कोसी में फिर गरजने लगीं बंदूकें... महीने भर में पांच लोगों को मार डाला, पुलिस के हाथ खाली

मधेपुरा में हाल के दिनों में अपराध की घटनाएं बढ़ गई हैं।

मधेपुरा में हाल के दिनों में अपराध की घटनाएं बढ़ गई हैं। यहां पर महीने भर के अंदर पांच लोगों की हत्या कर दी गई। वहीं तीन जगहों पर अपराधियों ने लूटपाट की घटनाओं को भी अंजाम दिया। लेकिन पुलिस के हाथ अब भी खाली हैं।

Publish Date:Fri, 15 Jan 2021 02:30 PM (IST) Author: Abhishek Kumar

जागरण संवाददाता, मधेपुरा। स्थिति ठीक नहीं है। बदमाशों के हौसले बढ़े हुए हैं। पुलिस की सुस्ती से लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। यद्यपि पुलिस का दावा है कि अपराध में कमी आ रही है। लेकिन आकड़ों पर ध्यान दें तो हत्या, लूट सहित अन्य घटनाओं में बढ़ोत्तरी हो रही है। बुधवार को दिन-दहाड़े बदमाशों ने बंधन बैंक के रिकवरी ऑफिसर से 33 हजार रुपया लूट लिया। कुछ दिन पहले शहर में भी एक ही दिन तीन जगहों पर लूट की घटना हुई थी। बैंक से राशि लेकर घर जा रहे लोगों से बदमाशों ने लूटपाट की थी। मधेपुरा, उदाकिशुनगंज, मुरलीगंज, आलमनगर में हत्या हुई है। उछ्वेदन में देरी के कारण बदमाश लगातार घटना को अंजाम दे रहा है।

ऋतिका हत्याकांड की नहीं सुलझ सकी है गुत्थी

12 दिसंबर 2020 को मुरलीगंज वार्ड पार्षद पिंल पासवान की पुत्री ऋतिका की हत्या कर बेंगा नदी में फेंक दिया गया था। एक माह बीत जाने के बाद भी अब तक इस मामले में पुलिस अब तक अनुसंधान ही कर रही है। घटना की तह तक नहीं पहुंच पाई है। जबकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि की गई है। वहीं दो दिन पहले फोरेंसिक टीम ने भी जांच की। इस मामले में बस एक युवक को पकड़कर जेल भेजा गया है। हत्याकांड में पुलिस की कार्यशैली को लेकर आमलोगों में आक्रोश भी है। तभी तो पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन व बाजार बंद तक भी हुआ था।

अमित हत्याकांड का भी नहीं हो पाया है खुलासा

28 दिसंबर को उदाकिशुनगंज थाना खेत्र के हरेली-सोनवर्षा मार्ग में बदमाशों ने 20 वर्षीय अमित कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी थी। वह उदाकिशुनगंज में एक सिमेंट दुकान में मुंशी का काम करता था। इस मामले में भी पुलिस का हाथ खाली है। घटना को लेकर लोगों में आक्रोश है।

छात्र पवन हत्याकांड में पुलिस रही सुस्त

आलमनगर के छात्र पवन का अपहरण 19 दिसंबर को हुई थी। इस मामले में पवन के पिता ने थाना में आवेदन देकर अपहरण की बात कही थी। लेकिन पुलिस इस दिशा में सुस्त रही। कार्रवाई की जाती तो शायद पवन की जान बच सकती थी। 18 दिन बाद पवन का शव नदी किनारे जमीन में गड़ा हुआ मिला। उसकी हत्या चाकू से घोपकर की गई थी।

ऑटो चालक हत्याकांड मामले में भी पुलिस नहीं रहीं सक्रिय

आलमनगर मधेली निवासी 25 वर्षीय राजेश भगत नौ दिन से गायब था। इस मामले में पुलिस को सूचना दी गई थी। लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। 25 दिसंबर को उसका शव उदाकिशुनगंज में मिला। यद्यपि इस मामले में गिरफ्तारी हुई है। लेकिन अब भी एक व्यक्ति पुलिस पकड़ से दूर है। इसी प्रकार चौसा में भू-विवाद में 30 वर्षीय सुमन कुमार ही हत्या हो चुकी है।

लूटपाट की घटना रोकने में भी पुलिस असफल

लगातार जिले में लूटपाट की घटना हो रही है। नयानगर में बुधवार बैंक कर्मियों से 33 हजार की लूट हुई थी। इससे पहले 24 दिसंबर को चौकीदार सियाराम पासवान के पुत्र गुलाब कुमार की बाइक बदमाशों ने लूट लिया था। वहीं मुरलीगंज में भी हथियार के बल पर निजी विद्यालय के एक शिक्षक अभिजीत आनंद का बाइक व मोबाइल लूट लिया था। शहर में भी बैंक से राशि निकालकर जा रहे एक व्यक्ति से लूटपाट हुई है। वहीं चोरी की घटनाओं में भी लगातार इजाफा हो रहा है।

घटना के बाद अनुसंधान कर आरोपितों की गिरफ्तारी हो रही है। पिछले दिनों दो मिनी गन फैक्ट्री का उछ्वेदन किया गया है। वहीं लगातार वाहन जांच अभियान चलाया जा रहा है। जांच के दौरान 25 अवैध हथियार व 32 कारतूस बरामद किया गया है। इसके अलावा सभी थानाध्यक्ष को पैदल गश्ती का निर्देश दिया गया है। साथ ही वाहन जांच अभियान जारी है। पुलिस अपराध रोकने के लिए लगातार प्रयासरत है।

योगेंद्र कुमार, एसपी, मधेपुरा।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.