राज्य के 55 हजार जविप्र विक्रेता हड़ताल पर चले जाएंगे। बैठक के दौरान सर्वसम्मति से प्रखंड कमेटी का चयन किया गया। जिसमें निवर्तमान प्रखंड अध्यक्ष गणेश झा को पुन: अध्यक्ष पद की जिम्मेवारी दी गई। वहीं ललितेश्वर पांडेय को फिर से सचिव पद का भार सौंपा गया। जबकि अजीत कुमार ठाकुर को उपाध्यक्ष, खुशबू कुमारी को उप सचिव, अनिरूद्ध प्रसाद सिंह, मुरली प्रसाद भगत को अंकेक्षक बनाया गया।

कार्यकारिणी सदस्य के रूप में ललिता देवी, वैभव कुमार सिंह, श्वेता कुमारी, मि_ू कुमारी, कामिनी मोहन मिश्र, मुन्ना कुमार सिंह, गंगा प्रसाद दास, दयानंद चौपाल, मो आलम, प्रभू पासवान, मु शकील, हेमलता कुमारी, कौशल प्रवीण व कृष्ण कुमार यादव के नाम का चयन किया गया। नवचयनित सभी सदस्यों का माला पहनाकर स्वागत व सम्मान किया गया। मौके पर मु कलाम, मुरली प्रसाद भगत, मुन्ना कुमार सिंह, अब्दूल अजीज, उमेश कुमार जायसवाल, रामनाथ प्रसाद गुप्ता, अभिनंदन साह, कमल नारायण यादव, नरेंद्र प्रसाद यादव, अर्जुन कुमार, बद्री नारायण मंडल पुनम कुमारी, स्वाती कुमारी, आशा कुमारी, पूनम कुमारी, अर्चना कुमारी, स्वाति कुमारी, श्वेता कुमारी, दयानंद चौपाल, धर्मेंद्र कुमार सरदार आदि शामिल थे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.