कुंआगढ़ी में जब कलाकारों ने जमाए रंग तो मंच पर उतरा वसंत, अल्ताफ राजा ने अपने गीतों पर खूब झुमाया

कुंआगढ़ी गांव के स्कूल प्रांगण में शनिवार की रात आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

मुंगेर के कुंआगढ़ी गांव के स्कूल प्रांगण में शनिवार की रात आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ रितु रंजन द्वारा प्रस्तुत ए मेरे वतन के लोगों जरा आंख में भर लो पानी... गीत से हुआ।

Abhishek KumarSun, 28 Feb 2021 09:49 PM (IST)

जागरण संवाददाता, मुंगेर। आवारा हवा का झोंका हूं, आ निकला हूं पल दो पल के लिए...गीत के साथ गायक अल्ताफ राजा की स्वर लहरी जैसे ही वातावरण में घुली, लोगों को लगा मंच पर वसंत उतर आया है। मौका था कुंआगढ़ी गांव के स्कूल प्रांगण में शनिवार की रात आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम का। वसंत ऋतु में सजी कलाकारों की महफिल में कभी देशभक्ति की गीत तो कभी श्रृंगार रस के गीत ने लोगों को वाह-वाह करने को मजबूर कर दिया। 

कार्यक्रम का शुभारंभ रितु रंजन द्वारा प्रस्तुत ए मेरे वतन के लोगों जरा आंख में भर लो पानी... गीत से हुआ। सांस्कृतिक कार्यक्रम में ङ्क्षहदी सिनेमा के लोकप्रिय गायक अल्ताफ राजा ने देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति से महफिल में ऐसी शमां बांधी कि सभी दर्शक एवं श्रोता भारत माता की जयकार करने लगे। बाद में उनके द्वारा गाया गया -तुम तो ठहरे परदेसी, साथ क्या निभाओगे..., तुमसे कितना प्यार है... और तुम तो ठहरे परदेसी...जैसे गीतों पर लोग जमकर झूमे। मुंबई की मशहूर गायिका रितु रंजन द्वारा प्रस्तुत की गई देशभक्ति गीत मेरा मुल्क मेरा देश... गाना शुरू किया तो श्रोताओं ने जमकर तालियां बजाई। गायक मनोज परवाना ने हाल क्या है दिलों का ना पूछो सनम... गीत गाकर माहौल को मदमस्त कर दिया। गायक एस कुमार ने देशभक्ति गीत- मेरा कर्मा तू, मेरा धर्मा तू... प्रस्तुत कर खूब तालियां बटोरीं।

प्रशांत मिश्र ने तबला, राजू खान ने ढोलक, राहुल कुमार ने कीबोर्ड, राजीव कुमार ने बैंजो और ऑरगन पैड पर हीरा मिश्र ने कलाकारों का खूब साथ दिया। उद्घोषक मनीष मधुर और शहवाज खान ने लोगों को कार्यक्रम के अंत तक जोड़े रखा। कार्यक्रम के आयोजक प्रियदर्शी ठाकुर ने धन्यवाद ज्ञापन किया। अमित कुमार झा, किशोर ङ्क्षककर, त्रिभुवन झा, विजय शंकर झा, विष्णु कांत झा, ललन शर्मा ,श्याम यादव आदि कार्यक्रम में मौजूद थे।

चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा का हुआ अनावरण

संग्रामपुर (मुंगेर): भारत को गुलामी की जंजीरों से मुक्त कराने के लिए देश के हजारों लोगों ने अपनी प्राणों की आहुति दे दी। उनमें चंद्रशेखर आजाद का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। उन्होंने आजादी के संकल्प के साथ ही यह भी संकल्प लिया था कि फिरंगियों की गोली के बजाय वह अपनी ही गोली से मरना कुबूल करेंगे। उन्होंने ऐसा किया भी। यह बातें प्रखंड के बलिया पंचायत के कुआंगढ़ी वभनचक्का गांव में शनिवार को उनकी प्रतिमा का अनावरण करते हुए पूर्व मंत्री शकुनी चौधरी व तारापुर विधायक डॉ. मेवालाल चौधरी ने कहीं। इस मौके पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रवीण ङ्क्षसह कुशवाहा, पूर्व जदयू प्रत्याशी राजीव कुमार ङ्क्षसह, मुखिया सारिका ङ्क्षसह और भागलपुर सीटीएस के ङ्क्षप्रसिपल आइपीएस अधिकारी मिथलेश कुमार ने चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। समाजसेवी प्रियदर्शी ठाकुर ने कहा कि चंद्रशेखर आजाद की कुर्बानी हर किसी को प्रेरणा देती रहे, इसके लिए उनकी प्रतिमा स्थापित की गई है। स्वतंत्रता सेनानियों की भूमि तारापुर उन्हें हर पल याद करता रहेगा।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.