Horrific Bhagalpur Fire : चार सौ घर जले, गांव में सब कुछ हो गया बर्बाद, विचलित करने वाली हैं तस्‍वीरें

भागलपुर के सुल्‍तानगंज प्रखंड के कसमाबाद गांव में लगी आग।

Horrific Bhagalpur Fire भागलपुर के नारायणपुर प्रखंड के कसमबाद में आज अगलगी की भीषण घटना हो गई। पूरा गांव ही आग की लपटों की चपेट में आ गया। गांव में चारों ओर चीख-पुकार मची हुई है। ग्रामीणों ने सैकड़ों ड्रम अनाज गंगा में फेंक दिया। तस्‍वीर दिल दहलानेवाली है।

Dilip Kumar shuklaTue, 02 Mar 2021 01:13 PM (IST)

जागरण संवाददाता, भागलपुर। भागलपुर के नारायणपुर प्रखंड के कसमबाद गांव में भीषण आग लग गई है। इस घटना के गांव के सभी घरों के जल जाने का अनुमान है। इस गांव में चार सौ ज्‍यादा घर हैं। मुखिया अरविंद मंडल ने इस बात की पुष्टि की है। उन्‍होंने बताया कि कसमाबाद गांव सभी घर के जल जाने की सूचना है। यह गांव बैकठपुर दुधेला पंचायत में पड़ता है। यह दियारा क्षेत्र है। गंगा तट पर यह गांव स्थित है।

जानकारी के अनुसार बीजो मंडल के फूस के घर में धान उबाला जा रहा था। इसी दौरान हवा के तेज हो जाने से चिंगारी से प्‍लास्टिक में आग लग गई। प्‍लास्टिक से घेरकर धान उबाला जा रहा था ताकि हवा का प्रवाह रोका जा सके। प्‍लास्टिक के आग लगने से देखते ही देखते फूस के घर में आग लग गई। तेज हवा और दियारा इलाका होने के कारण एक घर से दूसरे घर में आग फैलता गया।

गांव के सभी घर फूस के है। घटना में चार से ज्‍यादा घरों के पूरी तरह जल जाने का अनुमान है। इस घटना में कई मवेशी झुलसकर मर गए। धान सहित सभी अन्‍न जलकर नष्‍ट हो गए  हैं। लोगों ने अपने-अपने घरों से जहां तक संभव हो सका घर से बाहर निकाला। कुछ ने लकड़ी के बने सामान को गंगा में फेंक दिया, ताकि उसे बचाया जा रहा है। देखते ही लोगों ने सौ से ज्‍यादा अनाज से भरा ड्रम गंगा में प्रवाहित कर दिया है।

आग के कहर से लोग त्राहिमाम त्राहिमाम कर उठे। करीब चार घंटे तक तबाही मचाते हुए आग से करीब पांच सौ घर जलकर राख हो गए है। दो दर्जन मवेशी भी आग में झुलस गए। लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। गांव में भीषण आग लगने के कारण भगदड़ मच गई।

आग की लपटें इतनी तेज थी कि कोई अपना घर नहीं बचा सका। ज्‍यादातर लोगों के सभी समान जल गए। कुछ लोगों ने जैसे-तैसे चौकी और बिछावन निकाला। सूचना पर राजस्व कर्मचारी अमरेंद्र कुमार अमर वहां पहुंचे। उन्‍होंने बताया कि करीब चार सौ घर के जल जाने का अनुमान है। नारायणपुर अंचलाधिकारी अजय कुमार सरकार ने बताया कि भौतिक सत्यापन करने के बाद ही स्पष्ट होगा। काफी संख्‍या में अधिकारी और पुलिस बल वहां मौजूद हैं।

आग का कहर शाम को 4 बजे तक जारी रहा। इस घटना में लगी आग से करीब चार सौ घर जलकर राख हो गए। बड़ी संख्या में मवेशी भी जलकर मर गए है। यह गांव करीब चार घंटे तक जलता रहा। तेज पछुआ हवा के कारण आग की लपटे इतनी विकराल थी कि ग्रामीणों का कोई वश नहीं चल सका। किसी तरह से वे जान बचाकर भागने में सफल रहे।

