भागलपुर में उपमुख्‍यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कही यह बड़ी बात- कोरोना ने राजस्व को पहुंचाया नुकसान, लक्ष्‍य को करेंगे पूरा

भागलपुर में उपमुख्‍यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि विकासात्मक कार्यों में सरकार कोई समझौता नहीं करने वाली है। आत्मनिर्भर बिहार का निर्माण हमारा लक्ष्य। कोरोना काल में राजस्व संग्रह पर पड़ा असर जल्द दिया जाएगा लक्ष्य। परिवहन खनन व निबंधन को राजस्व बढ़ाने का दिया गया निर्देश।

Dilip Kumar ShuklaFri, 23 Jul 2021 09:37 AM (IST)
वाणिज्यकर विभाग ने जीएसटी संग्रह में किया है अच्छा काम।

जागरण संवाददाता, भागलपुर। आत्मनिर्भर बिहार का निर्माण हमारा लक्ष्य है। विकासात्मक कार्यों में सरकार कोई समझौता नहीं करने वाली है। यह कहना है सूबे के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद का। वे गुरुवार को समाहरणालय स्थित समीक्षा भवन में राजस्व से संबंधित विभागों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में राजस्व संग्रह पर असर पड़ा है। लेकिन अब तेजी से राजस्व संग्रह किया जाएगा। सभी विभागों को जल्द ही लक्ष्य उपलब्ध करा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि परिवहन, खनन व निबंधन विभाग ने राजस्व संग्रह कम किया है। लेकिन भरोसा दिलाया गया है कि समयसीमा के अंदर लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा।

उपमुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में विकासात्मक योजनाओं के क्रियान्वयन, राजस्व संग्रह की विस्तृत समीक्षा की गई। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न योजनाओं के माध्यम से समाज के सभी वर्गों के कल्याण एवं उत्थान के लिए सरकार प्रतिबद्धता के साथ काम कर रही है। बिहार सरकार ने सड़क संपर्कता प्रदान करने व आवागमन की उत्तम सुविधा लोगों को उपलब्ध कराने के लिए गुणवत्तापूर्ण सड़कों के निर्माण के साथ-साथ उसकी देखभाल की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की है। जल-जीवन-हरियाली के माध्यम से वैश्विक जल संकट की समस्या के निदान एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए अनूठी पहल की है, जिसमें प्राकृतिक जल स्रोतों, कुआं, आहर, पाइन, पोखर के जीर्णोंद्धार, वर्षा जल संचयन, पौधारोपण आदि कार्यक्रम चरणबद्ध रूप से चलाए जा रहे हैं। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सरकार की इन महत्वाकांक्षी योजनाओं पर सभी संबंधित पदाधिकारी तत्परता एवं संवेदनशीलता के साथ काम करें।

समीक्षा के दौरान उपमुख्यमंत्री को बताया गया कि वर्तमान वित्तीय वर्ष के जून तक विभागवार राजस्व संग्रहण की विस्तृत समीक्षाक्रम में यह तथ्य उभरकर सामने आया की वाणिज्य कर विभाग, निबंधन, जिला परिवहन, खान एवं भूतत्व, नगर निगम, माप-तौल द्वारा क्रमश:1600 लाख, 2157.52 लाख, 431.91 लाख, 397.00 लाख, 1450.03 लाख, 363.55 लाख, 389.19 लाख, 19.73 लाख रुपये का राजस्व संग्रहण किया गया है। राजस्व संग्रहण के संदर्भ में वाणिज्यकर विभाग का प्रदर्शन लक्ष्य के अनुरूप रहा है। अन्य संबंधित विभागों को राजस्व संग्रहण में और तेजी लाने का निर्देश दिया गया। ग्रामीण कार्य विभाग द्वारा संचालित योजना प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा के क्रम में संबंधित कार्यपालक अभियंता द्वारा अवगत कराया गया कि वित्तीय वर्ष 2011-12, 2012-13, 2017-18 के संदर्भ में समेकित रूप से कुल 115 योजनाएं पूर्ण हैं। वहीं फेज-2 अंतर्गत स्वीकृत तीन योजनाओं में से दो योजनाएं पूर्ण कर ली गई हैं।

शेष योजनाओं को अविलंब पूर्ण करने का निर्देश दिया गया है। लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग, पूर्वी एवं पश्चिमी द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा क्रम में संबंधित कार्यपालक अभियंता द्वारा जानकारी दी गई की वर्तमान वित्तीय वर्ष में 162 एवं 71 कुआं का जीर्णोद्धार किया गया है। साथ ही लगभग 1500 एवं 800 चापाकल की मरम्मत की गई है। समीक्षा बैठक में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण प्रमंडल तथा जल-जीवन-हरियाली के अंतर्गत क्रियान्वित योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा की एवं आवश्यक निर्देश दिए गए।

बैठक में सांसद अजय मंडल, कहलगांव विधायक पवन यादव, गोपालपुर विधायक अजय मंडल, भागलपुर विधायक अजीत शर्मा, पीरपैंती विधायक ललन पासवान, जिला परामर्शी समिति अध्यक्ष टुनटुन साह, महापौर सीमा साहा, जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन, उप विकास आयुक्त सुनील कुमार, अपर समाहर्ता राजेश झा राजा भागलपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक सह नगर आयुक्त सहित जिला स्तरीय पदाधिकारीगण एवं बीएससीएल पदाधिकारी उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.