top menutop menutop menu

Coronavirus infection : कोरोना काल में घर-घर दस्तक दे रहे शिक्षक, बढ़ सकता है संक्रमण

भागलपुर, जेएनएन। कोरोना महामारी और लॉकडाउन के बीच राशन कार्ड उपभोक्ताओं को घर-घर जाकर शिक्षक नए कार्ड पहुंचा रहे हैं। इससे संक्रमण फैलने की संभावना बढ़ गई है। शिक्षक भी इस बात को लेकर काफी चिंतित और दहशत में है। शिक्षकों को तीन दिनों के अंदर शहर के 51 वार्डों में राशन कार्ड का वितरण हर हाल में पूरा करने का निर्देश मिला है। वितरण कार्य पूरा नहीं हुआ तो शिक्षक कार्रवाई की जद में आ सकते हैं। इस डर से भी शिक्षक जान जोखिम में डालकर राशन कार्ड का वितरण रविवार से शुरू कर दिया है।

दरअसल, भागलपुर सदर क्षेत्र के 51 वार्डों में सात हजार नए राशन कार्ड का वितरण होना है। इस काम में कॉल 153 शिक्षक और प्रधानाध्यापक को लगाया गया है। एक-एक वार्ड में तीन-तीन शिक्षकों की ड्यूटी लगी है। राशन कार्ड उपभोक्ता को देने के बाद उनसे दो रुपये शुल्क भी लेना है। शिक्षक अभिषेक कुमार, दृगपाल प्रसाद, श्यामनंदन झा, निवेदिता कृष्णन ने कहा कि अभी वायरस का प्रकोप काफी बढ़ गया है। हर दिन 50 ज्यादा लोग चपेट में आ रहे हैं। ऐसे में राशन कार्ड बांटने का निर्णय अभी नहीं देना चाहिए था।

वार्डों में राशन कार्ड बांटने के दौरान लोगों से रूबरू होना पड़ रहा है इस कारण संक्रमण का संभावना बना हुआ है। शिक्षकों ने एसडीओ सहित अन्य अधिकारियों से वितरण कार्य पर अविलंब रोक लगाने की मांग की है। इधर, प्रारंभिक माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष डॉ. शेखर गुप्ता ने इस फैसले का विरोध किया है। संघ ने जिला शिक्षा पदाधिकारी से शिक्षकों की सुरक्षा को लेकर वितरण कार्य बंद कराने की मांग की है।

शिक्षकों को लगाया गया प्रमाणपत्र बनाने में

जिले में सात दिनों का लॉकडाउन लगा हुआ है। के बावजूद पदाधिकारी ने शिक्षकों को 14 से 31 मार्च तक के जिन स्कूली बच्चों के खाते में मिड डे मिल की राशि भेजी गई है उन बच्चों का हस्ताक्षर प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। शिक्षकों को तीन दिनों के अंदर प्रमाण पत्र कार्यालय में सौंपना है। विभाग के इस निर्देश से शिक्षकों में हड़कंप मचा हुआ है। शिक्षकों का कहना है कि जिले में कोरोना संक्रमण का मामला काफी बढ़ रहा है। वहीं,  दूसरी ओर शिक्षकों को गांव गांव जाकर से हस्ताक्षर प्रमाण पत्र लेने का निर्देश दिया गया है। शिक्षकों ने कहा कि शनिवार को सुल्तानगंज के एक शिक्षक का रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। शिक्षक इसी कार्य में लगे थे। प्रारंभिक माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष डॉ.शेखर गुप्ता ने इस आदेश को वापस लेने की मांग की है। साथ ही कहा है कि संक्रमण का वायरस कम होने पर शिक्षकों को काम में लगाया जाए।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.