अररिया में भीषण अग्निकांड: छह घर जले, नहीं निकल पाया 10 वर्षीय बालक, तड़प-तड़प कर चली गई जान

अररिया में भीषण अग्निकांड अग्निकांड में आधा दर्जन घर जले झुलसने से एक दस वर्षीय बालक की मौत। कपड़े अनाज खलिहान में रखा धान सहित तीन लाख रुपये से अधिक की संपत्ति के नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है। इस घटना में एक बच्‍चे की मौत हो गई।

Dilip Kumar ShuklaThu, 02 Dec 2021 06:27 PM (IST)
अररिया में आग लगने से एक बच्‍चे की मौत हो गई।

संवाद सूत्र, पलासी (अररिया)। अरर‍िया के पलासी प्रखंड क्षेत्र के बरदबट्टा पंचायत अंतर्गत गड़हरा वार्ड नंबर 08 में गुरुवार अपराह्न खाना बनाने के दौरान लगी आग में तीन परिवारों के आधा दर्जन घर जल गये। इस अग्निकांड की घटना में घर में सोये सूरज कुमार साह (10 वर्ष) की झुलसने से मौत हो गयी। मृतक बालक दुर्गानंद साह का पुत्र था।

घटना की सूचना पर पलासी थाना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल अररिया भेज दिया। घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार, गुरुवार दिन के एक बजे खाना बनाने के दौरान दुर्गानंद साह के घर से उठी आग की लपटों ने देखते ही देखते परशुराम साह व लक्ष्मण साह के आधा दर्जन घरों को अपनी चपेट में ले लिया।

अग्निकांड की घटना में कपड़े, अनाज, खलिहान में रखा धान व अन्य घरेलू सामान सहित करीब तीन लाख रुपये से अधिक की संपत्ति के नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है। घर में सोये दुर्गानंद साह के दस वर्षीय पुत्र सूरज कुमार साह बाहर नहीं निकल पाया। जिसमें झुलसने से उनकी मौत हो गयी।

घटना की बाबत स्थानीय पैक्स अध्यक्ष सह नव निर्वाचित मुखिया प्रतिनिधि संतोष कुमार मंडल ने पीडि़तों को सांत्वना देते हुए प्रशासन से मृतक के स्वजनों सहित अग्नि पीडि़तों को उचित मुआवजा उपलब्ध कराने की मांग की है। सीओ विवेक कुमार मिश्र ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि प्रभारी सीआइ को घटना स्थल पर भेजकर जांच प्रतिवेदन समर्पित करने का निर्देश दिया गया है।

घटना को लेकर मृतक बालक के स्वजनों में कोहराम मच गया। मृतक बालक दो संतान में अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र था। मृतक की माता माहेश्वरी देवी सहित अन्य स्वजनों का रोने-धोने का सिलसिला जारी है।

आग के दर्द से पलासी का रिश्ता पुराना रहा है।

पलासी प्रखंड क्षेत्र के बरदबट्टा पंचायत अंतर्गत गड़हरा गांव में गुरुवार अपराह्न आग में झुलसने से एक दस वर्षीय बालक सूरज कुमार साह की मौत हो गयी। आग के दर्द से पलासी का रिश्ता पुराना रहा है। इससे पूर्व इसी वर्ष बीते 30 मार्च को प्रखंड के कवैय्या गांव में कथित मकई का भुट्टा पकाने के दौरान लगी आग में आधा दर्जन बच्चों के झुलसने से मौत हो गयी थी। जिसमें कवैय्या गांव के मु. युनिस के पांच वर्षीय पुत्र अशरफ व तीन वर्षीया पुत्री गुलनाज, मु. फारुक के पांच वर्षीय पुत्र बरकस अली, मंजूर का छह वर्षीय पुत्र दिलवर, मतीन का पांच वर्षीय पुत्र अलीहसन, तथा तनवीर की पांच वर्षीया पुत्री खुशनिहार की झुलसने से मौत हो गयी थी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.