सुपौल में खाद नहीं मिलने पर उग्र हुए किसान, सरायगढ़-भपटियाही में रोड जाम कर किया प्रदर्शन

सुपौल में खाद की कमी के कारण रबी फसल की बुआई में देरी हो रही है। इसको लेकर किसानों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। रविवार को सरायगढ़ भपट‍ियाही में रोड जाम कर किसानों ने प्रदर्शन किया। किसानों का कहना है कि...

Abhishek KumarSun, 05 Dec 2021 05:30 PM (IST)
सुपौल में खाद की कमी के कारण रबी फसल की बुआई में देरी हो रही है।

संवाद सूत्र्, सरायगढ़ (सुपौल)। सरायगढ़-भपटियाही प्रखंड के एकमात्र बाजार भपटियाही में खाद विक्रेताओं के यहां पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध नहीं रहने के कारण रविवार को सैकड़ों की संख्या में किसानों ने सड़क जाम कर विरोध जताया। किसान सवेरे सवेरे विक्रेता के यहां खाद लेने पहुंचे थे। लेकिन किसान के हिसाब से खाद उपलब्ध नहीं रहने के कारण विक्रेता खाद वितरण करने में हिचक रहे थे और इससे किसान आक्रोशित हो गए।

किसानों ने भपटियाही-सुपौल सड़क मार्ग को जाम कर जमकर नारेबाजी की। जाम की सूचना पर भपटियाही थाना पुलिस वहां पहुंची। उसी बीच स्थानीय मुखिया विजय कुमार यादव किसानों के बीच पहुंचे। पुलिस ने काफी प्रयास के बाद लोगों को शांत कराया और फिर बाजार के दो दुकानदार के पास उपलब्ध कुछ खाद को किसानों के बीच वितरित करवाया। पूछे जाने पर खाद विक्रेता नारायण रजक और रामविलास साह ने बताया कि उन सब के पास काफी कम मात्रा में खाद उपलब्ध है।

बताया कि दो-तीन दिन के अंदर सभी के पास पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध हो जाएगा। खाद विक्रेता शिव प्रसाद साह तथा श्रीराम मेहता ने कहा कि उन सबके गोदाम में अभी खाद उपलब्ध नहीं है। रैक प्वाइंट से खाद मिलने के बाद ही किसानों को दिया जाएगा। दोनों खाद विक्रेताओं का कहना था कि गोदाम में खाद नहीं रहने के बावजूद किसान सवेरे सवेरे दुकान पर पहुंचकर भीड़ लगा रहे हैं जिससे परेशानी बढ़ जा रही है। विभागीय अधिकारी समस्या के समाधान के लिए आगे बढ़कर काम करें तो किसान समय से गेहूं की बुवाई कर सकेंगे।

उधर सड़क जाम करने वाले किसानों का कहना था कि वह सब प्रतिदिन सवेरे खाद के लिए बाजार आते हैं। लेकिन दुकानदार द्वारा यह कहकर लौटा दिया जाता है कि गोदाम में खाद नहीं है। किसानों का कहना था कि खेत तैयार है बस खाद का इंतजार है। अभी समय से खाद नहीं मिला तो सारी मेहनत बेकार हो जाएगी। किसानों का कहना था कि गेहूं बुवाई के प्रति सरकार गंभीर नहीं है अन्यथा इस तरह की नौबत नहीं आती। किसानों ने चेतावनी देते कहा एक-दो दिन के अंदर सरकार विक्रेताओं के यहां खाद उपलब्ध करा दे अन्यथा बड़ा आंदोलन होगा।

प्रखंड कृषि पदाधिकारी मिथिलेश कुमार ने पूछने पर कहा कि दो-तीन दिन के अंदर खाद की समस्या दूर कर ली जाएगी। उन्होंने कहा कि किसानों के मांग के अनुरूप भपटियाही बाजार के विक्रेताओं के यहां खाद उपलब्ध कराने का प्रयास जारी है। प्रखंड कृषि पदाधिकारी ने कहा कि किसानों को थोड़ा धैर्य रखने की जरूरत है।  

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.