Bihar: चीन के जासूस तो नहीं पकड़े गए विदेशी नागरिक? इनके पास है हांगकांग, ब्रिटेन और नेपाल की सिटीजनशिप

एसएसबी जवानों ने सीमावर्ती क्षेत्र से दो विदेशी नागरिकों को धर दबोचा है। इनमें से एक के पास मिले पहचान पत्र से संदेह की स्थिति बढ़ गई है। एसएसबी ने इन्हें किशनगंज पुलिस को सौंप दिया है। जांच में पता चला है कि ये पटना से दिल्ली और दिल्ली से...

Shivam BajpaiSat, 31 Jul 2021 07:29 PM (IST)
एससबी जवानों ने गिरफ्तार किए दो विदेशी नागरिक, पुलिस हिरासत में।

आनलाइन डेस्क, भागलपुर। नेपाल में सत्ता परिवर्तन के बाद भारत के साथ इसके संबंधों के और बेहतर होने की उम्मीद जगी है। इस दौरान इलाके में चीन की सक्रियता भी बढ़ गई है। बुधवार शाम को किशनगंज में सुखानी थाना क्षेत्र के मौजाडांगी के पास स्थित नेपाल सीमा के समीप दो संदिग्ध विदेशी नागरिक पकड़े गए। एसएसबी ने इन्हें स्थानीय पुलिस को सौंपा। एक ने अपना परिचय दिया, तो दूसरा परिचय के दस्तावेज के नाम पर कुछ नहीं दिखा सका।

पूछताछ के दौरान एक ने अपना नाम अभिषेक लिंबू व दूसरे ने विजय लिंबू बताया। इन्होंने अपना घर नेपाल के मोरंग जिला अंतर्गत उरलाबाड़ी बताया है। अभिषेक लिंबू ने मोबाइल फोन पर हांगकांग, ब्रिटेन और नेपाल की नागरिकता पहचान पत्र दिखाया। सारे पहचान पत्र फेसबुक पर ही थे। उसने यह भी बताया कि उसके पिता नेपाल और मां हांगकांग की रहने वाली है। अभिषेक के पिता ब्रिटेन की सेना में थे। इसी दौरान उन्होंने हांगकांग की महिला से शादी की थी।

जिस स्थान से दोनों विदेशी नागरिकों से की गिरफ्तारी की गई है, वहां से नेपाल की दूरी लगभग एक किलोमीटर है। खुली सीमा होने के कारण इस इलाके में विदेशियों का आना-जाना लगा रहता है। चूंकि लिंबू का संबंध हांगकांग से भी रहा है, इस कारण पुलिस इसे संदिग्ध निगाह से देख रही है।

दोनों आरोपितों ने मुख्य सड़क छोड़कर दूसरी जगह से सीमा पार की थी। इस कारण पुलिस का संदेह और बढ़ा हुआ है। सीमांचल के किशनगंज, पूर्णिया, अररिया और कटिहार इलाके में चीन के खतरे को भांपते हुए सामरिक दृष्टिकोण से विशेष व्यवस्था की जा रही है। किशनगंज के एसपी कुमार आशीष ने बताया कि ये लोग भारतीय सीमा में प्रवेश कर बस से पटना, फिर पटना से बस से दिल्ली और दिल्ली से फ्लाइट पकड़कर ब्रिटेन जाने वाले थे। इस कारण इनपर और संदेह बढ़ा।

उन्होंने बताया कि अभिषेक लिंबू ने अपने दिए बयान में कहा कि वो अपने पिता ने मिलने नेपाल आया हुआ था। लड़के के पिता नेपाल और मां हांगकांग में रहती है। लाकडाउन में वह फंस गया और अब वापस लौटने की बात कह रहा है। कई अन्य सुरक्षा एजेंसियां भी इस जांच में लगी हुई है कि इन दोनों का भारत की सीमा में प्रवेश करने का मकसद क्या था!

'दोनों पकड़े गए लोग संदिग्ध हैं। इन्हें गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। पुलिस मुख्यालय को पूरी स्थिति से अवगत करा दिया गया है। पुलिस मुख्यालय यदि चाहेगा तो पकड़े गए विदेशियों से एनआइए भी पूछताछ कर सकती है।'- कुमार आशीष, एसपी, किशनगंज

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.