चंद मिनटों में पूरा गांव तबाह हो गया है। लोग खेतों में शरण लिए हुए है। आग लगने की सूचना मिलने पर स्थानीय थाना पुलिस सदलबल के साथ मौके पर पहुंच अग्निशमन विभाग को सूचना दी। इसके बाद तीन अग्निशमन वाहन और 15 दमकलकर्मी घटनास्थल पर पहुच आग बुझाने में लग गए। वहीं ग्रामीणों ने भारी संख्या में पंपिंग सेट चालू कर व बालू देकर आग बुझाने की कोशिश करने लगे।

वहीं कुछ लोगों ने आग से बचने के लिए लकड़ी के सामानों और धान से भरे ड्रम को गंगा के पानी मे फेंकना शुरू कर दिया। महिलाएं अपने छोटे छोटे बच्चों को आग की लपटों से बचाते हुए खेतों की ओर दौड़ने लगे। सूचना पर राजस्व कर्मचारी अमरेंद्र कुमार अमर ने बताया कि करीब चार सौ घर जला है। लेकिन नारायणपुर अंचलाधिकारी अजय कुमार सरकार ने बताया कि भौतिक सत्यापन करने के बाद ही स्पष्ट होगा।

घर रखा अनाज, रुपये, कपड़ा, गहना, फर्नीचर, अन्‍य सभी कुछ आग की भेंट चढ़ गया। अग्निपीड़ित दो रोटी के लिए मोहताज हो गए है। फिलहाल कितनी की क्षति हुई यह अभी तक स्‍पष्‍ट नहीं है।

कसमाबाद गांव में हुए भीषण अगलगी घटना में राजेंद्र मंडल, शंभू मंडल, दिवाकर मंडल, मंजुला देवी, राजा मंडल, हरिलाल मंडल, कैलाश मंडल, सुरेश मंडल, पंकज मंडल, वासदेव मंडल सहित अन्य लोग शामिल है। कैलू मंडल की दस बकरी सहित एक गाय भी जल गई। वही वीणा देवी की दस बकरी व लक्ष्मी देवी का आठ बकरी जल गई है। महिंद्र मंडल का पुत्र नीरज मंडल सरकारी नौकरी में है। नीरज के घर मे रखा करीब चार लाख रुपया भी जलकर भस्म हो गया। वही अन्य लोगो की लाखों की सम्पत्ति जलने की बात बताई जा रही है। आग से किसी भी व्यक्ति को कोई सामान नहीं बचा। चारों तरफ राख हीं राख दिख रहा था। लोग का खटिया, टेबल, कुर्सी, बिछावन सभी जल गया। कई लोगो के घरों के सिलिंडर और बैट्री भी जल गई। इनमे से अधिकतर लोग किसान ही है।

सदमे में लोग

एक साथ इतने घरों के जल जाने से लोग सदमे हैं। सभी पीडि़त हैं, इसलिए कोई किसी का मदद भी नहीं कर पा रहे। सभी का घर जल गया। दियारा क्षेत्र में सारे घर फूस के थे। इसलिए आग लगते ही सब कुछ नष्‍ट हो गया। सारा सामान, मवेशी, अन्‍न, कपड़ा, रुपया आदि के जल जाने की सूचना है। लोगों के बीच एक सन्‍नाटा पसर गया है।

शाहकुंड में आग से घर जला

शाहकुंड प्रखंड की अंबा पंचायत के पछकठिया गांव में सोमवार की संध्या 6 बजे भोजन बनाने के क्रम में मनोज दास के घर में आग लग गई। इससे घर में रखे सारे सामान जलकर नष्ट हो गए। साथ ही बेटी की शादी के लिए घर में रखी नकदी भी जलने की बात पीडि़त परिवार ने बताई है। आग पर ग्रामीणों द्वारा ही काफी मशक्कत के बाद एक घंटे बाद काबू पाया गया। मंगलवार को इसकी लिखित जानकारी सीओ को देने की बात कहीं गई। सूचना मिलने पर पंचायत के मुखिया राकेश कुमार पीडि़त परिवार से मिले और हर संभव सहायता देने का भरोसा दिया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.