top menutop menutop menu

पूर्वी कोसी तटबंध का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लिया जायजा, सुरक्षात्मक कार्यों पर जताई संतुष्टि

पूर्वी कोसी तटबंध का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लिया जायजा, सुरक्षात्मक कार्यों पर जताई संतुष्टि
Publish Date:Sat, 08 Aug 2020 02:44 PM (IST) Author: Dilip Shukla

सुपौल, जेएनएन। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव के साथ कोसी नदी पर बने पूर्वी तटबंध और उसके 10 किमी स्पर पर पहुंचकर कोसी की बाढ़ व सुरक्षात्मक कार्यों का जायजा लिया। उन्होंने सुरक्षात्मक कार्यों पर संतुष्टि जाहिर करते हुए नेपाल प्रभाग को भी इसी तरह बचाए रखने का निर्देश दिया।

शारीरिक दूरी का किया पालन

निर्धारित समय से विलंब से वीरपुर हवाई अड्डा पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हेलीकॉप्टर से उतरते ही बिना किसी से मिले सीधे पूर्वी कोसी तटबंध के लिए निकल पड़े। शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए उन्होंने हेलीकॉप्टर से उतरकर किसी से मुलाकात नहीं की। पूर्वी तटबंध का मुआयना करते हुए इसके 10.00 किमी स्पर पर बाढ़ पूर्व एवं कटाव निरोधी कार्यों का उन्होंने गहन मुआयना किया। विश्व बैंक के सहयोग से कराए गए कार्यों की गुणवत्ता की भी उन्होंने जानकारी ली। लगभग बीस मिनट तक स्पर पर जलसंसाधन विभाग के प्रधान सचिव संजीव हंस एवं मुख्य अभियंता प्रकाश दास से बाढ़ सुरक्षा को लेकर उन्होंने विस्तृत जानकारी ली। साथ ही नेपाल प्रभाग के कोसी के बांधों और स्परों सहित नदी की प्रकृति एवं प्रशासनिक सहयोग की जानकारी लेते हुए इन्हें भी बाढ़ से बचाए रखने की प्रतिबद्धता जताई। अभियंताओं ने उन्हें बताया कि नदी में अधिक गाद जमा होने के कारण ही बाढ़ और कोसी की आक्रामकता बढ़ रही है। विभागीय अभियंताओं को उन्होंने भरोसा दिलाया कि बाढ़ से बचाव में राज्य सरकार कोई कसर नहीं छोड़ेगी। मुख्यमंत्री का काफिला फिर यहां से सीधे हवाई अड्डा पहुंचा। बिना पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात किए सीएम सीधे पटना रवाना हो गए।

सीएम के साथ थे कई अधिकारी

कोसी तटबंध पर मुख्यमंत्री के साथ मुख्य सचिव दीपक प्रसाद, मुख्यमंत्री के सचिव चंचल कुमार, विभाग के प्रधान सचिव संजीव हंस, कोसी प्रमंडल के आयुक्त एवं डीआइजी, मुख्य अभियंता प्रकाश दास, डीएम महेंद्र कुमार, एसपी मनोज कुमार समेत तमाम प्रशासनिक पदाधिकारी व विभागीय वरीय अभियंता मौजूद थे। मुख्यमंत्री के सुपौल के अलावा बांका, खगड़िया, कटिहार आदि जिलों का हवाई सर्वेक्षण का बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया। 

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.