दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Coronavirus: इंटरनेट मीडिया पर वायरल नुस्खा का इस्‍तेमाल संभलकर करें, हो सकती है आपको भयंकर परेशानी

इंटरनेट मीडिया पर कोरोना बचाव के नुस्‍खे।

Coronavirus इन दिनों कोरोना वायरस से बचने और इलाज के लिए लगातार इंटरनेट मी‍डिया पर टिप्‍स वायरल हो रहा है। तरकीब अपनाने से स्वास्थ्य पर पड़ सकता है नाकारात्मक प्रभाव। बिना सोचे-समझे इन बातों को आजमा रहे हैं लोग।

Dilip Kumar ShuklaMon, 10 May 2021 07:50 AM (IST)

जागरण संवाददाता, पूर्णिया। कोरोना काल में आजकल लोगों को समय की कोई कमी नहीं है। अधिकांश कार्यालय में 33 फीसदी उपस्थिति के अलावा वर्क फ्रॉम होम कार्य किए जा रहे हैं। लोगों को घर पर समय व्यतीत करना भी मुश्किल हो रहा है। ऐसे में इंटरनेट मीडिया टाइम पास करने का एक बड़ा जरिया बना हुआ है। संक्रमण काल में जिस कदर बीमारी से लोगों की परेशानी बढ़ रही है उसी तरह अधकचरे ज्ञान वाले लोग तरह-तरह की दवाईयों तथा नुस्खे बताने में लगे हुए हैं।

इंटरनेट मीडिया पर भी इस तरह के नुस्खे खूब वायरल हो रहे हैं। कई पोस्ट में इम्यूनिटी बढ़ाने के अजब-गजब तरीके बताए जा रहे हैं। इधर संक्रमण से सुरक्षित रहने के उद्देश्य से लोग इम्यूनिटी बढ़ाने की हर संभव कोशिश भी कर रहे हैं। लोगों द्वारा जो नुस्खा बताए जा रहे हैं वह कितना सही और उपयोगी है, इसकी सत्यता की पूरी तरह परख के बाद ही उपयोग में लाना चाहिए। बिना सोचे समझे तरकीब अपनाने से स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव भी पड़ सकता है। इस तरह के सभी बातों को अच्छी तरह से जांच परख करने के बाद ही नुस्खे को उपयोग में लाना चाहिए। जानकार बताते हैं कि कई शरारती तत्व के लोग अजीबोगरीब नुस्खे की सलाह देते नजर आ रहे हैं, जो कहीं से लाभदायक तो नहीं लेकिन काफी नुकसानदेह अवश्य हो सकता है।

चिकित्सक के बिना सलाह नहीं करे नुस्खे या दवा का उपयोग 

कोई दवा खाने या कोई नुस्खा आजमाने से कोरोना नहीं होगा या ठीक हो जाएगा। लोग घबराकर तुरंत ऐसी बातों पर अमल कर लेते हैं, लेकिन कई मामलों में लाभ के बजाय इसका नुकसान भी हो रहा है। ऐसे में जरूरी है कि चिकित्सकों द्वारा जारी किए गए नंबर से परामर्श ले। इंटरनेट मीडिया पर कोरोना के इलाज से संबंधित कई संदेश और वीडियो वायरल हो रहे हैं। ऐसे वीडियो और मैसेज को लोग तुरंत एक दूसरे को भेजकर खुद डॉक्टर बन जा रहे हैं। वायरल संदेश को बिना चिकित्सक परामर्श में लाने से फायदा से अधिक नुकसान की आशंका बनी रहती है।

नीम-हकीम का ज्ञान ले सकती है जान 

कोरोना काल में हर किसी को आसानी से चिकित्सा संबंधित जानकारी की दरकार होती है। चिकित्सक डी राम बताते हैं कि कई वीडियो में कोरोना के इलाज के सुझाव दिए गए हैं। जाने अनजाने में लोग इन बातों पर अमल कर रहे हैं। लेकिन बिना डॉक्टर की सलाह के इन मैसेज के अनुसार भारी पड़ सकता है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा व शहर के चिकित्सकों द्वारा परामर्श के लिए मोबाइल नंबर जारी किए गए हैं। सोशल मीडिया के किसी संदेश को उपयोग में लाने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.