भागलपुर में विकेंद्रकरण की तबाही डाक्यूमेंट का विमोचन, ग्राम स्वराज कोरी कल्पना : आनंद माधव

बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता एवं रिसर्च विभाग तथा मैनिफेस्टो कमेटी के अध्यक्ष आनंद माधव ने कहा कि पंचायती राज की कल्पना महात्मा गांधी ने की थी। राजीव गांधी ने जिन्हें साकार किया है। आज ग्राम स्वराज कोरी कल्पना बनकर रह गई है।

Dilip Kumar ShuklaSun, 26 Sep 2021 11:39 AM (IST)
कांग्रेस भवन में 16 साल की यात्रा विकेंद्रीकरण से तानाशाही तक, नामक दस्तावेज का विमोचन।

जागरण संवाददाता, भागलपुर। जिला कांग्रेस भवन में प्रेसवार्ता में बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता एवं रिसर्च विभाग तथा मैनिफेस्टो कमेटी के अध्यक्ष आनंद माधव ने कहा कि जिस उद्देश्य के लिए पंचायती राज की कल्पना महात्मा गांधी ने की थी और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने जिन्हें साकार करने का प्रयास किया था, वह अधूरा है। ग्राम स्वराज एक कोरी कल्पना बनकर रह गई है। सत्ता का विकेंद्रीकरण की जगह केंद्रीकरण हो रहा है।

इस अवसर पर बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा बिहार पंचायत चुनाव के मद्देनजर तैयार किया गया 16 साल की यात्रा : विकेंद्रीकरण से तबाही तक नामक डाक्यूमेंट का विमोचन जिला अध्यक्ष परवेज जमाल ने किया। आनंद माधव ने कहा कि पंचायत प्रतिनिध खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। रिसर्च विभाग द्वारा तैयार किया गया यह दस्तावेज कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता राज्य के गांवों के ग्रामीणों तक पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी का मानना है कि जो निर्णय जिस वर्ग को प्रभावित करे, वह निर्णय उसी स्तर पर लेना चाहिए। लेकिन सारे निर्णय दिल्ली या पटना में लिए जा रहे हैं। निर्णय को पंचायत प्रतिनिधयों पर थोपा जा रहा है। उन्होंने इमानदार पंचायत प्रतिनिधयों को चुनने की अपील मतदाताओं से की। सुप्रिम कोर्ट ने चुनाव प्रणाली को ईवीएम के साथ वीवीपैट को भी शामिल करने का निर्णय दिया है। लेकिन वीवीपैट का उपयोग राज्य में होने वाले पंचायत चुनाव में नहीं किया जा रहा है।

जिला अध्यक्ष ने कहा कि डाक्यूमेंट में दर्शाया गया है कि सरकार विकेंद्रकरण के नाम पर तबाही को ही अंजाम दिया है। सुशासन कभी भी स्वशासन के बिना नहीं आ सकता। इस अवसर पर जिला कार्यकारी अध्यक्ष डा. अभय आनंद, सौरभ पारिख, रवींद्रनाथ यादव, सुनंदा रक्षित, एनपी सिंह सहित अन्य कांग्रेसी उपस्थित थे। इस दौरान वकताओं ने केंद्र व राज्‍य सरकार की नी‍तियों पर चर्चा करते हुए कहा कि यह सरकार गांवों के व‍िकास के बारे में नहीं सोच रही है। पंचायती राज व्‍यवस्‍था पूरी तरह फेल है। गांवों के केंद्रीय योजनाएंं नहीं बन रही है।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.