भागलपुर में कुत्ते का आतंक, तीन दिनों के अंदर 16 बच्चों को काटा, लोगों ने डीएम और वन विभाग को लिखा पत्र

भागलपुर में कुत्‍ते के आतंक से लोग परेशान हैं। खरीक में तीन दिनों के अंदर एक ही कुत्‍ते ने 16 बच्‍चों को निशाना बनाया। इसमें कई की हालत गंभीर बनी हुई है। लोगों में इस कदर दहशत है कि वे अकेले घर से बाहर नहीं...

Abhishek KumarWed, 08 Dec 2021 12:26 PM (IST)
भागलपुर में कुत्‍ते के आतंक से लोग परेशान हैं।

संवाद सूत्र, खरीक। खरीक प्रखंड के बहत्तरा गांव में रविवार से अवारा कुत्ते ने कोहराम मचा रखा है। बीते तीन में 16 बच्चे को काटकर जख्मी कर दिया। कुत्ते ने रविवार से मंगलवार मंगलवार तक 16 बच्चे को काटकर जख्मी किया। इससे इलाके में दहशत सी फैल गई। लोग किसी भी आवारा कुत्‍ते को देखकर दहशत में आ जाते हैं। 

मंगलवार को पीएचसी में सूई लेने आए घायल सात वर्षीय राजीव कुमार, दस वर्षीय मोनू कुमार, आठ वर्षीय किशन कुमार, छह वर्षीय आरती कुमारी एवं छह वर्षीय कोमल कुमारी की मां क्रमश: पमिया देवी, वसंती देवी, मीना देवी, बबीता देवी एवं फूलो देवी ने बताया कि कुत्ते के आतंक से गांव के लोगों का घर से निकलना दूभर हो गया। ग्रामीणों ने शीघ्र इस दिशा में डीएम समेत वन विभाग के अधिकारियों से कुत्ते के आतंक से निजात दिलाने की दिशा में आवश्यक पहल करने की गुहार लगाया है।

शहर में भी आवारा कुत्‍तों का आतंक 

भागलपुर शहर में भी आवारा कुत्‍तों का आतंक है। लगभग हर रोज किसी न किसी को निशाना बना रहे हैं। रात के समय इन कुत्‍तों का आतंक और भी बढ़ जाता है। बरारी के स्‍थानीय निवासी नागेश्‍वर यादव बताते हैं कि रात के समय स्‍टेशन या अन्‍य जगाहों से लौटसे समय तिलकामांझी चौक से लेकर कई जगहों पर कुत्‍ते झुंड़ में बेठे रहते हैं।   

मारपीट और छिनतई मामले में चालक को भेजा गया जेल

संवाद सूत्र,खरीक:थानाक्षेत्र के तेलघी गांव के समीप एक निजी कंपनी के कलस्टर लीडर समस्तीपुर निवासी कुमार प्रतीक के साथ रविवार की देर रात हुई मारपीट एवं छिनतई मामले में हिरासत में लिए गए कलस्टर लीडर के ही नीजि वाहन चालक मिक्की कुमार यादव उर्फ विक्की यादव को पुलिस ने जेल भेज दिया।थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि पूछताछ के दौरान भागलपुर के लोदीपुर निवासी चालक की संलिप्ता सामने आई। जिसके बाद पुलिस अभिरक्षा में जेल भेजा गया।  

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.